Tag Archives: आग शायरी

शायरी – अश्क भर-भर के रह गए हैं इन आंखों में

love shyari next

गम ही खाता हुआ और दर्द को पीता हुआ
जिस्म भी था मगर एक रूह को जीता हुआ

जल रहे शोले की मानिंद दिल की लकड़ी है
आग में जलके भी उस आग को सुलगाता हुआ

अश्क भर-भर के रह गए हैं इन आंखों में
तेरी सूरत का कंवल आईने को दिखलाता हुआ

मेरी दुनिया तेरी दुनिया से अलग है साकी
इश्क का मय ही इस रूह को पिलाता हुआ

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जब कभी मुझको याद आती हो

new prev new shayari pic

जब कभी मुझको याद आती हो
तुम मेरे दिल में आग लाती हो

मेरी तन्हाई के दर्दभरे अंधेरों में
खामोशी से मुझको रुलाती हो

दिल अश्कों को पीता रहे हमेशा
इसलिए प्यासे को भूल जाती हो

तुम अपनी उलझनों में फंसकर
कभी मिलने को कहां बुलाती हो

©राजीव सिंह शायरी