Tag Archives: खून शायरी

shayari – मेरे अपने मुझको कभी समझ नहीं सके

shayari latest shayari new

जख्मी दिल की शायरी

मेरे अपने मुझको कभी समझ नहीं सके
रिश्तों में अहसास फिर पनप नहीं सके

एक घर के अंदर भले हम संग संग रहे
मगर दिल की दूरियां सिमट नहीं सके

कभी किसी ने अपना दर्द सुनाया नहीं
उनके सामने हम भी सिसक नहीं सके

एक दिल है उसमें जाने कितने जख्म हैं
आंखों से खून के कतरे टपक नहीं सके

shayari green pre shayari green next

रिश्तों को निभाने की मजबूरी पुरानी है

shayari latest shayari new

रिश्तों को निभाने की मजबूरी पुरानी है
जिंदगी तो जैसे समझौतों की कहानी है

दुनिया के अंदर तो धोखे का समंदर है
यहां करते हैं वफा, मिलती बदनामी है

यार बनाकर जिसने मेरा खून किया
उसके चेहरे पर शिकन न परेशानी है

जहां अक्ल वालों की महफिल है वहां
जिधर देखिए दिलवालों की नाकामी है

©rajeevsingh             शायरी

shayari green pre shayari green next

शायरी – मेरे हमराह तेरी राह के हम मुसाफिर हैं

love shayari hindi shayari

खंजर मेरे दिल को खून से तर कर दे
ऐ पत्थर मेरी आंखों में तू पानी भर दे

तू सूरज है, चंदा है, शम्मा भी है
मेरे अंधियारे जीवन में रोशनी भर दे

मेरे हमराह तेरी राह के हम मुसाफिर हैं
तू मेरे संग चले, ऐसा मंजर कर दे

रात बीते हैं जैसे गुजरते हैं सितम
तू कभी आके अमावस को पूनम कर दे

©RajeevSingh # love shayari

 

शायरी – दर्द उठता है तो बस ये ही दुआ करता हूं

love shyari next

सांस रुक जाए मगर आंखें कभी बंद न हो
मौत आए भी तो तुझे देखने की जिद खत्म न हो

दर्द उठता है तो बस ये ही दुआ करता हूं
तेरे दिल में मेरे खातिर कोई भी जख्म न हो

जिन चिरागों को जलाने के लिए आग नहीं
उनकी लाशों पर कभी जुगनुओं का जश्न न हो

जिंदगी तुमसे मेरा खून का रिश्ता है मगर
फिर से मेरा ऐसे रिश्तों में कभी जन्म न हो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – रंग लिया जबसे हाथ मोहब्बत के खून से

new prev new shayari pic

रंग लिया जबसे हाथ मोहब्बत के खून से
तबसे रिश्तेदार जी रहे कितने सुकून से

सदियों से कैद है लैला घर की दीवारों में
घरवालों को दुश्मनी है मजनू के जुनून से

दीवानों को देखते ही पत्थर ही मारेंगे वो
और क्या उम्मीद रखें लोगों के हुजूम से

फिर भी हो रहे पैदा लैला मजनू बस्ती में
रोज छपता है अखबार उनके ही खून से

©rajeevsingh         शायरी

prev shayari green next shayari green