Tag Archives: आंसुओं की शायरी

शायरी – मिटाओ इस तरह हमको कि कोई निशां न रहे

new prev new next

मिटाओ इस तरह हमको कि कोई निशां न रहे
तेरी फिजा में मेरी मोहब्बत की दास्तां न रहे

मेरी तस्वीर जो किसी कोने में तुम रखती हो
उसपे तन्हाइयों में तेरा दिल मेहरबां न रहे

आंसुओं से जो रोज ये चेहरा अपना धोती हो
उसे देखने के लिए आशिक का आईना न रहे

मैं अंधेरे में अक्सर ये सोचता रहता हूं
कि मेरी तलाश में अब कोई भी शमा न रहे

©RajeevSingh

शायरी – तेरी आंखों में भी हमने आंसू ही तो देखे थे

love shayari hindi shayari

बंद आंखों में ये आंसू जलते गए, जलते गए
नींद में भी दर्दे राह पे चलते गए, चलते गए

आंसुओं से रंग दी हमने अपनी कितनी ही गजलें
रो-रो के ही दिल की बातें लिखते गए, लिखते गए

लोगों ने शम्मे जलाए जाने किन-किन चीजों से
हम दो शम्मे में आंसुओं को भरते गए, भरते गए

तेरी आंखों में भी हमने आंसू ही तो देखे थे
इसलिए तो तुमसे मुहब्बत करते गए, करते गए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari