रॉन्ग नंबर से कॉल आया, फिर वो बोली मैं आपसे प्यार करती हूं, अतुल की स्टोरी

मैं अतुल हूं। कुछ दिन पहले एक लड़की की कॉल मेरे पास आई। वो अपने ब्वॉयफ्रेंड से बात करना चाहती थी। उसका रॉन्ग नंबर मेरे पास लग गया था। मेरी उससे कुछ मिनट बात हुई और मैंने उसको बोला कि मैं तेरा बीएफ नहीं हूं तो उधर से उसने फोन काट दिया।

अगले दिन फिर उसकी कॉल आई तो मैंने बोला कि अब क्यों कॉल किया है मेरे पास, जब मैंने तुमको बोल दिया है कि मैं तुम्हारा बीएफ नहीं हूं…तो वो उधर से बोली कि मैंने तो अब आपको ही बीएफ मान लिया है, अब मैं आपसे ही प्यार करती हूं, आपके साथ ही जीना और मरना चाहती हूं।

noida love story1

उसकी बात सुनकर पता नहीं मुझे भी कुछ अजीब सा फील हो रहा है पर आपलोग ही बताइए कि क्या मैं उसके प्यार पर भरोसा कर सकता हूं। मुझे उससे प्यार हो गया है, ऐसा मुझे लगता है। मुझे क्या करना चाहिए?

पेज एडमिन राजीव की सलाह

मोबाइल कॉल और सोशल मीडिया जो न कराए अतुल जी…या तो आप छोटे कस्बे या शहर से हैं या आपकी उम्र कम है। जब समाज में लड़के लड़कियों को एक दूसरे से दूर रखा जाता है तो थोड़ी सी चिंगारी भी शोला भड़काने का काम करती है। जिस चीज से इंसान को जितना दूर किया जाता है या जिस चीज को इंसान से जितना छिपाया और बचाया जाता है, उसकी तरफ उसका मन और भी ज्यादा भागता है।

लड़की का कॉल आया और उसकी बात सुनकर आपके दिल में तुरंत प्यार का भाव पनपना कोई बड़ी घटना नहीं है। यह आजकल हर गली-मोहल्ले में हो रहा है…खैर आजकल ऐसे लोग मोबाइल पर एक्टिव हैं जो प्यार की बातें करके कुछ दिन बाद आपसे कोई मजबूरी बताकर पैसे मांगेंगे या कुछ दिन बात करने के बाद कहेंगे कि मोबाइल चोरी हो गया तो खरीदकर दो तब बात करेंगे।

कल रॉन्ग नंबर से कॉल आया और आज उसने आपको बीएफ बना लिया और जीने-मरने की कसमें खाने लगीं तो समझ लीजिए वो क्या है? आपके दिल में भी दो कॉल में ही उसके लिए प्यार पैदा हो गया तो समझ लीजिए कि आप क्या हैं? समझदार को इशारा काफी होता है। ऐसा भी हो सकता है कि आपको जाननेवाली कोई लड़की फिरकी ले रही हो।

पेज रीडर्स की सलाह

Advertisements

सोशल मीडिया के जरिए फंसाकर लड़कियां कर रहीं ब्लैकमेल, रहिए सावधान

लड़कों के लिए एक सावधानी की बात बता रहा हूं। मेरे पास ऐसी कुछ रियल स्टोरी आई हैं जिनमें लड़का बुरी तरह से ब्लैकमेलर लड़की के चंगुल में फंसा हुआ है। वो उससे पैसा ले रही है और जब चाहे तब, जहां चाहे तब उसे बुला रही है।

सबको फंसाने का तरीका एक ही है जिसे क्राइम की दुनिया में मॉडस ओपरेंडी कहते हैं। सोशल मीडिया के जरिए लड़के से चैट करती है। उसकी कमजोरियां या जिंदगी में चल रही परेशानियां जानती है। उसके जख्मों पर मीठी-मीठी बातों का मरहम लगाती है। उसे किसी होटल में बुलाती है। फिजिकल रिलेशन बनाती है। फिर सारे रिकॉर्ड के साथ तरीके से उसको ब्लैकमेल करती है। उनकी नजर शादीशुदा लड़कों पर ज्यादा रहती है क्योंकि उसको बाद में आसानी से ब्लैकमेल किया जा सकता है।

danger social media

ऐसी लड़कियों के चंगुल में फंसे लोग कुछ कर नहीं पाते क्योंकि बार-बार धमकी दी जाती है कि रेप के केस में फंसा दूंगी। परिवार की बर्बादी, बदनामी के डर से लड़का चुपचाप अपनी गलती का भुगतान करता रहता है और न पुलिस की मदद ले पाता है, न ही ब्लैकमेलर की मांग को ठुकराने की हिम्मत कर पाता है। कभी-कभी ऐसे केस में सुसाइड भी होते हैं।

ठीक ऐसे ही कई लड़कियां भी ब्लैकमेलर के चंगुल में फंसकर यौन शोषण का शिकार होती है। लड़का पहले मीठी-मीठी बातें कर कहीं बुलाता है, इंटीमेट होता है और फिर तस्वीरें, वीडियो बनाकर पैसा और शरीर का शोषण करता है। कई बार तो लड़का वाट्सएप के जरिए ही प्राइवेट पिक्स मांग लेता है और लड़की दे भी देती है, फिर ब्लैकमेल का शिकार होती है।

तो जिंदगी को परेशानियों से बचाने के लिए सोशल मीडिया का सावधानी से इस्तेमाल करिए। अनजाने लोगों को फ्रेंड बनाने और उनके साथ प्यार, दोस्ती करने से पहले मोबाइल फोन और सोशल मीडिया का इस्तेमाल सीखिए। जागरूक बनिए।

तुमसे भी प्यार करता हूं और दूसरी लड़की का भी दिल नहीं तोड़ सकता- कुसुम की स्टोरी

मैं कुसुम उत्तराखंड से हूं। मैं अभी 21 साल की हूं और पढ़ाई कर रही हूं, आगे जिंदगी में कुछ करना चाहती हूं। मैं आजकल बहुत परेशान हूं और पढ़ाई भी नहीं कर पा रही हूं। उसकी वजह है वो लड़का जिससे मैं बहुत प्यार करती हूं। हम दोनों एक-दूसरे से बहुत पहले से प्यार करते हैं। हम दोनों के परिवार को लोगों को भी हमारे प्यार के बारे में मालूम है।

anshu love story1

फिर मुझे कुछ दिन पहले पता चला कि वो किसी और लड़की से भी बात करता है। जब मुझे इस बात का पता चला तो मैं बहुत हर्ट हुई। मैंने उससे पूछा कि उसने ऐसा क्यों किया तो वो बोलता है कि वो मुझसे प्यार करती है और मैं उसका दिल नहीं तोड़ना चाहता। दूसरी तरफ वो मुझसे ये कह रहा है कि प्यार तो वो मुझसे ही करता है।

मैं नहीं चाहती कि वो किसी और लड़की से बात करे लेकिन वो उस लड़की से बात करता है। मैंने सोचा कि उस लड़के से मैं ब्रेकअप कर लूं लेकिन मैं उसके बिना रह नहीं पा रही। मैं चाहती हूं कि वो मेरा होकर रहे। हम दोनों एक ही जाति के हैं तो हमारी शादी में भी कोई परेशानी नहीं होगी।

लेकिन वो प्यार मुझसे करता है और उस लड़की से भी बात करता है जो उससे प्यार करती है। अब मैं क्या करूं, कुछ समझ नहीं आ रहा। क्या वो मुझसे प्यार करता है या मुझे धोखा दे रहा है? मुझे क्या करना चाहिए?

पेज एडमिन राजीव की बात
देखिए कुसुम, आपकी उम्र अभी कम है इसलिए कंफ्यूजन स्वाभाविक है। उम्र बढ़ने के साथ प्यार की समझ और बढ़ेगी। फिलहाल तो मुझे यही लग रहा है कि वो लड़का आपको धोखा दे रहा है क्योंकि अगर वो आपसे रिलेशन में था तो किसी और से न छुपाता। वहां वो उसको बता देता कि वो आपसे प्यार करता है।

लड़का कह रहा है कि वो दूसरी लड़की का दिल नहीं तोड़ सकता तो वो आपसे भी रिश्ता रखना चाहता है और उससे भी। आजकल ये खूब हो रहा है। अगर आप सही में खुद को दुख से बचाना चाहती हैं तो इस रिश्ते से दूर हो जाइए। कुछ दिनों तक दुख होगा लेकिन बाद में सब ठीक हो जाएगा और आप किसी बड़े दुख से बच जाएंगी।

रीडर्स की सलाह

उसने मेरे अकेलेपन का फायदा उठाया, अब मैं बदला लेना चाहती हूं, मधु की स्टोरी

मैं मधु दिल्ली से हूं। मेरे मां-बाप गरीब हैं। मैं बचपन से झुग्गियों में रही। काफी अभाव में जीवन बीता। मेरी शादी कम उम्र में कर दी गई थी। पति मुझसे काफी बड़े थे और मेरे साथ खराब व्यवहार भी करते थे। मैंने उनका साथ छोड़ दिया। मेरी एक बेटी है और मैं अभी अपना काम करके कमा लेती हैं। मां-बाप अब मेरे साथ ही रहते हैं। बेटी छोटी है और मैं काफी अकेली फील करती हूं।

madhu love story

मेरे गांव का एक लड़का दिल्ली आया तो पापा से जान पहचान की वजह से वह हमारे घर आने-जाने लगा। उसने मेरे अकेलेपन का फायदा उठाया। मैं भी किसी का साथ चाहती थी, शादी करना चाहती थी। उसने मुझे सपने दिखाए। एक दिन कहा कि मेरे कमरे पर आओ। मैंने मना किया तो कहने लगा कि उसके साथ उसका भाई भी रहता है, उसके सामने वो मेरे साथ क्या कर लेगा? लेकिन जब मैं उसके कमरे पर गई तो वो अकेला था। इसके बाद बातों-बातों में उसने मुझे फिजिकल रिलेशन के लिए फोर्स किया। मैं भी मजबूर सी हो गई लेकिन बाद में मुझे बहुत अफसोस हुआ और खुद पर बहुत गुस्सा भी आया।

इस घटना के बाद वो मुझसे पैसे मांगने लगा। मैंने नहीं दिए तो मुझे धमकाता था। फिर मैंने उससे रिश्ता रखना छोड़ दिया और दूरी बना ली। इसके बाद वो एक दिन फिर मेरे सामने गिड़गिड़ाने लगा कि वो आगे से कोई गलती नहीं करेगा और मुझसे शादी करेगा। मैं फिर उसकी बातों में आ गई क्योंकि मैं बहुत अकेली हूं। उसने मुझसे कहा कि पहले हम मंदिर में शादी करेंगे फिर कोर्ट में शादी करेंगे। उसने दिन भी फिक्स कर लिया। मैंने भी हां कह दिया।

फिर अचानक वो दिल्ली छोड़कर चला गया और वहां से मुझे भद्दी-भद्दी गालियां मैसेज करने लगा। कहने लगा कि तू रंडी है, तुम्हारे साथ कौन शादी करेगा। तू मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती हो। मैंने उसके पापा को सारी बात बताई तो वो कहने लगे कि देख मेरा बेटा राजा है और तू रानी बनने के सपने मत देख। मैंने पुलिस में केस दर्ज कराने की बात कही तो उसकी मां बोली, अगर तूने ऐसा किया तो हम तेरे पूरे परिवार को बर्बाद कर देंगे। पुलिस को हम पैसे दे देंगे और हमारा कुछ नहीं होगा।

उस लड़के ने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी। उसने मेरे सेल्फ-रिस्पेक्ट को खत्म कर दिया। मैं मानती हूं कि मेरी भी गलती है। मुझे खुद पर बहुत गुस्सा आता है। मैं उसे सबक सिखाना चाहती हूं लेकिन मेरी दोस्त कहती हैं कि पुलिस केस करोगी तो तुम्हारी बेटी की जिंदगी पर इसका असर पड़ेगा और उस लड़के को कुछ नहीं होगा क्योंकि वो पुलिस को पैसा देकर छूट जाएगा। वो लोग बहुत ताकतवर हैं और हमेशा कोर्ट-कचहरी करते रहे हैं। मुझे कोर्ट-कचहरी का कोई अनुभव नहीं है, न ही मेरे पास केस लड़ने के लिए पैसे हैं।

लेकिन मैं उससे बदला लेना चाहती हूं? क्या कोई ऐसा तरीका है कि मैं उस लड़के के खिलाफ केस भी कर दूं और मैं सामने भी न आऊं? क्या पुलिस सच में पैसा लेकर उसे छोड़ देगी? क्या सरकारी वकील की मुझे मदद मिल सकती है? अगर थाने में शादी के सपने दिखाकर रेप का केस करूंगी तो क्या वे मेरी शादी उससे करा देंगे? अगर में केस कर भी दूं तो उसमें कितना खर्च आएगा? ऐसे बहुत सारे सवाल मन में आते हैं और कोई जवाब नहीं सूझता? मेरे सपोर्ट में कोई नहीं है और उस लड़के के सपोर्ट में उसका परिवार है, उसके पास पैसा है। मैं क्या करूं, आपलोग कोई रास्ता बताइए?

वो मैरिटल रेप की शिकार है, कहती है कि मेरे साथ भाग चलो- रवि की लव स्टोरी

मेरा नाम रवि है, मैं राजस्थान से हूं। अभी 22 साल का हूं। मेरे गांव की एक लड़की मेरी जाति की थी और मेरी क्लासमेट थी। आठवीं क्लास से हम दोनों एक-दूसरे को पसंद करने लगे थे। दसवीं तक आते-आते फोन पर बात होने लगी थी। हम दोनों इतना प्यार करने लगे थे कि एक-दूसरे के बिना रह नहीं पाते थे। जब बात नहीं हो पाती थी तो खाना भी नहीं खाते थे। हमारे प्यार को आठ साल हो गए और कभी प्यार कम नहीं हुआ।

2017 में उसकी शादी घरवालों ने किसी और से कर दी। मां-बाप ने जहर खा लेने की धमकी दी थी। उस पर दबाव बनाकर उसकी शादी ऐसे लड़के से कर दी गई जो अब उसके साथ बहुत ज्यादती करता है। वो उसके साथ जबर्दस्ती करता है। वो मेरे सामने आई तो बहुत रोई और बोली कि मैं तुम्हारे साथ रहना चाहती हूं। मैं उसे रखना भी चाहता हूं लेकिन क्या करूं वो तो अब शादीशुदा है।

ravi love story

उसने अपने मां-बाप को मना किया कि वो ससुराल नहीं जाना चाहती तो उन्होंने कहा कि तुम हमको बदनाम करने पर तुली हुई हो, समाज में हमारा नाम खराब करेगी। उसके मां-बाप उसे गालियां देते हैं और हर बार जबर्दस्ती ससुराल भेज देते हैं। जब कभी वो आती है तो कहती है कि एक दिन वहां एक साल जैसा लगता है। इधर मेरे भी दिन उसके बिना बड़ी मुश्किल से कटते हैं। मैं भी नहीं रह पाता हूं।

वो मिलती है तो मुझसे कहती है कि इस जिंदगी से तो मर जाना अच्छा है, पर मैं उसे समझाता हूं कि सब ठीक हो जाएगा। वो बोलती है कि हम दोनों भाग चलते हैं। उसकी बड़ी बहन भी हमारे प्यार को सपोर्ट करती है। वो कहती है कि जब कुछ हल न निकले तो दोनों भाग जाओ। अब ऐसे में मैं क्या करूं, कुछ समझ में नहीं आ रहा….

पेज एडमिन की सलाह

रवि जी, बचपन से साथ रहते-रहते बड़े होने पर प्यार का रिश्ता अक्सर बन ही जाता है। इसमें समस्या तब आती है कि जब मां-बाप इज्जत के नाम पर लड़की की शादी किसी और से कर देते हैं। लड़की आपसे प्यार करती है तो वो पति के साथ बीवी का रिश्ता नहीं रखना चाहती होगी। ऐसी लड़कियों के साथ मैरिटल रेप होता है जो कि सही नहीं है।

अब लड़की पति के साथ रहना नहीं चाहती लेकिन उसका साथ देनेवाला कोई नहीं। वह जाएगी कहां? या ससुराल या आपके पास…आप दोनों भागेंगे तो पुलिस केस, लड़ाई-झगड़े के लिए भी आप और आपके घरवालों को तैयार रहना होगा। एक तरफ समाज, दूसरी तरफ आप दोनों।

अगर लड़की आपका साथ दे तो आप कदम उठा सकते हैं। अगर वो ससुराल में पति के साथ नहीं रहना चाहती तो कोई उसे जबर्दस्ती नहीं रख सकता लेकिन अगर कोई कदम उठाइएगा तो हर हाल में आप दोनों को एक-दूसरे का साथ देना होगा। हो सकता है कि आपको अपने घरवालों से भी लड़ना पड़े।

फौजी पति के जुल्मों की शिकार एक पढ़ी लिखी संवेदनशील लड़की की लव-मैरिज स्टोरी

मैं रंजना उत्तराखंड से हूं। मैंने एमए बीएड तक पढ़ाई की है। 2009 में मैंने लव मैरिज की थी जिसके बाद पढ़ाई छूट गई। शादी से पहले मेरे हसबैंड बहुत अच्छे इंसान थे लेकिन शादी के पहले दिन से ही उनकी सारी बातें बदल गईं क्योंकि मैं दहेज में उनके मम्मी पापा की अपेक्षा के मुताबिक सामान नहीं ला पायी थी। उनके मम्मी पापा ने उनको मेरे खिलाफ भड़काया और शादी के दूसरे तीसरे दिन से ही मेरे साथ पति ने बात करनी बंद कर दी और मारपीट भी करने लगे। मैं उनसे बहुत प्यार करती थी इसलिए मैंने उनका साथ नहीं छोड़ा।

ranjana marriage story

मेरे पति भारतीय सेना में हैं। फौज में होने की वजह से हम दोनों साल में तीन या चार बार ही मिल पाते हैं मगर मुलाकात के दिनों में एक दिन भी चैन से नहीं गुजरता है। कुछ महीने पहले जब वो घर आए तो मेरे बनाए ब्रेकफास्ट को खराब बताकर उन्होंने मुझे इतना मारा-पीटा कि हॉस्पिटल में एडमिट होना पड़ा। मेरे ससुराल वाले कहने लगे कि पुलिस में कंप्लेन करोगी तो परिवार बर्बाद हो जाएगा, पति कहने लगे कि आगे से वो मेरे ऊपर हाथ नहीं उठाएंगे। मेरी दो बेटियां हैं, उनके बारे में कहने लगे कि उनकी जिंदगी खराब हो जाएगी। मैं यह सब सोचकर शांत रह गई और माफ कर दिया।

मगर इसके बाद भी मेरे ऊपर जुल्म नहीं रुके। कुछ दिनों बाद फिर मेरे पति मुझे मेंटली टॉर्चर करने लगे। बिना गाली के वे बात ही नहीं करते। मुझे लगता है कि इस बार घर आएंगे तो फिर वो मुझे मारेंगे। मैं उत्तराखंड में ऐसी जगह से हूं जहां तलाक के बारे में सोचना भी पाप है। मेरे अपने घर में मेरी मम्मी नहीं है। पापा ने दूसरी शादी की थी। सौतेली मां और पापा मेरा साथ नहीं देते। दो बेटियों के फ्यूचर के बारे में सोचकर दस साल से मैं ये सब बर्दाश्त किए जा रही हूं। सोचा कि शायद मेरे पति कभी सुधर जाएंगे लेकिन मुझे नहीं लगता कि वो कभी बदलेंगे।

मेरे पति चार भाई हैं। मैं घर की सबसे बड़ी बहू हूं लेकिन मेरी कोई इज्जत नहीं। बाकी सभी भाई अपनी बीवी के साथ खुश हैं। मेरे पति घर में सबके सामने मेरी इंसल्ट करते हैं। मेरा साथ कोई नहीं देगा। मैं अपनी बेटियों को लेकर कहां जाऊं। मेरे सास ससुर भी यही चाहते हैं कि मैं घर छोड़कर चली जाऊं। मुझसे अब ये सब बर्दाश्त नहीं होता। पापा से एक बार कहा तो उन्होंने कहा कि अब तेरा घर वही है, पति ही सबकुछ होता है। मेरा सुसाइड करने का मन करता है मगर बेटियों को किसके भरोसे छोड़कर जाऊं, इसलिए मर भी नहीं पाती।

मेरे लिए अब पति के साथ रिश्ता निभाना बहुत मुश्किल हो रहा है। मैं किसी से भी अब अपना दर्द कह नहीं सकती। पापा से कहकर भी देख चुकी। अब कहीं से कोई उम्मीद नजर नहीं आती। मैं ये सब बातें बहुत रो-रोकर लिख रही हूं। क्या सचमुच मेरे लिए दुनिया के सारे रास्ते बंद हो चुके हैं? क्या इस टॉर्चर से निकलने का कोई रास्ता नहीं बचा है? मेरी बेटियां नहीं होती तो शायद में सुसाइड कर चुकी होती लेकिन उनका ख्याल आते ही चुप हो जाती हूं। मैं क्या करूं?

एक लव स्टोरी जो आपकी आंखें खोल देंगी…यही है सच्चा प्रेम

मैं पेज एडमिन राजीव हूं। बिहार के कोसी इलाके की एक रियल लाइफ स्टोरी बताना चाहता हूं जिसे सुनकर मुझे लगा कि आपलोगों से शेयर करूं। आपने कबीर का वो दोहा तो सुना होगा…पोथी पढ़ि-पढ़ि जग मुआ, पंडित भया न कोय, ढाई आखर प्रेम का पढ़े सो पंडित होय। अपने आसपास की जिंदगी में मैंने भी देखा कि यह बात सच है।

एक अनपढ़ महिला की शादी आज से करीब 30 साल पहले एक पढ़े-लिखे पायलट से हुई थी। 1990 में शादी का वही हाल था कि लड़के-लड़कियों का रिश्ता मां-बाप तय कर देते थे। पायलट के मां-बाप गांव में रहते थे और वहीं पास के गांव में उन्होंने बेटे की शादी कर दी थी। पायलट पत्नी को लेकर वहां चला आया जहां वह जॉब करता था।

rajeev real life story

पायलट अपनी अनपढ़ पत्नी से नाखुश और दुखी रहता था। वजह सिर्फ एक कि वो पढ़ी-लिखी नहीं थी। एक बेटी हुई और पायलट ने कुछ सालों बाद पत्नी को उसके मायके में लाकर छोड़ दिया और फिर अगले कई सालों तक पलटकर नहीं देखा। बेटी को पायलट ने अपने साथ ही रखा। इधर गांव में उसकी पत्नी 15 साल तक पति का इंतजार करती रही।

उधर पायलट भी अपनी बेटी के साथ जिंदगी जीता रहा। पायलट के मां-बाप गांव में बुजुर्ग हो गए और वहां अन्य बेटों ने उनको नहीं रखा तो उन दोनों को पायलट अपने पास ले आया लेकिन उनको संभालना काफी मुश्किल काम था। उसे फिर अपनी पत्नी का ख्याल आया। 15 साल बाद वह मायके में रह रही पत्नी को साथ ले गया। उस अनपढ़ महिला ने सास-ससुर और पति का प्रेमभाव से इतना केयर किया कि आज वही पायलट पति अपनी अनपढ़ पत्नी के साथ खुश है। उसे घुमाने के लिए जगह-जगह ले जाता है।

पायलट ने पोथी पढ़ी लेकिन ढाई आखर प्रेम का पाठ नहीं पढ़ा। अनपढ़ महिला ने पोथी नहीं पढ़ी लेकिन प्रेम करना उसे आता था। फिर भी पायलट की कमबुद्धि की वजह से दोनों के वे कीमती 15 साल बर्बाद हो गए जब वो एक-दूसरे के साथ दांपत्य जीवन हंसी-खुशी बिता सकते थे। अब सोचिए कि दोनों ने कितना दुखी जीवन जिया…सिर्फ इस वजह से एक पढ़ा-लिखा इंसान अनपढ़ इंसान की इंसानियत को नहीं समझ सका…

हिंदू लड़की से मुझे प्यार है, मैं मुस्लिम हूं, मेरे घरवाले कह रहे रिश्ता तोड़ो वरना झगड़ा होगा

मेरा नाम हसन है। मैं मध्य प्रदेश से हूं। अभी 24 साल का हूं। मेरे पड़ोस में एक हिंदू लड़की रहती है जो मुझसे बेहद प्यार करती है। कुछ महीने पहले उसने मेरा फोन नंबर मांगा था जो मैंने उसे दे दिया। हमारी बात शुरू हुई और हमारी दोस्ती प्यार में बदल गई। मेरे बिना वो एक पल नहीं रहती थी।

कुछ दिनों पहले मेरे घरवालों को हम दोनों के रिश्ते के बारे में पता चल गया। उस लड़की के घरवाले काफी लड़ाई-झगड़ा करते हैं और काफी खतरनाक हैं इसलिए इज्जत के डर से मेरे घरवालों ने मुझे उससे बात करने से मना कर दिया है। मैंने उससे बात करना बंद किया तो उसका रो-रोकर बुरा हाल हो गया।

hasan love story

वो बहुत बीमार रहती है। उसे मुझसे बहुत प्यार है और मैं उसको हर्ट नहीं करना चाहता पर मेरे घरवाले उससे बात करने और रिश्ता रखने से मना कर रहे हैं क्योंकि अगर लड़की के घरवालों को पता चल गया तो बहुत बड़ा झगड़ा हो जाएगा और इज्जत भी चली जाएगी।

अब मुझे ये समझ नहीं आ रहा है कि क्या करूं? उस लड़की से बात करके उसका सहारा बनूं या फिर अपने घरवालों की बात मानकर उसे मरता छोड़ दूं। मैं सोच-सोचकर पागल होता जा रहा हूं और वो भी उधर पागल हो रही है।

पेज एडमिन राजीव की बात
हसन जी, आपके घरवाले वही कह रहे हैं जो आज की दुनिया में प्रैक्टिकल बात है। मैं हिंदू हूं लेकिन हिंदू-मुस्लिम धर्म वाली बात को दिमाग से निकालकर प्रैक्टिकल बात ही कहूंगा। दरअसल, इज्जत सिर्फ आपके घर की नहीं जाएगी, उस लड़की के घर की इज्जत भी जाएगी। दूसरी बात, अगर वो बीमार है तो ठीक हो जाएगी। अगर वो सुसाइडल है तो उसके घरवालों को उसे संभालना चाहिए। अगर आप इस रिश्ते में और आगे बढ़ेंगे तो वाकई बवाल होगा….जैसा कि आपके घरवाले कह रहे हैं।

आपने कहा कि आप अपनी गर्लफ्रेंड को हर्ट नहीं करना चाहते तो अभी तत्काल बर्दाश्त कर लीजिए। धीरे-धीरे सब ठीक हो जाएगा। जब यहां दो जातियों के प्रेम-संबंध में बवाल होता है तो आप तो दो अलग धर्म के हैं। मैं ये नहीं कह रहा है कि बवाल से आप डर जाएं या प्यार करनेवाले प्यार करना छोड़ दें लेकिन प्यार का मतलब ही होता है कि सामने वाले की भलाई किसमें है, हम वो काम करें। फिलहाल, लड़की की भलाई इसी में है कि आप दूर हो जाएं।

दूसरी लड़की से शादी तो फॉर्मेलिटी है, मेरी बीवी तो तुम ही हो- मेघना की लव स्टोरी

मैं बिहार से मेघना हूं। एक लड़के से बहुत ज्यादा प्यार करती हूं। उसने एक दिन ऐसे ही मेरी मांग में सिंदूर डाल दिया और बोला कि आज मैंने तुमसे शादी कर ली, आज से तुम मेरी बीवी हो। मैं उस पर इतना ज्यादा भरोसा करती हूं कि कुछ भी करने से पहले उससे पूछती हूं। सच में वो मेरा पति है।

इस शादी के डेढ़ साल बाद भी हम दोनों के घरवाले और दुनिया को हमारे रिश्ते के बारे में कुछ भी मालूम नहीं है। हम दोनों की शादी दुनिया के सामने नहीं हो सकती। इस बीच उसकी इंगेजमेंट किसी और से हो गई है और मेरी भी सगाई किसी और लड़के से हो चुकी है।

meghna love story

वो कहता है कि फॉर्मेलिटी निभाने के लिए किसी और लड़की से शादी कर रहा हूं, मेरी बीवी तो तुम ही हो। सच में, मुझे भी पूरी दुनिया से ज्यादा, खुद से ज्यादा उसपे भरोसा था लेकिन उसने मेरा भरोसा तोड़ दिया। मुझे पता चला कि वो कई लड़कियों से फेसबुक पर चैट करता है। मैंने जांचने के लिए एक लड़की के नाम से फेक आईडी बनाई और उससे चैट किया तो बात सही निकली।

मैंने उसको कई बार कसम दी थी कि तुम किसी और से बात करोगे तो मैं मर जाऊंगी। उसने कसम खाई भी थी लेकिन उसने कसम को तोड़ दिया। उसने जबसे मुझसे शादी की तबसे लेकर आज तक जाने कितनी लड़कियों से बात की। मुझे उससे नफरत होने लगी है।

हमने उससे पूछा कि क्यों मेरे साथ ऐसा किया तो वो बोल रहा है कि मैंने तुमको धोखा नहीं दिया। वो झूठ बोलता रहा, मैं यह सब सोचकर पागल होती जा रही हूं। वो ऐसा कैसे कर सकता है। मैं उससे बहुत प्यार करती थी, बहुत भरोसा किया था। मैं उससे अब बात नहीं कर रही हूं लेकिन मैं उसके बिना नहीं रह सकती।

मैं उससे दूर जाकर भी नहीं जी पा रही हूं और उसके पास भी अब नहीं जा सकती। प्यार और नफरत के बीच फंस गई हूं। मेरे साथ उसने ऐसा क्यों किया, यकीन नहीं होता है कि वो ऐसा कैसे करता रहा और मुझे पता भी नहीं चला। वो जिससे शादी कर रहा है, उससे भी खूब बात करता है, मुझे यकीन नहीं हुआ। क्या करें, आगे कुछ समझ नहीं आ रहा, वो मेरा पति है…

औरत कमाती है, घर का खर्चा चलाती है तो समाज उसे अच्छा क्यों नहीं कहता!

मैं प्रमिला प्रजापति हूं गुजरात से हूं। मेरी कहानी इस पेज पर पोस्ट हुई है लेकिन मैं एक और बात कहना चाहती हूं हमारे समाज के बारे में। मेरा आप लोगों से ये सवाल है कि क्या औरत घर का खर्च नहीं उठा सकती? क्या उसकी कमाई से घर नहीं चलता? हमारे समाज में लोग ऐसा बोलते हैं कि औरत के कमाने से थोड़े ही घर चलता है, वो तो मर्द ही कमाता है।

मैं पिछले 10 साल से अपने घर का खर्चा उठाती आ रही हूं लेकिन कभी समाज ने मेरी पीठ नहीं थपथपाई। लोग देखकर भी अनदेखा कर देते हैं। लोग जानते हैं कि मैं कितना काम करती हूं लेकिन फिर भी किसी ने कभी मेरी प्रशंसा नहीं की। यहां तक कि मेरे पति ने कभी किसी से नहीं कहा कि देखो मेरी बीवी ही मेरा घर चला रही है। ईगो बीच में आता है।

premila prajapati feelings

समाज में कोई अच्छा करके, खूब मेहनत करके आगे बढ़े यह किसी को अच्छा नहीं लगता। मैं दिन-रात मेहनत करती हूं फिर भी आज तक मुझे समझनेवाला कोई मिला नहीं। मैं अपने बच्चों के लिए जीती थी, जीती हूं और जीती रहूंगी, मेहनत करती रहूंगी चाहे जिसको जो कहना है कहे, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।

मेरे बच्चे भूखे सोते थे तो समाज के लोग नहीं आए थे रोटी देने तो उनको हमारी जिंदगी में दखल देने का कोई अधिकार नहीं है। समाज में लड़कियों की इज्जत होगी तभी समाज सुधरेगा। लड़की अगर 9 महीने पेट में बच्चे को रखकर जन्म दे सकती है तो उसमें इतनी शक्ति है कि वो कुछ भी कर सकती है। कभी किसी को कमजोर मत समझो।

पेज एडमिन राजीव की बात
प्रमिला जी, समाज ने औरतों से उसकी आर्थिक ताकत इसलिए छीन ली ताकि वो मर्दों पर उम्रभर डिपेंड रहे और इसके पीछे सबसे बड़ा तर्क यह दिया जाता है कि घर में बच्चे को कौन पालेगा इसलिए औरत को घर के अंदर के कामों तक सीमित कर दिया गया। इसके लिए समाज ने कई तरह के हथकंडे अपनाए हैं जिसमें परिवार में ही बेटी को शुरू से कमजोर बनाया जाता है ताकि उसके अंदर किसी मर्द पर निर्भरता की मानसिकता विकसित हो। पहले वो पिता-भाई पर निर्भर बनाई जाती है, फिर बाद में पति-बेटे पर।

इस निर्भरता का खराब नतीजा यह हुआ कि मर्दों पर परिवार का सारा आर्थिक बोझ पड़ा जिसकी वजह से घर में पैसा भी कम आता है, मर्दों की परेशानियां भी बढ़ जाती हैं, औरत को पैसों के लिए पति का मुंह ताकना पड़ता है, साथ ही अगर कभी पति की मौत हो जाए तो औरत की जिंदगी बर्बाद होती है और परिवार तबाह हो जाता है।

इस धरती पर जो भी जीव जन्म लेता है, उसे अपने लिए कमाने का अधिकार है, उसे अपना पेट पालने का अधिकार है। चाहे लड़का हो या लड़की, दोनों को यह सोचना चाहिए कि उनको अपनी जिंदगी खुद चलानी है, खुद के लिए कमाना है, इससे वो किसी पर डिपेंड नहीं होंगे। इससे उनके अंदर आत्मविश्वास आएगा जिससे वो जीवन में और बेहतर करेंगे तो समाज और बेहतर होगा। लड़कियां किसी पर निर्भर होने की सोच को खत्म करें…इससे समाज में बहुत बड़ा बदलाव होगा।

