Tag Archives: किताब शायरी

शायरी – मेरी आंखों में तेरी झलक की लकीर ही सही

meri aankhone me shayari

 

मेरी आंखों में तेरी झलक की लकीर ही सही
मेरे पास तू तो नहीं, तेरी एक तस्वीर ही सही

तेरी बाहों में मेरी खुशियों की धन दौलत है
तुझे पाने को भटकता दिल फकीर ही सही

इश्क की आखिरी सांसों की जिंदगी हो तुम
मरते रांझे के सीने में धड़कती हीर ही सही

तेरे जख्मों की किताब को पढ़ता है दीवाना
तेरी कहानी में जो मिले वो तकदीर ही सही

Written by Rajeev Singh

शायरी – मेरा इश्क भी तेरा हुस्न भी

love shayari hindi shayari


जिस मोड़ पे तू मिल गई
वहां एक नई राह खुल गई

तू नए किरण की बहार है
अब रात भी मेरी ढल गई

मेरा इश्क भी, तेरा हुस्न भी
गजलों में आके घुल गई

मेरी शायरी की किताब तू
कभी खो गई, कभी मिल गई


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – अंधेरी रात में तुम कभी ठोकर न खाओ

love shayari hindi shayari

सफर कट जाएंगे, बिछड़ के मर जाएंगे
तेरे बारे में लेकिन गजल कह जाएंगे

अंधेरी रात में तुम कभी ठोकर न खाओ
जहां पे तुम रहोगे, वहीं जल जाएंगे

न जुड़ पाया है हमसे ये टूटा आशियां भी
तेरे बिन ये हुनर हम कहां से पाएंगे

चले आए हैं लिखने इश्क की दास्तां हम
किताबों में ही हम-तुम संग रह जाएंगे

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – इस जमाने में जब मुहब्बत मिल जाएगा

love shayari hindi shayari

रेत पानी में उस वक्त घुल जाएगा
इस जमाने में जब मुहब्बत मिल जाएगा

हम ये कोशिश कई बार दुहराते तो हैं
पर किताबों से ये दिल क्या बहल पाएगा

आग से आती हुई गर्म हवाओं की तरह
आह निकले तो ये लहू भी जल जाएगा

वो जमाने में बुरा होके कुछ कैसे करे
कोई दीवाना क्या खुद को बदल पाएगा

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – हुस्न क्या चीज है, उन आंखों में डूबकर जाना

love shayari hindi shayari

हुस्न क्या चीज है, उन आंखों में डूबकर जाना
इश्क क्या होता है, अश्कों को बहाकर जाना

वो मुसलसल रहती है मेरे जिस्मो-जां में
अपने खयालों की किताबों को पढ़कर जाना

लुत्फ मिलता है गमे फिराक के मंजर में भी
हिज्र में चांद-सितारों के संग जागकर जाना

बुझ गया था वो चिराग मेरे जीवन का
मैंने शहनाई की आवाज को सुनकर जाना

गमे फिराक – जुदाई का गम
हिज्र – जुदाई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari