ganga yamuna in shayari

ganga jamuna shayari photo
तुम अपना गम भले न बताओ सबसे
कम से कम अपनी खुशियों को तो न छिपाओ
पलकों में उदासी की जमुना लिए रहती हो
तो लबों से मुस्कुराहट की गंगा भी बहाओ
Advertisements

Read real life love stories and original shayari by Rajeev Singh

Advertisements