Category Archives: love story

उसने प्यार का नाटक किया और मेंटल टॉर्चर कर मुझे पागल कर दिया, प्रेरणा की स्टोरी

मैं प्रेरणा मध्य प्रदेश से। मैं अपनी स्टोरी पोस्ट इसलिए कर रही हूं क्योंकि मुझे अपनी एक बात पर हमेशा गिल्ट फील होता रहता है और जिस वजह से मैं डिप्रेशन में हूं। इतनी डिप्रेश्ड हूं कि शायद अगली सुबह देख नहीं पाऊंगी। मैं स्टडी में बहुत अच्छी थी और एलएलबी करके कुछ करना चाहती थी। पर किस्मत ने इतना दर्द लिख दिया कि अब सारे सपने अधूरे लगते हैं। बहुत कोशिश करती हूं कि खुश रहूं लेकिन हंसना जैसे एक सपना बन गया है।

मेरे घरवाले शादी के लिए एक लड़का देख रहे थे पर उनके यहां पैसों की डिमांड बहुत ज्यादा थी इसलिए मेरे पापा रेडी नहीं हुए। फिर एक दिन उस लड़के का मेरे पास मैसेज आया कि उसे कुछ बात करनी है। मुझे पहले पता नहीं था कि वो लड़का कौन है। मैंने रिप्लाई दिया तो फिर उसने अपना परिचय दिया। मैंने उसे क्लियर कर दिया कि मेरे पापा शादी के लिए तैयार नहीं हैं तो उसने कहा कि वो अपने घर बात करेगा।

true love

इसके बाद वो रोज मुझे फेसबुक पर मैसेज करने लगा। मैं कभी-कभी रिप्लाई दे देती थी। मैंने उसे कई बार बोला कि प्लीज मैसेज मत करो पर उसने कहा कि फ्रेंड बन जाओ तो मैं मान गई। इसी बीच उसने मुझसे मेरा नंबर मांगा और मैंने उसे नहीं दिया। इसके बाद वो अपने मम्मी पापा की कसम खाकर बोला कि वो कभी कॉल नहीं करेगा, बस इमरजेंसी पड़ी या शादी की बात होगी, तभी कॉल करेगा। मैंने नंबर दे दिया तो इसके बाद वो मुझे बार-बार कॉल करके परेशान करने लगा।

वो मुझे कॉल पर बात करने के लिए रिक्वेस्ट करने लगा। मैं उसकी बातों में आ गई और एक फ्रेंड की तरह बात करने लगी। फिर उसने मुझे एक दिन प्रपोज किया और न जाने क्यों मैंने एक्सेप्ट कर लिया। उसने मुझसे वादा किया कि वो मेरे घर आकर शादी की बात करेगा और शादी करेगा इसलिए मैंने प्रपोजल एक्सेप्ट किया था। मैंने बाद में कई बार उससे रिश्ता तोड़ना चाहा और कहा कि परिवार की मर्जी से कहीं शादी कर लो लेकिन वो मुझे सुसाइड करने की धमकी देकर बात करने पर मजबूर करता रहा। वो मुझे फैन से लटकने की फोटो भेजता था तो मैं अटैच्ड होती चली गई।

वो मेरी कमजोरी का फायदा उठाता गया। बार-बार सुसाइड करने की धमकी देता था और बहुत प्यार करता है, ऐसा अहसास कराता रहता था। फिर एक दिन उसने बताया कि उसकी शादी फिक्स हो गई है। मैंने उसे बहुत रो रोकर समझाया, रिक्वेस्ट की, भीख मांगी पर वो अपनी फैमिली को शादी से मना करने के लिए तैयार नहीं हुआ। उसने मुझे इग्नोर करना शुरू कर दिया। यहां तक कि मुझसे पीछा छुड़ाने के लिए फिर सुसाइड का ड्रामा किया। मुझे उसने इतना मेंटल टॉर्चर किया कि मैं पागल होने लगी।

मुझसे ये बर्दाश्त नहीं हुआ और मेरी एक फ्रेंड ने बोला कि तू उसे गालियां दे। मैंने कॉल लगाकर उसे बहुत बद्दुआएं दीं पर मैं उससे प्यार करती थी। वो मेरे साथ कुछ भी करे, मैं उसका बुरा नहीं कर सकती थी इसलिए मुझे गिल्ट फील हुआ और उससे सॉरी बोला। फिर उसने मुझे बहुत बुरा भला कहा और मुझे मरता हुआ छोड़ गया। वो अपनी मंगेतर से बात करने लगा। एक दिन उसने मुझे कॉल कर कहा कि तुमने मुझे बद्दुआ देकर अच्छा नहीं किया। मुझे बहुत गिल्ट फील कराया।

