Tag Archives: कसम शायरी

शायरी – दर्द की लहरों से जब भीगती है ये आंखे

love shayari hindi shayari

नजरे-मुहब्बत का बस इतना है फसाना
हम तुझे देखते हैं, हमें देखे है जमाना

दलदल भरे रिश्तों से बचके निकल चले
कसम खाए हैं, अब खुद को नहीं रुलाना

चांद की तन्हाई में अब यूं खो चुका हूं मैं
ऐ सितारों अपनी भीड़ में हमको न बुलाना

दर्द की लहरों से जब भीगती है ये आंखे
बहुत मुश्किल होता है समंदर को दबाना

नजरे मोहब्बत- मोहब्बत की नजर

Advertisements

शायरी – लिखती हूं तेरा नाम, तेरे इंतजार में

love shayari hindi shayari

प्यासी मैं प्यासी कितना तेरे इस प्यार में
जीना मरना अब यारा तेरे इस प्यार में

दिल की किताबों में हमने लिखा है
कोरे कागज पे तेरा नाम लिखा है
लिखती हूं तेरा नाम, तेरे इंतजार में
प्यासी मैं प्यासी इतना तेरे इंतजार में

ले ले तू इम्तहान मेरी वफा का
कुछ तो खबर लो मेरी खता का
दर्द है कितना मेरे दिले बेकरार में
प्यासी मैं प्यासी इतना तेरे इस प्यार में

कसम है, कसम है ऐ दूर रहनेवाले
दीवाने हम हैं ऐेसे दुआ करनेवाले
तुझको मांगू रब से सुबहो शाम मैं
प्यासी मैं प्यासी इतना तेरे इस प्यार में

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तुम हमारे लिए टूटे गुलाब लायी थी

love shayari hindi shayari

मैं जी रहा जिस हाल में, जी लेने दो
इस हालात में अब खुद पे रो लेने दो

बता रहे हो क्यूं अपनी मजबूरियों को
तुम मत जाओ, मुझे ही चले जाने दो

कई सदियों की खता है मुहब्बत भी
हर जनम में तुझे खोने की कसम खाने दो

तुम हमारे लिए टूटे गुलाब लायी थी
वो भी मुरझा गए, उसको बिखर जाने दो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – वो ही मुझमें समाई है उदासी की तरह

new prev new next

रात खामोश है मेरे दिलबर की तरह
बड़ा सुनसान है मेरे रहगुजर की तरह

मेरे आंसू से शीशे को भी गम होता है
आईना देख रहा है मुझे पत्थर की तरह

मेरी सूरत पे ये जो मायूसी के साये हैं
वो मुझमें समाई है उदास मंजर की तरह

नींद ने आज न आने की कसम खाई है
आज फिर आंख रोएगी समंदर की तरह

©RajeevSingh