Tag Archives: आसमां शायरी

शायरी – अब किसी दगाबाजी से दिल नहीं दुखता

new prev new shayari pic

जाने किसके लिए जमाने के बाद तरसा है
आसमा आज रो रो कर बेपनाह बरसा है

मैं अभी झील हूं, बरसाती नदी न बन जाऊं
मेरे शहर के बाशिंदों को हो गया डर सा है

वह बार बार एक दरवाजे से लौट जाता है
भले बुलाती है वो कि आ ये तेरे घर सा है

अब किसी दगाबाजी से दिल नहीं दुखता
कई बार खाए धोखों का हुआ असर सा है

©rajeev singh shayari

Advertisements

शायरी – इश्क की लहरों के भंवर में हमको एक दिन डूब है जाना

love shayari hindi shayari

दुनिया के इन शहरों से तुम गम की बस्ती दूर बसाना
आशिक मस्तानों की फितरत मेरे दिल तू भूल न जाना

उतर पड़े हैं समंदर में जज़्बातों की कश्ती लेकर
इश्क की लहरों के भंवर में हमको एक दिन डूब है जाना

चांद की चाहत में भटकता बादल भी तो फकीर हुआ
आसमां की बेमंजिल राहों पे देखो चलता रहा दीवाना

दर्द भरी मासूम आंखों में जबसे देखी है एक बेचैनी
करके याद उसकी सूरत को टूटके बिखरा है आईना

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – हुस्न है जैसे एक कयामत और बला उसका अफसाना

love shayari hindi shayari

कलम चले हैं उसके खातिर, लिख डाला उसका अफसाना
हुस्न है जैसे एक कयामत और बला उसका अफसाना

शाख पे पत्तों के जीवन ने अक्सर दिल हैरान किया
पल-पल टूटने के खतरों से जूझता है उसका अफसाना

इस दुनिया में जाने कितने दर्द सुनाने आते हैं
मुश्किल है अब तय करना, कौन सा है किसका अफसाना

मंजिल की क्या फिक्र फकीरा, राह ही जिसका साथी है
चांद लिखता है रातों को आसमां पे उसका अफसाना

©RajeevSingh # love shayari