उसकी शादी हो गई। अब मुझे अंदर से बहुत गिल्ट फील होता है जैसे मैंने किसी का मर्डर कर दिया हो। मैं बाहर नहीं जा पा रही हूं। बहुत डरी सहमी रहती हूं। हल्की आवाज से भी डर जाती हूं। माइंड जीरो हो जाता है। ऐसा लगता है जैसे मर जाऊंगी मैं। प्लीज आप बताइए कि क्या मैंने कुछ गलत कर दिया। उसने मुझे शादी के सपने दिखाए और बाद में मुझे बोल दिया कि गलती तेरी थी, तूने क्यों नंबर दिया, क्या हर किसी लड़के को तू नंबर दे देगी। उसकी इस बात ने मुझे अंदर तक हर्ट कर दिया। मैंने जवाब दिया कि ठीक है , जैसे आज तू मेरे साथ कर रहा है, तेरे साथ भी कल वैसा होगा। क्या ये बैड विश है जो मैंने उससे कहा, प्लीज बताइए।

पेड एडमिन राजीव की सलाह

आप अपनी जिंदगी की कहानी में कहीं कसूरवार नहीं तो खुद को क्यों दोषी मान रही हैं। धोखा उसने दिया और दोषी आप खुद को मान रही हैं। आपने उसको बद्दुआ देकर बहुत अच्छा किया, उसको जूते से मारना चाहिए था या उसको जेल भिजवाना चाहिए था। ऐसा इंसान धरती पर न रहे, उसी में भलाई है क्योंकि वह आगे भी आप जैसी कितनी मासूम लड़कियों के साथ ऐसे ही सुसाइड का ड्रामा कर फंसाएगा और उसका यूज करेगा।

आपकी बातों से लगा कि आपकी मानसिक हालत ठीक नहीं है। आप घर में किसी करीबी से अपने मन की बातें कहिए। मन में बातें रहेंगी तो आपको काटती रहेंगी। आप किसी भी तरह से दोषी नहीं हैं। आप गिल्ट फील मत करिए। गिल्ट तो उस क्रूर इंसान को फील करना चाहिए जिसने इतना कुछ आपके साथ किया और उस पर आप कह रही हैं कि वो कितना भी बुरा कर ले, आप उसके कुछ भी बुरा नहीं कर सकती।

प्रेरणा अपनी जिंदगी और सोच को मजाक मत बनाइए। डिप्रेशन और ऐसे मानसिक हालात होने पर डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। आपने कहा कि आप डरी सहमी रहती हैं, आवाज से भी डर जाती हैं। यह क्रिटिकल कंडीशन है। आपके घरवालों को ये सब मालूम है कि नहीं…कैसा समाज है ये..घर में ही कोई इतना घुटता रहता है और किसी को कुछ पता नहीं होता…

पेज रीडर्स की सलाह

Advertisements

वो मेरी बात नहीं मानती, कहती है मेरे ऊपर दिमाग न लगाओ, विराट की स्टोरी

मेरा नाम विराट है। गरिमा से दोस्ती है। मैं उससे बहुत प्यार करता हूं लेकिन वो मुझे अपना दोस्त ही मानती है। हम लोग चार साल से एक दूसरे के साथ हैं, चाहे कितनी भी लड़ाई हो जाए पर हम लोग एक दूसरे से बात किए बिना नहीं रह सकते हैं।

अब वो बदली-बदली सी लग रही है। पहले मैं जिस बात को करने से मना करता था, वो नहीं करती थी लेकिन अब वो मेरी बात नहीं मानती है। कहती है कि ये मेरी लाइफ है, मैं चाहे जैसे जीऊं, तुम्हें क्या इससे मतलब। उसने मुझसे बात करना भी कम कर दिया है।

noida love story1

पहले जो भी बात हुआ करती थी वो हमें बताया करती थी पर अब कुछ भी नहीं बताती है। जब मैं कुछ पूछता हूं तो वो कहती है कि तुम अपने काम से काम रखो, फालतू का मेरे ऊपर दिमाग न लगाओ और बात करने से मना कर देती है।

अब बताओ दोस्तों, हम क्या करें…जो हम फिर से उसे पा सकें, वो पहले की तरह हमसे बात करे, हमारे साथ रहे, हमसे लड़ाई नहीं करे, हमारे साथ खुश रहे..

