Category Archives: टॉप हिंदी शायरी

shayari – अहसासों को अपने दिल में न दबाया करो

shayari latest shayari new

चलती सांसों को शायरी इमेज

अहसासों को अपने दिल में न दबाया करो
जो भी कहना हो उसे खुलकर बताया करो

जिंदगी के दर्द को तुम छुपाते हो क्यों हमसे
मेरी सुनो और तुम अपनी भी सुनाया करो

ये वादा है तुमसे कि तेरा हर जख्म भर दूंगी
मेरी मोहब्बत पे ऐतबार कर आ जाया करो

साथ दो मेरा कि मैं अपने वजूद को पा सकूं
चलती सांसों को कोई मकसद दिलाया करो

shayari green pre shayari green next

Advertisements

शायरी इमेज – तेरी खुशी के लिए समझौता किया वरना

new prev new shayari pic

तेरी खुशी शायरी इमेज
तेरी खुशी के लिए समझौता किया वरना
अपनी मजबूरियों के आगे झुके कब थे

prev shayari green next shayari green

शायरी – मेरे मरने की खबर पाने की बेकरारी में

new prev new next

हम बंद करके दिल का कारोबार बैठे हैं
बेदिल जहां से रुखसती को तैयार बैठे हैं

पूछते हैं वो, लाश घर से कब निकलेगी
मेरे दरवाजे पर कुछ अजीज यार बैठे हैं

मौका देखकर मेरा कत्ल कर देने को
आसपास न जाने कितने रिश्तेदार बैठे हैं

मेरे मरने की खबर पाने की बेकरारी में
खिड़की पे देर तक मेरे दिलदार बैठे हैं

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – और आज भी वो मेरे बुरे हालात से अंजान है

love shayari hindi shayari

सर्दी की ठिठुरती रात में फुटपाथ पर अरमान है
दिलबर मुझसे दूर किसी और पे मेहरबान है

हर कदम पे जिंदगी में दर्द के निशां छोड़ते रहे
जिस रास्ते से मैं गया वो आज भी सुनसान है

वो रोज देखते हैं हमें मुफलिसों के लिबास में
और आज भी वो मेरे बुरे हालात से अंजान है

दुनिया की भीड़ में जिसे तलबगार न मिला
इस अक्ल के बाजार में ये दिल बड़ा नाकाम है

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – आशिक को इस तरह क्यों आजाद करती हो

love shyari next

टूटे रिश्ते को जोड़ने की फरियाद करती हो
क्यों अपना वक्त फिर से बर्बाद करती हो

इतनी दूर चला जाय कि वो वापस नहीं लौटे
आशिक को इस तरह क्यों आजाद करती हो

तेरी खामोशी ने जिसको खत्म कर दिया था
उस कहानी पर क्यों अब तुम बात करती हो

हम दोनों के रहगुजर अब अलग हो चुके हैं
मंजिल जो मिट गई उसे क्यों याद करती हो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दुनिया में कहां फिर दीवाने मिलेंगे

love shyari next

अक्ल से ही जहां सभी काम लेंगे
दुनिया में कहां फिर दीवाने मिलेंगे

बेवफाई के लाखों बहानों  को लेकर
मुहब्बत में कितने सयाने मिलेंगे

अभी तो दिल का झरोखा है देखा
अंदर जाने कितने तहखाने मिलेंगे

यहां बिन पिए आदमी है बहकता
इश्क में ऐसे-ऐसे मयखाने मिलेंगे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari