उसने हम दोनों बहनों को धोखा दिया और हम उसके जाल में उलझ गए – अंजलि की लव स्टोरी

मैं एमपी से अंजलि हूं। 23 साल की हूं। ये 2012 के उन दिनों की बात है जब मैं 11वीं क्लास में थी। एक दिन एक लड़का मेरी मां और बहन के साथ मेरे घर आया। उसे देखा तो ऐसा लगा जैसे मेरी जिंदगी ठहर गई हो। उसने मुझे देखा और मैंने उसे देखा। बहुत अच्छा लगा था उससे मिलकर और इसके बाद वो चला गया। फिर मैं और मेरी बहन एक शादी में गए थे तो वहां मेरी बहन ने मेरे फोन से उसी लड़के से बात की थी। धीरे-धीरे मेरी बहन की उस लड़के से लव स्टोरी स्टार्ट हो गई।

एक दिन मेरे फोन पर एक नंबर से कॉल आया जिसे मैं नहीं जानती थी। वो मुझे कई बार कॉल करता पर मैं उठाती नहीं थी। कई दिनों तक इग्नोर करने के बाद मैंने एक बार उठा लिया तो उससे बात कर मुझे बहुत अच्छा लगा और हम दोनों की भी बातें नॉर्मली इसके बाद होती रहीं। एक दिन बातों-बातों में उसने मुझे प्रपोज किया और बोला कि मैं तुमसेmona love story बहुत प्यार करता हूं। उसने मुझसे बताया कि उसने एक झूठ छुपाया है। मैंने पूछा तो उसने बताया कि मैं वही लड़का हूं जो तुम्हारी मां और बहन के साथ एक दिन तुम्हारे घर आया था। उसने बताया कि मेरी बहन से उसकी बात होती है।

 

मैं ये सब सुनकर बहुत परेशान हो गई और कुछ भी समझ में नहीं आया कि मैं क्या करूं। काफी सोचा और उस लड़के की बातों में मुझे सच्चाई लगी और मैंने उसका प्रपोजल एक्सेप्ट कर लिया और उससे बोला कि मेरी सिस्टर से बात करना बंद कर दो। मेरी बहन शादीशुदा थी और उसका तलाक केस चल रहा था और वो काफी परेशान रहती थी। मैं अपनी स्टडी में बिजी थी लेकिन उस लड़के से बहुत प्यार करने लगी थी और हम खुश भी थे।

मुझे पता नहीं था कि वह पीठ पीछे मेरी बहन से भी बात करता था और मुझे यह जानकर बहुत बुरा लगा। मैंने उसे समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन वो नहीं माना। कुछ समय तक मैंने बर्दाश्त किया क्योंकि मेरी बहन बहुत परेशान थी और मैं चाहती थी कि वो बस खुश रहे। मैंने अपने बीएफ से बात कर यह तय किया वो मेरी बहन से बस एक दोस्त की तरह बात करेगा और उसकी मदद करेगा। मुझे बुरा तो बहुत लगता था लेकिन मैंने अपनी बहन के लिए ये किया।

धीरे-धीरे समय निकलता गया और मैं 12वीं में पहुंच गई। मेरी बहन उस लड़के से प्यार करने लगी और घर पर उसने उस लड़के से शादी करने की बात बोल दी। मेरी फैमिली ने कोई रिएक्शन नहीं दिया लेकिन जब मैंने सुना तो उस लड़के से पूछा। वो साफ मना कर गया और बोला कि मैं तो तुम्हारी बहन से बात नहीं करता। मैंने उसकी बात पर यकीन कर लिया। मैं बीए फर्स्ट ईयर में आ गई तब मैंने डिसीजन लिया कि अपनी बहन की खुशी के लिए उस लड़के से प्यार का रिश्ता तोड़ लूंगी।

मैंने उस लड़के से बात करनी बंद कर दी और लगभग तीन महीने गुजर गए। उसे भुलाने की बहुत कोशिश की लेकिन नहीं कर पाई। फिर बात शुरू हो गई तो उसने कहा कि वो मेरी बहन से प्यार नहीं करता, सिर्फ मुझसे प्यार करता है। वो ये एक्सेप्ट करने के बावजूद मेरी बहन से जुड़ा हुआ था। मुझे उसके और सिस्टर के बीच क्या चल रहा है ये पता चल जाता था लेकिन उसने अपनी गलती कभी एक्सेप्ट नहीं की। सच ये था कि मैं उससे बहुत बात करती थी और उसकी हर बात मानती थी। ये सब 2012 की बात है और अभी 2018 चल रहा है।

वो आज भी मेरी सिस्टर से भी जुड़ा है और मुझे भी छोड़ना नहीं चाहता। उसने मेरी एक गलती का फायदा उठाया। एक बार हम दोनों में फिजिकल रिलेशन बने जिसकी उसने फोटो और वीडियो बना ली थी। उसने मेरी इसी कमजोरी और मजबूरी का फायदा उठाया। इसके बाद वो जो कहता, मुझे करना पड़ता। मुझे आज भी उस गलती पर बहुत पछतावा होता है। मेरी सिस्टर को भी वो किसी से मैरिज नहीं करने नहीं दे रहा। उस लड़के ने हम दोनों बहनों को बहुत धोखा दिया।

उसने जब जो चाहा, उसके लिए मैंने पिछले छह सालों में वो किया। उसने मेरी गंदी फोटो और वीडियो बना ली जो मेरी मजबूरी बन गई है। एक दिन उस लड़के ने मेरे पापा के पास वो फोटो भेज दी जिसकी वजह से मेरी लाइफ खराब हो गई। मेरे परिवार को सब पता चल गया और उन्होंने अपनी इज्जत के लिए इस बात को दबाया। मेरी बहन ने घर में उस लड़के को सपोर्ट किया और मेरा साथ घर में कोई नहीं दे रहा। मेरी बहन को उस लड़के की बेवफाई समझ में नहीं आ रही।

मेरी बहन को लगता है कि वो लड़का उससे शादी करेगा लेकिन वो ये नहीं जानती कि वो लड़का कभी शादी नहीं करेगा। वो लड़का आज भी मुझे परेशान करता है। वो आज भी परिवार को बदनाम करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करता है और गालियां देता हैं। अपनी गलती एक्सेप्ट नहीं करता। मैं इस लड़के से कैसे छुटकारा पाऊं।

मेरी फैमिली की मजबूरी है कि वो उस लड़के को बर्दाश्त कर रही है क्योंकि दो बेटियों की जिंदगी का सवाल है। वो लड़का आज भी हम दोनों बहनों से जुड़ा हुआ है और धोखा दे रहा है। मैं उस लड़के से छुटकारा पाना चाहती हूं और बहन की जिंदगी भी बचाना चाहती हूं। मेरी बहन उसी से शादी करना चाहती है, फैमिली वालों ने बहुत समझाया कि लड़का फ्रॉड है लेकिन वो समझने को तैयार ही नहीं है।

Advertisements

जज्बात फेसबुक पेज की वजह से प्रेमी जोड़ों की जान बची

इस पेज की वजह से कुछ लोगों की जान भी बची है। 5 महीने पहले एक रात को ऐसी ही घटना हुई थी। उस रात अगर मैंने सोने से पहले जज्बात पेज का वाट्सएप चेक न किया होता तो शायद कुछ बुरा हो सकता था। लगभग 12 बजे मैं सोने जा रहा था तो मैंने जज्बात पेज के नंबर का वाट्सएप देखा तो एक लड़की श्रद्धा का मैसेज था – उसने लिखा था कि दिल्ली में उसका परिवार रहता है और वहीं मोहल्ले के लड़के से उसका अफेयर था।

इस अफेयर के बारे में जैसे ही श्रद्धा के परिवार को पता चला, उन्होंने उसको दिल्ली से आजमगढ़ भेज दिया और जल्दबाजी में यूपी पुलिस के एक सिपाही से उसकी शादी तय कर दी। जिस दिन सगाई होनी थी, उससे ठीक एक दिन पहले श्रद्धा और उसके लवर ने चुपके से भागने का प्लान बनाया। लड़का दिल्ली से आजमगढ़ की ओर चला और उधर श्रद्धा भी तैयारी में थी लेकिन उसके घर वालों को इस भागने के प्लान के बारे में पता चल गया।

shradha love story

दरअसल लड़के ने दिल्ली से आजमगढ़ जाने से पहले वहां कुछ लोगों को इस बारे में बता दिया और उन लोगों ने श्रद्धा के मां-बाप को इसकी जानकारी दे दी थी। लड़का ट्रेन में था और इधर आजमगढ़ में श्रद्धा के घर के लोग रेलवे स्टेशन पर उसका इंतजार कर रहे थे। वो लोग लड़के के साथ कुछ भी कर सकते थे, इस डर से श्रद्धा सहम गई थी और वह चोरी से रखे गए एक मोबाइल से लगातार अपने लवर को वापस दिल्ली लौटने को कह रही थी।

लेकिन लड़का लौटने को तैयार नहीं था, वह श्रद्धा से कह रहा था कि वो जान दे देगा लेकिन आजमगढ़ जरूर आएगा। अभी ट्रेन कानपुर से पीछे ही थी कि श्रद्धा का मैसेज मेरे पास रात को आया था। उसने मुझसे कहा कि आप ही किसी तरह उसको समझाइए कि वो आजमगढ़ न आए, उसकी जान को खतरा है। मैं भी बात सुनकर परेशान हुआ लेकिन जानता था कि दीवाने को बस उसकी प्रेमिका ही रोक सकती थी।

मैंने श्रद्धा से कहा कि तुम उसको बोलो कि जान बचेगी तब तो हम दोनों मिल पाएंगे और कहो कि हम जरूर मिलेंगे लेकिन इस वक्त लौट जाओ। मैंने कहा कि श्रद्धा आज की रात जितने वादे कर सकती हो, झूठ भी बोलना पड़े तो बोलो लेकिन इसको ट्रेन से उतारना है। इसके बाद वो फिर से लड़के को मनाने लगी और आखिरकार रोते-धोते वो कानपुर स्टेशन पर उतरने के लिए तैयार हो गया। श्रद्धा ने उस लड़के को मेरा नंबर दे दिया था।

अगले दिन श्रद्धा की सगाई हो गई और इधर लड़का दिल्ली पहुंचा तो मुझे परेशान करने लगा। मैंने कहा कि वकील और पुलिस की मदद लो। लड़का काफी परेशान था लेकिन मुझे इस बात की खुशी थी कि भले श्रद्धा की सगाई किसी और से हो गई लेकिन दो जानें बच गईं। उस दिन के बाद अचानक श्रद्धा गायब हो गई और लगभग दो महीने बाद उसने मुझे नए नंबर से मैसेज किया।

श्रद्धा ने कहा कि मैंने मां-बाप के लिए जिंदगी में आगे बढ़ने का फैसला लिया है। उसके लवर ने भी कोशिश करनी छोड़ दी क्योंकि श्रद्धा ने फोन पर बाद में उसको साफ मना कर दिया था कि उसकी सगाई हो चुकी है और अब वो मां-बाप की इज्जत की परवाह करती है। दरअसल सगाई के ठीक बाद श्रद्धा के मां-बाप ने उसको रिश्तों और इज्जत का वास्ता दिया था जिसके बाद वो मजबूर हो गई थी।

श्रद्धा ने मुझसे कहा कि मैंने खुद को किस्मत के भरोसे पर छोड़ दिया है। मैं नहीं जानती कि आगे मेरा क्या होगा? और आखिरी बात जो उसने कही, वो मैं कभी भूल नहीं पाऊंगा। उसने कहा कि अगर कभी उसका लवर मिले तो कहिएगा कि श्रद्धा उसकी जान बचाने के लिए बेवफा हो गई।

Read real life love stories and original shayari by Rajeev Singh

Advertisements