शायरी – जी लेता हूं खामोशियों के तराने में

मुझे अपनी तन्हाई मिटाने की आदत नहीं

इसलिए रहता हूं दूर कहीं वीराने में

जहां न कोई शोर है, न कोई होड़ है

जी लेता हूं खामोशियों के तराने में

Advertisements

Top shayari site on love relationship, love shayari, hindi shayari, sad shayari, image shayari and love story for true lovers.