पेड एडमिन राजीव की बात

गरिमा अपनी जगह सही है। आप पजेसिव मत बनिए। रिश्ते की सीमा को समझिए। गरिमा अपनी जिंदगी के फैसले लेना चाहती है, इसमें आपको दखल देने की जरूरत नहीं। वो सही कह रही है कि आप उसकी जिंदगी के लिए ज्यादा दिमाग मत लगाइए। ऊपरवाले ने हर किसी को अपनी जिंदगी पर लगाने के लिए पर्याप्त दिमाग दिया है। आप भी अपना दिमाग अपनी जिंदगी को बेहतर बनाने में और फैसले लेने में लगाएं। आप जो जिद किए बैठे हैं, उसका एक ही समाधान है कि आप जिद छोड़ दें।

पेज रीडर्स की सलाह

मैंने गर्लफ्रेंड को रोका-टोका तो उसने मुझे सायको समझ लिया और दूर हो गई

मैं अभिषेक। मैं उसे सोना कहा करता था। बचपन से ही उसे बहुत प्यार करता था लेकिन मैं उससे कह नहीं पाता था। साल बीतते गए लेकिन मुझमें इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं सोना को बोल पाता। जब मेरा जेईई मेंस में सेलेक्शन हो गया तो मैंने कॉलेज में ही उसे प्रपोज किया तो वो मान गई थी।

हम दोनों के बीच तीन साल तक सबकुछ ठीक चलता रहा। मुझे इतना प्यार हो गया था कि थोड़ी भी वो कहीं बिजी रहती तो मैं उससे पूछने लगता था कि कहां बिजी रहती हो, छोटे कपड़े क्यों पहनती हो…मैं उसे खोना नहीं चाहता था। वो मेरा पहला प्यार थी।

friendship shayari

सोना ने मुझे सायको समझ लिया और मुझे छोड़ दिया। आज भी जब मैं कॉल करता हूं तो वो बोलती है कि कॉल मत करना, नहीं तो मैं पुलिस को नंबर दे दूंगी। आज भी मुझे उसकी याद आती है तो बहुत रोता हूं। मैं उसे भूल नहीं पाता। उसकी फोटो देख हर दिन रोता हूं।

वो मेरी फीलिंग नहीं समझती। मुझे वो फोन नहीं करने के लिए बोलती है जबकि मैं कॉल पर ही रो देता हूं। आज भी मैं उससे बेपनाह मोहब्बत करता हूं। मुकद्दर में जिनसे मिलना नहीं, उनसे मोहब्बत भी कसम से कमाल की होती है…

पेज एडमिन राजीव की बात

प्रेम जिसके मन में फूटता है वहां उसके साथ आजादी की भावना भी होती है। अगर कोई लड़की किसी लड़के को भी ज्यादा रोक-टोक करती है तो रिश्ता नहीं चलता। पजेशन की भावना से भी प्यार का रिश्ता खराब होता है। आपने प्यार तो किया लेकिन सोना से जीने की आजादी छीन ली, इसलिए उन्होंने आपको सायको समझ लिया। अब उसको समझाना मुश्किल होगा इसलिए आप आगे से ध्यान रखिए और किसी पर भी अपनी बात मत थोपिएगा।

पेज रीडर्स की राय

मैं किसी से प्यार करती हूं लेकिन पापा मेरे लिए लड़का खोज रहे हैं, माही की स्टोरी

मैं बिहार से माही हूं। तीन साल पहले मेरी फ्रेंडशिप फेसबुक पर एक लड़के से हुई। वो यूपी का है और जॉब करता है। हमदोनों रोज बातें करने लगे। वो मुझसे हर बात शेयर करने लगा। धीरे-धीरे हमारी फ्रेंडशिप प्यार में बदल गई। मैं उसे तीन साल से जानती हूं लेकिन हमारी कभी मुलाकात नहीं हुई है।

वो मुझसे मिलना चाहता है। मेरी नजर में बहुत अच्छा लड़का है। मैं उससे बहुत प्यार करती हूं। वो भी मुझे बहुत प्यार करता है। मेरे बिना वो एक पल नहीं रह सकता। वो मुझसे शादी करना चाहता है। मैं भी उसे बहुत चाहती हूं लेकिन मैं बहुत डरती हूं कि कहीं हमलोग अलग न हो जाएं।

love story pic1

मैं एक मिड्ल क्लास फैमिली से हूं। मेरे पापा बहुत स्ट्रिक्ट हैं। मैं जानती हूं कि मेरे पापा हमारी शादी के लिए कभी रेडी नहीं होंगे क्योंकि वो बहुत दूर रहता है और फेसबुक का प्यार है। मैं पापा की एक ही बेटी हूं तो उन्होंने कभी खुद से मुझको दूर नहीं किया। अब वो कहीं दूर मेरी शादी भी नहीं करेंगे। मैंने इस बारे में मां से बात की तो उन्होंने भी कहा कि पापा नहीं मानेंगे।

