Tag Archives: अक्ल पर शायरी

शायरी – और आज भी वो मेरे बुरे हालात से अंजान है

love shayari hindi shayari

सर्दी की ठिठुरती रात में फुटपाथ पर अरमान है
दिलबर मुझसे दूर किसी और पे मेहरबान है

हर कदम पे जिंदगी में दर्द के निशां छोड़ते रहे
जिस रास्ते से मैं गया वो आज भी सुनसान है

वो रोज देखते हैं हमें मुफलिसों के लिबास में
और आज भी वो मेरे बुरे हालात से अंजान है

दुनिया की भीड़ में जिसे तलबगार न मिला
इस अक्ल के बाजार में ये दिल बड़ा नाकाम है

©RajeevSingh #love shayari

Advertisements

शायरी – दुनिया में कहां फिर दीवाने मिलेंगे

love shyari next

अक्ल से ही जहां सभी काम लेंगे
दुनिया में कहां फिर दीवाने मिलेंगे

बेवफाई के लाखों बहानों  को लेकर
मुहब्बत में कितने सयाने मिलेंगे

अभी तो दिल का झरोखा है देखा
अंदर जाने कितने तहखाने मिलेंगे

यहां बिन पिए आदमी है बहकता
इश्क में ऐसे-ऐसे मयखाने मिलेंगे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari