दो माओं के बीच लेस्बियन रिलेशनशिप, खुद भी मरीं, बच्ची की भी कर दी हत्या

दो लड़कियां भी एक दूसरे से प्यार कर सकती हैं-बेइंतहा। इनको लेस्बियन नाम दिया गया है। इस रिलेशनशिप में दो स्त्रियां एक दूसरे के साथ पति-पत्नी की तरह रहती हैं। हमारा समाज इस सच को स्वीकार नहीं कर पाया है जिस वजह से ऐसी घटनाएं होती हैं जो 30 साल की आशा और 28 साल की भावना के साथ हुआ। दोनों गुजरात के बावला के एक इलाके में एक फैक्ट्री में काम करती थी और दोनों की शादी हो चुकी थी। आशा की एक बेटी थी- 3 साल की मेघा। जब रविवार की रात में आशा और भावना साबरमती नदी के पास पहुंचीं तो उनके साथ 3 साल की मेघा भी थी। आशा और भावना तो खुद कूदी ही, साथ में 3 साल की मेघा को भी नदी में फेंक दिया जिसका कोई दोष नहीं था।

सोमवार की सुबह साबरमती नदी के पास दो सुसाइड नोट मिले। दीवार पर लिखा था – ‘हम दोनों एक-दूसरे के साथ हमेशा रहने के लिए इस दुनिया को छोड़ रहे हैं क्योंकि यह दुनिया हम दोनों को साथ रहने नहीं दे रही।’ लेस्बियन रिलेशनशिप को दुनिया अगर स्वीकार नहीं कर रही थी या दोनों खुलकर नहीं जी पा रहे थे तो सुसाइड कर लिया जो इस पेज एडमिन की नजर में सही नहीं है। आखिर वो कौन सी दुनिया में चले गए, जहां वो साथ रहेंगे। ऐसा  ही सोचकर लड़के-लड़की भी सुसाइड कर लेते हैं और ऐसे मामले देश में बढ़ते ही जा रहे हैं जिसके बारे में न हमारा समाज सोचता है और न ही सरकार। न ही उन सुसाइड करने वालों को रोकने के लिए संस्थाएं हैं।
——-
आशा और भावना एक ही फैक्ट्री में काम करते थे। दोनों के बीच लेस्बियन रिलेशनशिप के बारे में उनके परिजनों या पति को मालूम नहीं था। आशा की एक बेटी थी जिसे उसने खुदकुशी करने से पहले नदी में फेंका। इस तरह से वो एक बेरहम मां थी जो खुद की खुशी नहीं पा सकी तो उसने बच्ची की भी हत्या कर दी। भावना के दो बेटे हैं जो अब बिना मां के रहेंगे। उनके सर पर से मां का साया छिन गया क्योंकि वो मां, एक औरत के प्यार में थी। बच्चों के प्यार की उसकी नजर में कोई कीमत नहीं थी।
——
अगर किसी के अंदर लेस्बियन होने की फीलिंग है तो उनके लिए यही अच्छा है कि वो शादी न करें। अभी मेरी बात वाट्सएप के जरिए एक लेस्बियन लड़की से हुई जो एक शादीशुदा और दो बच्चों की मां के साथ प्यार में है। मैंने उस लड़की को कहा कि आप किसी लड़के से शादी मत करना तो कहने लगीं तो फैमिली प्रेशर की वजह से करना पड़ेगा लेकिन मैं अपने प्यार यानी गर्लफ्रेंड का जिंदगीभर साथ निभाऊंगी। अब आप ही सोचिए कि इस लड़की का अंजाम क्या है? मैं इस लेस्बियन लड़की की स्टोरी जल्दी ही पोस्ट करूंगा।
—–
मैं लेस्बियन ये गे रिलेशन के खिलाफ नहीं हूं। आप जरूर ऐसे रिलेशनशिप में रहें, आप आजाद हैं लेकिन फिर परिस्थितियों का मुकाबला करने की ताकत भी रखें। कोई ऐसी दूसरी दुनिया नहीं है जहां खुदकुशी करने वाले प्रेमी जोड़े हमेशा साथ रहते हैं। ये सब फिल्मों, सीरियलों और कवियों द्वारा फैलाया गया भ्रम है। बेहद रोमांटिक लगने वाले इस बकवास विचार की वजह से कई लोगों की जानें गई हैं। कम से कम इस हद तक न गिर जाएं कि अपनी खुशी नहीं मिल पाई तो बच्चों की जान ले लें या खुद को ही मार डालें या किसी की हत्या करा दें। ऐसा करने वाले कभी प्यार नहीं कर सकते, ये एक हवस है- प्यार का निगेटिव रूप जो इंसान को शैतान बना देता है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.