Tag Archives: कैद शायरी

शायरी – जिस शहर में सच्चा हमसफर न मिलेगा

new prev new shayari pic

जिस शहर में सच्चा हमसफर न मिलेगा
मुसाफिर वहां सफर में कहां तक चलेगा

हर जगह जहां बेवफाओं की महफिलें हैं
एक तन्हा उस मंजर में कहां तक टिकेगा

मकानों के कारवां में फंसके फड़फड़ाया
गलियों की कैद में परिंदा कहां तक रहेगा

चांद सूरज भी जहां अपना वजूद खो चुका
उस शहर में दीया फिर कहां तक जलेगा

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – इस दिल के सफर को काटना नहीं आसां

love shayari hindi shayari

लोगों को दुनिया की और अपनी खबर है
इस बेखबर को बस मुहब्बत की खबर है

इस दिल के सफर को काटना नहीं आसां
दिखते नहीं हैं राह पर मंजिल की खबर है

मैं आ रहा हूं रोज तेरे अंजुमन के पास
तुम कैद हो यहीं पे, हमको ये खबर है

इक फूल तो गिराओ चिलमन से कभी तुम
मुद्दत से मैं खड़ा हूं, तुमको भी खबर है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मयक़दे में आके शराबी, बन गया रे बन गया

love shayari hindi shayari

जिसको भी चाहा रे तुमने, खो गया रे खो गया
जिसको भी अपना माना, छल गया रे छल गया

खोजने निकला था मैं एक आशियाँ सुकून का
मयकदे में आके शराबी, बन गया रे बन गया

अब न वो दुनिया रही, अब न वो रिश्ते रहे
अपनी तन्हाई में मुहब्बत मिल गया रे मिल गया

ये दरो-दीवार मुझको कैद ना रख पाएगी
रूह तो पंछी है कोई, उड़ गया रे उड़ गया

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari