वो मेरी फीलिंग्स समझता ही नहीं और मैं इस प्यार से काफी थक गई हूं- वैशाली की लव स्टोरी

मैं वैशाली हूं। मैं राजस्थान से हूं। मैं उस समय 20 साल की थी जब तीन साल पहले मेरे जीजा के कजिन भाई से एक शादी में मुलाकात हुई। एफबी के एक मैसेज से हमारी बात शुरू हुई थी। हम दोनों इसके बाद भी हमारे रिश्तेदारों की शादी में मिलते रहे। हम दोनों की वाट्सएप और एफबी पर बात होने लगी। एक साल तक ऐसे ही नॉर्मली चलता रहा, हम दोनों करीब आते गए। हम दोनों का रिश्ता सबसे छुपा रहा। एक साल बाद हम दोनों ने एक दूसरे के प्यार को एक्सेप्ट कर लिया। प्रपोज उसने ही किया था।

एक दिन मेरे भाई ने मेरे फोन में उसके साथ हुआ चैट देख लिया। वैसे मैं उसके नंबर और चैट डिलीट कर देती थी लेकिन उस दिन भूल गई थी। फिर तो घर में काफी हंगामा हुआ। मम्मी दीदी ने भी काफी डांटा। भैया ने हाथ भी उठाया मुझ पर। मेरे भैया उसे जानते थे तो उन्होंने उसको फोन कर बहुत धमकाया और कहा कि मैं तेरे घर आ रहा हूं तो यह सुनकर वह खुद ही चला आया। मेरे भैया ने उसको बहुत गाली दी, मारने भी उठे और फोन फॉर्मेट करा दिया।

vaishali real love story

दो दिन तक बात नहीं हुई लेकिन उसके बाद मैंने अपनी फ्रेंड के फोन से उसे कॉल किया तो भाई की वजह से बहुत गुस्सा था। इसके बाद उसने कहा कि आगे से भाई को पता नहीं चलना चाहिए, ध्यान रखना। फिर हम दोनों के बीच बातें होने लगी, हम वीडियो कॉल पर भी बात करते थे। वह अपनी फैमिली से छुपकर बात करता था और मैं भी। मैं उससे मिलने को कहती तो वो गुस्सा करता था। फिर अचानक मेरे घरवालों को पता चल गया। मेरा भाई मेरा फोन लेकर गुस्से में चला गया तो पापा ने मुझसे पूछा कि तेरे और भाई के बीच क्या लड़ाई है तो मैंने उनको सबकुछ बता दिया।

मेरा बीएफ मेरे ही कास्ट का था। मैंने पापा को बताया तो वो उसके पापा को जानते थे। उन्होंने कहा कि दोनों का गोत्र एक ही है इसलिए शादी नहीं हो सकती। पापा ने कहा कि अब उससे बात मत करना कभी। भैया से फोन दिलवा दिया और उसी दिन मुझे दूसरे लड़के वाले देखने आ गए। मैंने मना किया लेकिन मुझे जबर्दस्ती उनके सामने भेजा गया। लड़का तैयार था लेकिन मैंने मना कर दिया। उसी शाम मैंने बीएफ को फोन पर ये सब बातें बताईं तो वो अपसेट हो गया।

हमारी बातें इस बीच बंद हो गई क्योंकि हम दोनों की बात खुलने से वह बहुत गुस्सा था। मेरे भैया की शादी फिक्स हुई तो मैं उसे कार्ड देने गई लेकिन उसने मुझसे बात तक नहीं की। मैंने उसको भाई की शादी में बहुत बुलाया लेकिन उसके परिवार के सभी लोग आए लेकिन वो नहीं आया। मैं बहुत रोई। वो मुझे इग्नोर करता था, मुझ पर गुस्सा करता था। फिर मैंने किसी तरह से उसको मनाया और हमारे बीच जब बातें शुरू हुईं तो उसने हमेशा मेरी गलती निकाली।

मुझसे उसने कहा कि बिना पूछे वहां जाते हो, यहां जाते हो, ये करते हो, वो करते हो…किसी न किसी बात पर शिकायत करता है तो मैं सॉरी बोलती हूं तो कहता है कि अपने आपको सुधार लो, ये बार बार सॉरी मत बोला करो। मैं अपने घर में दूसरों के सामने अपनी गलती मानकर इसी तरह झुकती रही हूं। कोई कहता है कि तुम्हारी गलती है तो मैं झुक जाती हूं। उसके सामने भी झुकती रही लेकिन उसने अपना बिहेव चेंज नहीं किया। कभी फोन पर मैं रोती हूं तो कभी वो रोता है। हम दोनों ही इस रिश्ते से हर्ट होते हैं लेकिन उसका कोई स्टैंड ही नहीं है, घर में हमारी शादी की बात ही नहीं कर पाता।

हम दोनों की आर्थिक स्थिति अच्छी है। मैं उससे बहुत प्यार करती हूं और उसकी एक बहन भी है जो मुझे बताती है कि भैया बहुत अपसेट रहते हैं लेकिन तुमसे प्यार करते हैं। मुझे भी लगता है कि वो प्यार करता है लेकिन पता नहीं क्यों वो ऐसा बिहेव करता है। मैं अभी एलएलबी कर रही हूं और वो मुझसे एक साल छोटा है। अभी मैं 23 साल की हूं और वो 22 साल का। मैं उससे शादी करना चाहती हूं लेकिन वो घर में बात भी नहीं करता। मेरी फीलिंग्स को समझता ही नहीं।

