love story of Khushi from Delhi – दिल्ली से खुशी की लव स्टोरी

मेरा नाम खुशी है। मैं अपनी प्रॉब्लम किसी से शेयर नहीं करती क्योंकि किसी पर ट्रस्ट नहीं है मुझे। सब धोखा देते हैं। पर यहां मुझे कोई नहीं जानता तो शायद मैं अपनी कहानी कह सकती हूं, लेकिन कैसे कहूं यह समझ में नहीं आ रहा है। फिर भी मैं अपनी बात रख रही हूं, उम्मीद है आप समझेंगे।

real love story

हम हमेशा से अपनी फैमिली को बहुत महत्व देते आए हैं। उनके लिए हम कुछ भी कर सकते हैं। हमें कितने भी दुख हों लेकिन हम उनको नहीं बताते क्योंकि हम अपनों को खुश और हंसते देखना चाहते हैं। इसी वजह से मैं आज प्रॉब्लम में फंस गई हूं।

मेरी एक बहन है, उसकी शादी को 17 साल हो चुके हैं। उसको दो बच्चे भी हैं। वह अपनी मैरीड लाइफ में बहुत खुश है लेकिन वह अपने हसबैंड की सच्चाई नहीं जानती। वह बहुत बुरा इंसान है। पिछले 8 सालों से वो मुझे बहुत परेशान कर रहा है। पहले तो वो जीजा वाले मजाक करता था लेकिन धीरे-धीरे वह ज्यादा बोलने लगा। उस समय मैं बहुत छोटी थी और कुछ समझ नहीं पाती थी।

पर जैसे-जैसे मैं बड़ी होती गई, उसकी बदतमीजी भी बढ़ती गई। मुझे कहता है कि अगर किसी से कुछ कहोगी तो तुम्हारी बहन को छोड़ दूंगा। और भी बहुत कुछ वह बोलता है जिसे मैं यहां नहीं बता सकती। मैं चुप रही क्योंकि हम अपनी फैमिली को खुश देखना चाहते थे। फिर कुछ दिन बाद हमारे बहुत रोने पे, बहुत रिक्वेस्ट करने पर उसने यह सब बंद कर दिया। एक दिन वह मेरे घर आया। उस समय मैं घर में अकेली थी। उस दिन उसने मेरे साथ जबरदस्ती की।

मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि अब मैं क्या करूं। हम घर में सबको बताना चाहते थे पर हम अपनी सिस्टर और अपनी फैमिली की खुशियों के लिए चुप रह गए और उसने जबरदस्ती उस दिन हमारी कुछ पिक्स भी ले ली। फिर वह हमें रोज धमकी देता था कि किसी से कुछ कहा तो पिक्स का मिसयूज करेगा।

मैं पूरी तरह परेशान हो गई और डिप्रेशन में चली गई। मैंने खुदकुशी करनी चाही लेकिन मेरे एक दोस्त ने मुझे बचा लिया। वह दोस्त बाद में मेरा ब्वायफ्रैंड बन गया। मैंने उसको सबकुछ बता दिया। यह जानते ही वह मुझे रोज कॉल, मैसेज करके ब्लैकमेल करने लगा। मुझे वह अपनी हर बात मानने के लिए कहता और धमकी देता कि अगर मैंने इनकार किया तो वह सारी कहानी मेरे घरवालों को बता देगा।

मैंने भी कह दिया कि जो करना हो कर लो, तुम्हारी एक भी बात नहीं मानूंगी। फिर भी वह मुझे धमकी देता रहा। कुछ टाइम बाद वह हमारे बहुत रिक्वेस्ट करने पर खुद ही शांत हो गया लेकिन अब फिर से वह मुझे परेशान करने लगा है।

हमें कुछ भी समझ नहीं आता कि अब हम क्या करें। हमें पता है कि हर कोई हमें गलत ही समझेगा। हमारी गलती बताएगा क्योंकि हम इस बारे में घरवालों को नहीं बताते हैं। पर कोई ये नहीं समझता कि हम अपने घरवालों को एक सेकेंड भी दुखी नहीं देख सकते। बस उन्हीं के लिए तो हम जी रहे हैं। उनको कुछ बताने से अच्छा तो मर जाना है। वो लोग इस दुख को कभी भी बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे।

कुछ दिन बाद ब्वॉयफ्रेंड ने भी यह कहते हुए मुझे छोड़ दिया कि उसको मुझपर ट्रस्ट नहीं है। उसे लगता था कि मैं अपनी फैमिली के लिए कुछ भी कर सकती हूं तो उसकी हर बात भी मान लूंगी। उसने यह भी कह दिया कि जिस लड़की के साथ यह सब हो चुका है, उसके साथ वह शादी नहीं कर सकता। लेकिन वह तो यह सब जानने के बाद मेरा ब्वॉयफ्रेंड बना था।

मैं पूरी तरह से टूट गई हूं। पहले ही सिस्टर के हसबैंड की वजह से इतनी टेंशन में थी और वह ब्वॉयफ्रेंड जिससे मैंने इतना प्यार किया, ट्रस्ट किया, उसने भी मेरा साथ छोड़ दिया। किसी पे अब मुझे भरोसा नहीं। किसी से बात करने का मन नहीं करता। क्या सच में बस मैं गलत हूं….मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा, आप बताइए।

हर समय खुद को कोसती रहती हूं। मरना चाहती हूं लेकिन फैमिली के बारे सोचकर वो भी नहीं कर पा रही। आखिर करें तो क्या करें?

Advertisements

One thought on “love story of Khushi from Delhi – दिल्ली से खुशी की लव स्टोरी”

  1. Don’t take any wrong decision khushi, and do avoids all those things who give you negative thought.. Be positive, be stronger and always be ready to face off the problems with skill mind…and one things I want to tell you khushi, never hide any issues with your parents or family members
    Bcoz if you are right nd didn’t do something wrong then they peoples will always support you..so never feel shy in life nd get quickly action if any happened wrong with you..## God bless you!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.