सास कहती है कि ससुर का इंजेक्शन लगवाकर हमें बेटा दो…हरियाणा के बहू की स्टोरी

मैं हरियाणा से प्रीति हूं। मेरी शादी 2013 में हुई थी। उस समय मैं बीस साल की थी। मैं राजपूत परिवार से हूं और हमारे यहां शादी से पहले लड़की को लड़का से नहीं मिलने देते। मैंने सिर्फ उनकी फोटो देखी थी। शादी के बाद पता चला कि मेरे पति को कैंसर था। मेरी सास को भी ब्रेस्ट कैंसर था और ससुर को बोन कैंसर। जब मुझे पता चला तो मैं बहुत रोई लेकिन सब एक्सेप्ट कर लिया क्योंकि शादी के बाद बेटी को मां-बाप घर में रखना नहीं चाहते।

Priti marriage story

मैंने अपने पति से ये भी कभी नहीं पूछा कि आपने शादी से पहले ये बात क्यों नहीं बताई? मैंने सब एक्सेप्ट किया और लाइफ आगे बढ़ने लगी। पति ने काफी प्यार दिया। इस बीच मेरी एक बेटी हुई। एक दिन पति की छाती में दर्द होने लगा। चंडीगढ़ में डॉक्टर ने बताया कि छाती में ट्यूमर है जिसका ऑपरेशन करना होगा। ट्यूमर की जांच में पता चला कि उसमें कैंसर था। मैं बहुत रोई।

दो साल तक पति की कीमोथेरेपी चली। मैं दिन-रात पति की सेवा करती रही ताकि उनकी जिंदगी बचा सकूं। मेरे सास, ससुर और पति को कैंसर मेरी शादी से पहले से था फिर भी वेे मुझे दोष देने लगे कि मेरी वजह से उनके घर में सभी बीमार हुए हैं। मैंने कभी उनको उलटकर जवाब नहीं दिया कि आप सब क्यों ऐसा बोल रहे हो क्योंकि मैं मानती हूं कि रब सब देखता है कि कौन सच्चा और कौन झूठा। मेरी सफाई देने से कुछ होने वाला नहीं था।

घर में एक समय ऐसा भी आया कि सास, ससुर और पति, तीनों की कीमोथेरेपी चल रही थी और ऊपर से मेरी परीक्षा थी, छोटा बच्चा था। मैंने बहुत परेशानी झेली। पिछले साल सितंबर में मेरे पति की मौत हो गई। उस दिन के बाद से मेरी जिंदगी बहुत बुरी हो गई। मेरे खाते में हरियाणा सरकार से मिले करीब 30,000 रुपए थे क्योंकि मैं पोस्ट ग्रेजुएट हूं। मेरे सास-ससुर ने बैंक से मेरा सारा पैसा निकाल लिया। मैंने बेटी के लिए सेविंग की थी।

मेरी एक ननद है जिसकी शादी नहीं हुई है और प्रॉपर्टी पर उसकी नजर है। सास ससुर मुझे कहते हैं कि तेरा यहां कुछ नहीं है। वो मुझे घर से निकालने की और मेरी बेटी को भी छीनने की धमकी देते हैं। सास-ससुर कहते हैं कि तुझे घर से जाना है तो जा लेकिन तेरी बेटी को नहीं देंगे। मैं अपनी बेटी के बिना नहीं रह सकती। सास-ससुर ने कहा कि अगर तू बेटी को ले जाएगी तो खून की नदी बहा देंगे।

मैं अभी बीएड कर रही हूं और 25 साल की हूं। मेरी सास मुझसे कह रही है कि तू अपने ससुर का इंजेक्शन लगवा ले, एक बेटा पैदा करके हमें दे। मैंने हिम्मत करके बोल दिया कि मैं ये नहीं कर सकती, सबलोग क्या कहेंगे, कुछ तो शरम करो। मेरी सास दूसरों से फोन पर कहती है कि मैं जबर्दस्ती इसे इंजेक्शन लगवा दूंगी, कौन है जो रोक लेगा।

मुझे बताइए कि मैं क्या करूं? ये लोग न मुझे मां-बाप के पास जाने देते हैं। अब तो कोई ऐसा भी नहीं है कि मैं जिसके सामने रो लूं, अपने मन की बात किसी से कह लूं। मैं अपनी बर्बाद जिंदगी के बारे में मां-बाप को भी नहीं बता पा रही, वो तो पहले से मेरी वजह से दुखी हैं, उनको और दुखी नहीं करना चाहती। क्या सास-ससुर मेरी बेटी को मुझसे छीन सकते हैं, मैं ऐसी परिस्थिति में क्या करूं?

बीवी से परेशान हूं, उसकी शादीशुदा सहेली से शादी करना चाहता हूं….

मैं लखनऊ से समर हूं। मैं शादीशुदा हूं और मेरे दो बच्चे हैं। मेरी लव मैरिज हुई थी। पहले तो सब नॉर्मल था पर बाद में हम दोनों में दूरियां बनने लगीं। मेरी वाइफ मुझे मेरे परिवार से दूर ले जा रही है। मैं कहीं भी बात करूं तो मुझे बताना पड़ता है कि मैंने किससे बात की। हर बात में वो शक करती है।

इस बीच फोन पर मेरी बीवी की शादीशुदा सहेली से मेरी बात होने लगी। पहले तो सब नॉर्मल था लेकिन बाद में हम दोनों बात करते-करते एक-दूसरे से अपना सुख-दुख शेयर करते-करते करीब आ गए, पर हम कभी मिले नहीं। एक-दूसरे से बस फोन पर ही बात करते रहे।

vishal story two

बीवी की सहेली भी अपने पति से परेशान है और वो भी छुटकारा चाहती है। मैं भी अपनी बीवी से मुक्ति पाना चाहता हूं। वो अपने पति को तलाक देकर मेरा साथ देने को तैयार है लेकिन मेरी बीवी के नाम मैंने अपनी सारी प्रॉपर्टी लिख दी है। बीवी कहती है कि तुमको जाना है तो जाओ पर प्रॉपर्टी मेरी है। वो मुझे डाइवोर्स भी नहीं दे रही है, मैं क्या करूं?