मैं उसके बिना नहीं रह सकती। एक दिन भी बात नहीं होती तो मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लगता। मैं उससे बात करने के लिए पागल होने लगती हूं। मैं खुद को उससे एक पल भी अलग नहीं कर सकती। मेरे प्यार के बारे में मेरी मम्मी को पता है लेकिन वो भी बार-बार कहती है कि यह शादी नहीं हो सकती।

पापा अब मेरे लिए रिश्ता खोज रहे हैं। मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा कि मैं क्या करूं? मैं उसके बिना जीने की कल्पना भी नहीं कर सकती हूंं। वो कहता है कि चलो, कोर्ट मैरिज कर लेते हैं लेकिन मैं फैमिली के खिलाफ शादी नहीं कर सकती। मेरी फैमिली मुझसे बहुत प्यार करती है।

मैं क्या करूं, कुछ समझ में नहीं आ रहा। मैं उसके बिना नहीं जी सकती। मैंने इस पेज की कुछ स्टोरी पढ़ी तो वहां सबको हेल्प मिली हैं। मुझे भी आप सबकी हेल्प की जरूरत है, मैं बहुत परेशान हूं, प्लीज मेरी हेल्प कीजिए…

पेज एडमिन राजीव की बात

माही, और भी गम हैं जमाने में मोहब्बत के सिवा…शायद लड़कियों को भी ये समझने की जरूरत है। खैर, आपकी सिचुएशन में दो ही विकल्प बचते हैं- या तो फैमिली को अपनाइए या फिर प्यार को अपनाइए। प्यार को अपनाएंगी तो फैमिली को छोड़ना होगा या फैमिली को चुनेंगी तो प्यार को छोड़ना होगा।

तीसरा विकल्प होता है घरवालों को मनाने का। अगर इस कोशिश में असफल हों तो फिर वही पहले वाले दो विकल्प बचते हैं। दिमाग के जाले साफ कीजिए। विकल्पों पर विचार कीजिए। उलझन नहीं रहेगी। किसी भी परिस्थिति में इंसान ऑप्शन देखता है।

अगर दो ऑप्शन हैं और दोनों ही ऑप्शन में से किसी एक को चुनना हो तो स्पष्ट फैसला जीवन को उलझनों से बचाता है वरना वक्त के सिवा दुनिया की कोई ताकत ऐसी उलझनों को नहीं सुलझा सकती।

पेज रीडर्स की बात

मैट्रिमोनियल साइट पर धोखा, भारतीय लड़कियों को फंसा रहे पाकिस्तानी एजेंट!

मुंबई के चार बंगला इलाके की 28 साल की प्रिया ने शादी के लिए एक मैट्रिमोनियल साइट पर अपना अकाउंट बनाया। वहां एक शख्स से उसकी बातचीत शुरू हुई जिसने अपना परिचय दिया कि वो ब्रिटेन में बसा भारतीय यानी एनआरआई है। उसने कहा कि वो प्रिया से शादी करना चाहता है।

वाट्सएप पर प्रिया से उसकी बातचीत शुरू हुई तो उसने अपनी कई तस्वीरें भेजीं। प्रिया ने ध्यान से देखा तो वो किसी स्टूडियो की फोटो थी। तस्वीरों पर उस स्टू़डियो का मोबाइल नंबर भी लिखा था। जब प्रिया ने उस नंबर पर कॉल मिलाया तो पैरों तले से जमीन खिसक गई। वह पाकिस्तान का नंबर था और स्टूडियो भी पाकिस्तान में ही था। खुद को ब्रिटिश एनआरआई कहनेवाला वो शख्स भी पाकिस्तानी निकला।

matrimonial fraud

प्रिया ने जैसे ही उससे कहा कि वो शादी नहीं करेगी इसके बाद वो उसे जान से मारने की धमकी देने लगा। इसके बाद प्रिया ने वर्सोवा पुलिस स्टेशन में उसके खिलाफ केस दर्ज कराया। खुफिया एजेंसियों का कहना है कि पाकिस्तानी खुफिया एंजेंसी आईएसआई के लिए कई लड़के काम करते हैं जो फेसबुक या मैट्रिमोनियल साइट के जरिए भारतीय लड़कियों को प्यार के जाल में फंसाते हैं। उन लड़कियों को भारत के खिलाफ काम में लगा दिया जाता है।

इसलिए इंटरनेट पर सावधानी बरतिए। तुरंत किसी पर भी यकीन मत कीजिए। मैट्रिमोनियल साइट के जरिए या फेसबुक पर किसी से रिश्ता जोड़ने में भी दिमाग को खुला रखिए। भावनाओं में बहने का रिजल्ट बहुत बुरा हो सकता है और ऐसा कइयों के साथ हो चुका है।

पुलिस ने कहा, तेरा आशिक चोरी करने आया होगा, नेहा की स्टोरी

मैं नेहा दिल्ली से हूं। मुझे एक सवाल पूछना है, इंडिया के सभी पुलिस से कि अगर कहीं पर कोई वारदात होती है तो शुरू में तो पुलिस बहुत से इ़धर-उधर के सवाल करती है जैसे चुटकी में अपराधी को पकड़ लेगी लेकिन एफआईआर लिखने के बाद इतना धीरे काम करती है जैसे कोई फर्क ही नही पड़ता।

मेरे घर में चोरी हुई। रात 2:30 बजे चोर ने मेरे घर से 5 मोबाइल और 1 लैपटॉप चुराया। उसके बाद चोर ने मझे अकेला देखकर गलत फायदा उठाने की कोशिश की तो मेरी चोर से हाथापाई हुई और जब मैंने जोर से आवाज लगाई तो चोर भाग गया। बहुत मुश्किल से मैंने खुद को उससे बचाया। उसके हाथ में चाकू और ब्लेड भी था।

neha story

फिर मैंने पापा को जगाया, गली में भी सब जाग गये। इतना सब होने के बाद पापा ने पुलिस को रात 3 बजे पुलिस को फोन लगाया तो पुलिस ने कहा कि सुबह 7 बजे पुलिस स्टेशन आ जाना और फोन काट दिया। फिर पापा ने गुस्से से दोबारा फोन लगाया तब जाकर पुलिस घर आई। घर आने के बाद जब पुलिस को मैंने सारी बात बताई तो पुलिस उल्टा मुझपर इल्जाम लगाती है कि तेरा ही कोई आशिक होगा।

बार-बार मुझ पर इल्जाम लगाकर पुलिस बोली कि तेरा ही कोई आशिक चोरी करने आया होगा। अभी भी वक्त है बता दे और जब मैंने कहा की ऐसा कुछ नहीं है, आप खुद पता करो चोर का, शायद आसपास का ही है तो कहती है बेटा, कार्रवाई करना हमारा काम है। फिर उन्होंने एफआईआर कराने को कहा। ऑनलाइन एफआईआर कराना था लेकिन उनका सर्वर काम नहीं कर रहा था इसलिये केस पूरे एक हफ्ते बाद हुआ।

उसके बाद भी पुलिस ने कुछ नहीं किया। हर कोई मुझसे यही कह रहा था कि पुलिस खुद चोरों से मिली होती है, वो कुछ नहीं करेगी, अगर हम कोई वीआईपी होते तो शायद कोई एक्शन लेती। पूरा एक महीने तक पुलिस के चक्कर काटने के बाद जब पापा ने अपने ऑफिस के बॉस के रेफरेंस से मदद ली तब जाकर पुलिस ने सभी मोबाइल और लैपटॉप का बिल मांगा। उसके बाद भी अभी तक कुछ पता नही चला।

मेरा बस यही सवाल है कि क्या क्राइम पेट्रोल और सावधान इंडिया में जो कुछ पुलिस के बारे में दिेखाया जाता है कि किस तरह से पुलिस ने अपराधी को पकड़ा, वो सब झूठ होता है क्या?? और अगर सच होता है तो इसका मतलब पुलिस वही पर अपना काम ठीक से करती है जहां मीडिया की नजर होती है ताकि अपराधी पकड़ कर मीडिया को दिखा सके, या पुलिस सिर्फ अमीर और VIP लोगों के लिये होती है?

अकसर यही कहा जाता है कि छोटी-मोटी चोरी पर पुलिस कुछ नहीं करती लेकिन जिसके घर में चोरी होती है ये तो वही जानता है कि उस पर क्या बीतती है और इसी तरह की चोरी के बाद चोर बड़ा डाका डालते हैं। अब तो पुलिस पर बिलकुल भी भरोसा नहीं रहा। एक आम इंसान का पुलिस पर भरोसा करने का मतलब रेगिस्तान में पानी ढूंढने के बराबर है। जब ऐसे पुलिस और न्याय करने वाले लोग कुछ नहीं करते हैं तब जाकर आम इंसान मजबूर हो जाता है। खुद से सबूत मिटाने के बाद कहते है कि चोर का कोई सुराग नही मिला! लानत है ऐसे पुलिस पर जो पावर होने के बावजूद कुछ नहीं करती…

पेज रीडर्स की बात