Tag Archives: अक्स शायरी

शायरी – मुहब्बत में जिंदगानी यूं पाले बदलती है

love shayari hindi shayari

अपनी ही सांस किसी और की लगती है
मुहब्बत में जिंदगानी यूं पाले बदलती है

आज न कल हसीन चांद कहीं तो टपकेगा
इसी उम्मीद में ये जमीं दिन-रात चलती है

तेरा अक्स खींचता रह गया मैं गजलों में
न जाने कितने चेहरों में तू रोज मिलती है

कोई इस पार से उस पार आखिर कैसे पहुंचे
जब बीच समंदर में तू कश्ती से उतरती है

©RajeevSingh #love shayari

Advertisements

शायरी – तुम्हें याद करने को तरस सा गया हूं

love shayari hindi shayari

तुम्हें याद करने को तरस सा गया हूं
इस दुनिया में मैं इतना उलझ सा गया हूं

मरने के बाद मुझको आग मत लगाना
कि जीवन की चिता में झुलस सा गया हूं

आईने में दिखता है टूटा सा अक्स अपना
जख्मों की चोट खाकर यूं चटक सा गया हूं

अब कैसे संभालू मैं अपने जिगर के टुकड़े
अपने ही दिल में देखो बिखर सा गया हूं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मेरी खातिर तेरे दिल में दुआ भी नहीं

love shayari hindi shayari

हमें तुम छोड़ गए हो, ये सोचा भी नहीं
जिसे तुम तोड़ गए हो, वो टूटा कि नहीं

तुम दामन में समेटती हो गैरों की वफा
मेरी खातिर तेरे दिल में दुआ भी नहीं

तेरी पलकों में बसे थे दर्द के शबनम
उन निगाहों में अब कोई हया भी नहीं

तेरा अक्स जवां है किसी और के आईने में
मेरी किस्मत में अब तेरा साया भी नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मुझे हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे

love shayari hindi shayari

रेत अब बूंद लगे और बूंद की प्यास लगे
हूं समंदर में मगर रेगिस्तां मुझे पास लगे

मेरी रूह पे रह गया मोहब्बत का निशां यूं
फासला तुमसे हुआ तो तुम मुझे पास लगे

देखते रह गए तेरी हसीन तस्वीर को हम
पल पल तेरा अक्स मुझे आंखों क पास लगे

दर्द में पाया तुझे और मैं रो पड़ा अक्सर
मुझे  हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – सीने की गहराइयों में मुहब्बत जिंदा दफन है

prevnext

सीने की गहराइयों में मुहब्बत जिंदा दफन है
उसपे बिछा मेरे जिस्म का सादा कफन है

ये मौत जिंदगी के करीब ले आई है
और जिंदगी में अब तू ही तू समाई है

अपना ही साया है ये रात का अँधेरा भी
अपना ही अक्स है ये चाँद का चेहरा भी

आज जहाँ भी रहूँ जमीं-आस्मा बदलती नहीं
शहर की रौनक से मेरी तबियत बहलती नहीं

घर-शहर-देश की सरहदें मैं नहीं जानता
मैं जानता हूँ बस तेरे दर्दे-मुहब्बत को

और आँसू के उन सच्चे कतरों को
जिसे मैंने तेरी प्यासी उदासी में देखा है

तेरे उजड़े हुए बाल और मरता सा बदन
मुझे याद है बस एक जोगन जो तेरे जैसी है

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – वो शख्स बेवफाई का एक जिंदा मिसाल था

love shyari next

न जीतने की जिद ही थी, न हारने का सवाल था
मुझे जिंदगी में हर कदम पर मौत का खयाल था

किसको कहूं और क्या कहूं, फिर सोचता हूं क्यूं कहूं
यहां दोस्त हैं कई मगर, हमराज का अकाल था

खुलते गए मेरे सामने दरवाजों में लगे आईऩे
देखा कि उस मकान में हर अक्स बदहाल था

आंखों में जिनके बस गई दुनिया भर की रौनकें
वो शख्स बेवफाई का एक जिंदा मिसाल था

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दूर मत जा ऐ मेरे गम, वो चले जाएंगे

love shyari next

दूर मत जा ऐ मेरे गम, वो चले जाएंगे
दर्द मिट जाएगा तो वो भी नहीं आएंगे

सब्र करके ही तो जिंदगी को जी रहे हैं हम
वरना बेचैनी है इतनी कि हम मर जाएंगे

कल जहां पानी था वहां रेत के टीले हैं बचे
क्या खबर थी कि मेरे दरिया भी सूख जाएंगे

शाम का आईना माजी का अक्स लाया है
आज फिर वो खयालों में मुझे मिल जाएंगे

माजी- अतीत, Past
अक्स- प्रतिबिंब, image

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari