Tag Archives: कफन शायरी

शायरी – जान में भी तू ही बसी है

love shayari hindi shayari

खोने भर को जान बची है
जान में भी तू ही बसी है

एक कफन मुफलिस को दे दो
तुमको आंचल की क्या कमी है

तेरी उल्फत भी अब मुझको
आखिरी मंजिल पे ला चुकी है

अब जगाना न मुझे आके
बरसों बाद तो आंख लगी है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – दर्द खुद को ही यूं मिटाता है

love shyari next

किसने तोड़ा है सागर मैखाने में
कोई टूटा है शायद मैखाने में

मैंने सर पे कफन जबसे बांध लिया
सब डरते हैं मुझसे जमाने में

दर्द खुद को ही यूं मिटाता है
अश्क दिखते नहीं सिरहाने में

आज भी सीने में वो खुशबू है
कोई आया था कभी इन बाहों में

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ऐ दिल मुझे भी जला ले, जला ले

love shayari hindi shayari

बरसते नहीं हैं हुस्न के उजाले
चाहे तू कितना ही आंसू बहा ले

सब कुछ तो तुमने जला ही दिया है
ऐ दिल मुझे भी जला ले, जला ले

उल्फत की आग बुझी है दिल में
जब जी में आए चिंगारी उड़ा ले

कफन ओढ़कर आया तेरे दर पे
सीने से नहीं तो कांधे से लगा ले

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जाम छलके है दिल से, कहां रखूं इसे

love shayari hindi shayari

कोई इतना भी तन्हा नहीं है तेरे सिवा
कोई जानता नहीं इसकी वजह मेरे सिवा

ओढ़ती हूं मैं तुम्हारे ही खयालों का कफन
पैरहन है भी नहीं पास अब तुम्हारे सिवा

जाम छलके है दिल से, कहां रखूं इसे
कोई पैकर नहीं है दो निगाहों के सिवा

उदास होते हो मेरे नाम पे, क्यूं रोते हो
क्या कोई और नहीं है तेरा मेरे सिवा

पैरहन – कपड़े
पैकर – बर्तन

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जा रहा हूं मैं जिंदा ही तेरी दुनिया से

love shayari hindi shayari

धूप में डूबके हसीन चांद निकल आया है
आग में जलके कोई आशिक निकल आया है

जो कफन ना दे मगर मौत की दुआएं दे
देख तेरे दर पे ये कौन दोस्त आया है

जा रहा हूं मैं जिंदा ही तेरी दुनिया से
तेरे गम से अब मेरा जी भर आया है

बेबसी साथ है लेकिन अभी मजबूर नहीं
अपनी तन्हाई में भी मुझको जीना आया है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तन्हा ही रहने ही आदत है हमको

love shayari hindi shayari

तन्हा ही रहने की आदत है हमको तो लोगों से मिलके क्या करें
अपनी खबर जब हमको नहीं है तो किसके बारे में क्या कहें

 जब थे चले हम अपने सफर पे कोशिश तो की थी मिलने की सबसे
लेकिन हमें तब तज़रबा हुआ था कि इन बेवफाओं से क्या मिलें

देखा है जबसे नंगी हकीकत कपड़े पहनने कम कर दिए हैं
जरुरत है आखिर में एक कफन की तो जिस्म सजाके क्या करें

फक़ीरों के जैसा ही जीना मुनासिब, दिल की सोहबत में मरना अच्छा
लगता है वाज़िब तन्हा ही जीना तो दुनिया में जाके क्या जीएं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – सीने की गहराइयों में मुहब्बत जिंदा दफन है

prevnext

सीने की गहराइयों में मुहब्बत जिंदा दफन है
उसपे बिछा मेरे जिस्म का सादा कफन है

ये मौत जिंदगी के करीब ले आई है
और जिंदगी में अब तू ही तू समाई है

अपना ही साया है ये रात का अँधेरा भी
अपना ही अक्स है ये चाँद का चेहरा भी

आज जहाँ भी रहूँ जमीं-आस्मा बदलती नहीं
शहर की रौनक से मेरी तबियत बहलती नहीं

घर-शहर-देश की सरहदें मैं नहीं जानता
मैं जानता हूँ बस तेरे दर्दे-मुहब्बत को

और आँसू के उन सच्चे कतरों को
जिसे मैंने तेरी प्यासी उदासी में देखा है

तेरे उजड़े हुए बाल और मरता सा बदन
मुझे याद है बस एक जोगन जो तेरे जैसी है

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – कौन सा फूल चुनूँ तेरी बंदगी के लिए

prevnext

दर्द इतना है जरूरी जिंदगी के लिए
नूर जितना है जरूरी निगाहों के लिए

एक नन्हा सा दीया बारहा जलता रहा
वही जुगनू था मुझे राह दिखाने के लिए

तेरे इस हुस्न को देखके ये उलझन थी
कौन सा फूल चुनूँ तेरी बंदगी के लिए

जब भी दीवाना हुआ पानी इस दरिया में
चाँदनी आई थी कफन ओढ़ाने के लिए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मेरे दिल का तुझे खयाल नहीं

love shayari hindi shayari

जानेवाले मुझे तुम बुझाकर जाओ
हो सके तो फिर से जलाकर जाओ

मेरे आंचल का एक-एक रेशा-रेशा
खींचकर एक कफन बुनकर जाओ

मेरे दिल का तुझे खयाल नहीं
इस जनाजे को ही यादकर जाओ

रोकना चाहूं तो मैं तुझे कैसे रोकूं
जो मुझे तुम गैर समझकर जाओ

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – उसकी आंखों में तुमसे इश्क सा नजर आए

prevnext

दुख के श्मशान में एक कब्र है जीवन का
जिसे भी देखिए वो लाश सा नजर आए

दिल में हंसते हुए आए थे वो मैयत पे
चेहरे से जो गम में डूबे से नजर आए

जिन मजारों पे कोई फूल न दिखता हो
वो किसी आशिक के घर सा नजर आए

जो कफन को देखते हैं तेरे आंचल में
उसकी आंखों में तुमसे इश्क सा नजर आए

©RajeevSingh