Tag Archives: इंसां शायरी

शायरी – हर दामन में शोला है

love shayari hindi shayari


हर दामन में शोला है
जीवन आग का गोला है

दुख की अग्नि एक चिता है
इंसां लाश का चोला है

अपने लड़ते हैं अपनों से
हर घर में ये झमेला है

दुनिया के ये सारे लफड़े
बेमतलब का खेला है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – बेखुद मेरी तन्हाइयां किस राह पर हाय चल पड़ी

love shayari hindi shayari

आवाज न कोई दूर तक, आहट न कोई दूर तक
इंसां न कोई हमसफर, चाहत न कोई दूर तक

बेखुद मेरी तन्हाइयां किस राह पर हाय चल पड़ी
मकां न कोई दूर तक, मंजिल न कोई दूर तक

मुसाफिरों की भीड़ में कुछ लोग जो मितवा हुए
वो रह गए रुककर कहीं, मैं चल पड़ा कहीं दूर तक

दरिया ही एक महबूब है, वो चांद ही एक यार है
मेरी आंख भी बहती रही, जलता गया दिल दूर तक

©RajeevSingh #love shayari