Tag Archives: ईमान शायरी

शायरी – दोस्त बनाकर उसने मेरा कत्ल किया

new prev new shayari pic

घर घर की कहानी जान मुझे हैरानी है
रिश्तों के पीछे कितनी नमकहरामी है

बेईमानों की जेब में तो अब समंदर है
ईमानों के रेगिस्तान में क्यों वीरानी है

खुदा क्या इश्क भी वो नहीं जानती
लोग कहते हैं कि वो बहुत दीवानी है

दोस्त बनाकर उसने मेरा कत्ल किया
उसकी सूरत पे शिकन न परेशानी है

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements

शायरी – जिन्हें देखिए वही बेवफा, अपने यहां देते हैं दगा

love shayari hindi shayari

जिसे दर्द है, वहीं सोग है, जहां इश्क है, वहीं जोग है
ये दुनियावाले क्या जानें, जो कहते हैं ये रोग है

मैं टूटकर जुड़ा नहीं, ईमान से गिरा नहीं
जहां आंसू देखा, रो पड़ा, मेरा दिल इतना कमजोर है

जिन्हें देखिए वही बेवफा, अपने यहां देते हैं दगा
किनसे कहूं ये बातें भी, सब तो यहीं के लोग हैं

तकदीर का मैं क्या करूं, जो भी दिया, दुख ही दिया
मेरा जीना भी संयोग है, न मरने में मेरा दोष है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – नजर की लाज बच गई तुझे देखके ऐ जानेजां

love shayari hindi shayari

ईमान से वो गिर गए पर उठ गए बेईमान से
शैतान जो पर्दे में थे, वो पूजे गए इंसान से

पत्थर से पूछ बैठे हम आईनों के हाले-दिल
उनका जवाब आया कि लगते हो तुम नादान से

करवट बदलता रह गया ये रोशनी आठों पहर
सब देखो परेशान हैं जीवन की सुबहो शाम से

नजर की लाज बच गई तुझे देखकर ऐ जानेजां
वरना मैं तो नाराज था बेवफाओं के जहान से

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari