Meri aankhon me teeri jhalak ki lakeer hi sahi

meri aankhone me shayari

इश्क की आखिरी सांसों की जिंदगी हो तुम
मरते रांझे के सीने में धड़कती हीर ही सही

तेरे जख्मों की किताब को पढ़ता है दीवाना
तेरी कहानी में जो मिले वो तकदीर ही सही

Advertisements

Leave a Reply