मैंने थक-हार कर उससे कहा कि 1 जनवरी तक फैसला कर लो वरना मैं इस रिश्ते से दूर हो जाऊंगी। रोज-रोज ऐसे रोकर खुद को हर्ट नहीं करना चाहती, ना तुमको हर्ट करना चाहती हूं तो उसने जवाब दिया कि अच्छा ठीक है 1 जनवरी तक बता दूंगा लेकिन उसके बाद से 1 जनवरी करीब आ रहा है लेकिन उसका कोई जवाब नहीं आया है? मैं इंतजार में हूं।

Advertisements

वो प्यार करती थी लेकिन मिलने गया तो बोली, नहीं मिल सकती – बन्नी की लव स्टोरी

मेरा नाम बनवारी है। अनु मुझे बन्नी कहती थी। मैं राजस्थान से हूं। मैं बेंगलौर में एक इन्टरनेशनल ब्रांड में जॉब करता था। मेरी फेसबुक पर कोलकाता की एक लड़की से दोस्ती हुई और धीरे-धीरे दो साल में वो दोस्ती प्यार में बदल गई। मैंने अभी उसको देखा तक नहीं। हमारी मुलाकात फेसबुक के एक ग्रुप में हुई थी। मैं उसकी फ्रेंडलिस्ट में एड नहीं था और उसने कभी किया भी नहीं। मैंने भी कभी पूछा नहीं उससे। बचपन में घर से दूर रहने लगा था इसलिए किसी का प्यार मिल न सका।

जिंदगी में पहली बार कोई ऐसा इनसान आया जिससे मुझे काफी प्यार मिलने लगा। ये सब कुछ इतना आनंदित करता था मुझे जिसकी कोई सीमा नहीं। फिर मैंने बेंगलौर में जॉब छोड़ दी और दिल्ली चला गया। कुछ दिन दिल्ली में रहने के बाद मैंने कोलकाता की एक कंपनी ज्वाइन कर ली क्योंकि अनु कोलकाता से ही थी और मैं उसके और पास रहना चाहता था।

banny love story

अब मेरी खुशी सातवें आसमान पर थी लेकिन फिर जो हुआ उसने मुझे तोड़कर रख दिया। मैं कोलकाता गया तो उसने मुझे बोला कि मैं मिल नहीं सकती। मैंने कारण पूछा तो बताया नहीं। वो आज भी रहस्य ही है मेरे लिए। फिर धीरे-धीरे मुझे उसके दोस्तों से पता चला कि मुझसे पहले वो एक लड़के से मिलने जमशेदपुर तक गई हुई है, घर से झूठ बोलकर लेकिन मुझसे मिलने कोलकाता में घर से नीचे नहीं आ सकती।

फिर धीरे-धीरे मुझे पता चला कि उसने मुझे अपनी फ्रेंडलिस्ट में एड क्यों नही किया? वो फेसबुक पर 5-6 ग्रुप चलाती थी मनोरंजन के लिए और वो मुझसे छुपाना चाहती थी। बहुत बार ऐसा होता था कि वो मुझे बोलती थी कि मैं बिजी हूं या तबियत सही नहीं है लेकिन फिर मुझे उसके ही दोस्त स्क्रीनशॉट भेजते कि देख यार ये तो उस ग्रुप में मस्ती कर रही है। ऐसे अनगिनत झूठ सामने आए लेकिन मेरी आंखों पर कौन सा चश्मा लगा था, मैं समझ नहीं पाया। मैंने अपने दिल पर पत्थर रख कर सवाल करने शुरू किये।

अब मैं अंदर ही अंदर घुटने लगा था क्योंकि मुझे उसे खोने का डर था लेकिन फिर भी मैंने सवाल किये और हर सवाल का एक ही जवाब वो देती थी कि बनी तुम नहीं समझोगे। आज भी मेरे पास अनगिनत स्क्रीनशॉट हैं जो मेरी बर्बादी के सबूत हैं। मैं इस कदर पागल हो गया था। मेरी ब्लैक कलर की टीशर्ट है क्योंकि अनु का पसंदीदा कलर है। सबकुछ उसके हिसाब से था मेरा सूटकेस से लेकर जूतों तक।

जॉब ऐसी थी कि महीने में 20 दिन प्लेन में रहता था लेकिन प्लेन उड़ने के बाद फोन खुद ब खुद बंद होता था पर मैं मन ही मन अनु से बात करता रहता था। लोग स्टोरी पढ़कर क्या सोचेंगे, पता नहीं लेकिन मैंने उससे दिल से प्यार किया। आज भी मानता हूं कि अब भी वो अगर आये तो सबकुछ भूल कर मैं उसे अपनाने को तैयार हूं।

मेरी आज की हालत ये है मैं रात को 3-3 घण्टे फव्वारे के नीचे नहाता रहता हूं। पंजाबी गाने सुनता रहता हूं। लगता है या तो कोई बीमारी हो जायेगी या पागल हो जाऊंगा …….

# लवयूअनु # तुम्हारा बन्नी

Read real life love stories and original shayari by Rajeev Singh

Advertisements