मैं बीवी की सहेली से बहुत ज्यादा प्यार भी करने लगा हूं। क्या करूं, बताइए…

पेज एडमिन की बात-
दूर के ढोल सुहावन लगते हैं, ये कहावत आपने सुनी होगी। लवर जितना ही दूर होता है, आकर्षण उतना ही ज्यादा होता है और सपने उतने ही ऊंचे होते हैं। आपने पहला प्यार किया होगा तब भी ऐसा ही हुआ होगा। लेकिन शादी करके साथ रहते-रहते वही ढोल की आवाज आज आपको परेशान कर रही है तो आप फिर दूर का ढोल सुनने लगे।

प्रॉपर्टी तो आपकी ही है भले वो पत्नी के नाम हो, अभी हाल में कोर्ट ने एक फैसले में ऐसा कहा है। लेकिन सवाल ये है कि फिर जिस ढोल की आवाज आपको सुहावन लग रही है, क्या वो फिर पास आते ही आपकी जिंदगी में संगीत भर पाएगी…।

बीवी के साथ आपके रिश्ते पर मैं कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता। आपका निजी मामला है। बीवी से आपको प्यार था तभी आपने सारी प्रॉपर्टी उनके नाम लिख दी। दो बच्चे भी हैं आपके…ये सब होते हुए भी पारिवारिक परेशानी के बीच आपने उनकी सहेली को हमदर्द बना लिया और अफेयर कर लिया..अब शादी की बात सोच रहे हैं…सारा रायता फैला दिया…अब समेटिए..मुझे नहीं लगता कि आपकी शादी बीवी की सहेली से हो पाएगी….सहेली के पति को पता चलेगा तो ये ड्रामा संभालना आपके लिए मुश्किल हो जाएगा…

बेस्ट फ्रेंड के लिए लिखी गई दिल को छूनेवाली बात…रमेश की स्टोरी

मेरा नाम रमेश रावत है। मैं उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले से हूं। मेरी एक बेस्ट फ्रेंड है मीता रावत। मुझे बहुत प्यार करती है और हमेशा मिस करती है। मैं भी उसे बहुत प्यार करता हूं और बहुत मिस करता हूं। हम एक-दूसरे को बहुत प्यार करते हैं लेकिन बेस्ट फ्रेंड की तरह, लवर की तरह नहीं। वो कहती है कि हम ये दोस्ती कभी नहीं तोड़ेंगे। हम हमेशा बेस्ट फ्रेंड रहेंगे।

वो मेरी हर बात मान लेती है और कहती है कि कभी नशा मत करना, बहुत बेकार चीज है, किसी भी लड़की के साथ गलत मत करना और अपना ख्याल रखना। वो हमेशा मुझे गलत रास्ते पर जाने से रोकती है और मैं भी उसे जिंदगी में सही रास्ते पर चलने के लिए गाइड करता हूं। हम दोनों एक दूसरे के गाइड हैं।

ramesh love story

मैं खाना न खाऊं तो खुद भी खाना नहीं खाएगी। मैं मजाक में कहूं उसे कि खाना मत खाओ तो वो सच में खाना नहीं खाएगी। बहुत अच्छी है वो। मेरी सबसे अच्छी दोस्त है वो। वो मुझे अपने घर का मेंबर समझती है और मैं भी उसके अपने घर का सदस्य समझता हूं। वो मुझसे अपने घरवालों से ज्यादा प्यार करती है।

सुबह उठकर मेरे लिए दुआ करेगी कि मेरे सबसे अच्छे दोस्त को हमेशा खुश रखना और अपने लिए कुछ नहीं मांगेगी। भगवान से मेरे लिए और अपने परिवार के लिए मांगेगी। वो कहती है कि मुझे कुछ नहीं चाहिए, मुझे भगवान ने इस दुनिया का सबसे अच्छा दोस्त दिया है और क्या चाहिए मुझे….

वो कहती है कि मेरी शादी भी हो जाएगी तब भी तुम ही रहोगे मेरे बेस्ट फ्रेंड, हसबैंड की अपनी जगह होगी और हम दोनों हमेशा अच्छे दोस्त। कहती है कि तुम मेरी खुशी हो। मैंने एक बार सोचा कि उसे अपना गर्लफ्रेंड बना लूं फिर मुझे ये विचार अच्छा नहीं लगा क्योंकि प्यार में सिर्फ नाकामी हासिल होती है और कुछ नहीं…

मैं उसे गर्लफ्रेंड बनाता तो शायद हम एक दिन एक-दूसरे से अलग हो जाते इसलिए नहीं बनाया। वो कहती है कि बीएफ-जीएफ में खुशी कम और दुख ज्यादा होते हैं इसलिए उसने भी मुझे ब्वॉयफ्रेंड नहीं बनाया।

मैं आप सबसे एक बात पूछना चाहता हूं कि क्या लवर ही एक दूसरे से प्यार कर सकते हैं? हम दोनों तो बेस्ट फ्रेंड हैं और लवर से भी ज्यादा एक दूसरे से प्यार करते हैं। क्या गर्ल और ब्वॉय बेस्ट फ्रेंड नहीं बन सकते हैं? अगर हमेशा पॉजिटिव सोचो तो गर्ल और ब्वॉय बेस्ट फ्रेंड बन सकते हैं।

इस दुनिया में लवर ही एक दूसरे को ज्यादा प्यार नहीं करते, मेरी बेस्ट फ्रेंड मीता तो मुझसे बहुत ज्यादा प्यार करती है। मुझे कभी भूल मत जाना मीता…

Advertisements

Read real life love stories and original shayari by Rajeev Singh

Advertisements