Tag Archives: गर्दिश शायरी

शायरी – कांटों ने ही अब तक हमको जीना है सिखाया

love shayari hindi shayari

खामोशियों की बस्ती में जिसने घर हो बनाया
उसने दर्द के गुलों से तन्हा कमरे को सजाया

सफर के रहगुजर से यही कहते चले अक्सर
कांटों ने ही अब तक हमको जीना है सिखाया

जिसकी हस्ती में वफा का नामोनिशां नहीं था
उसके लिए ही जाने क्यों दिल औ जां लुटाया

पेड़ों के पत्तों को है शायद गर्दिश से मुहब्बत
जो टूटकर पतझड़ के लिए खुद को मिटाया

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – मेरे दिल पे छा गया है इश्क का ऐसा जुनूं

love shayari hindi shayari

देनेवाले दे ही देंगे, जान छोटी चीज है
रू-ब-रू तेरे हर एक सामां छोटी चीज है

मेरे दिल पे छा गया है इश्क का ऐसा जुनूं
अब जिंदगी का अरमां छोटी चीज है

हंसना-रोना संग-संग चलता है एक सूरत में
आईने-गर्दिश में ये अंजाम छोटी चीज है

इतने खाए जख्म कि लगता है अब हमको
गजलों में इन सबका बयां छोटी चीज है

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – शाम से रातभर उनको भी जरा याद करें

love shayari hindi shayari

दिन की गर्दिश से निकलके जरा आराम करें
शाम से रातभर उनको भी जरा याद करें

ये शहर लाख बुरा है, मगर वो तो यहीं है
उनकी गलियों में उन्हें रोज ही आदाब करें

हाले-दिल फूल से ऐ बहार ना पूछा करो
कैसे वो अपने छुपे दर्द बेनकाब करें

जो सुहाना सा लगा है, कैसे भुलूं उसको
इश्क के जख्म को हम सीने में बेहिसाब करें

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – पल दो पल ये साथ हमारा, एक मुसाफिर एक हसीना

love shayari hindi shayari

पागल-पागल सब कहते हैं, दीवाने तुम कहते हो
मुझपे सबने पत्थर फेंका, फूलें तुम बरसाते हो

पल दो पल ये साथ हमारा, एक मुसाफिर एक हसीना
आवारों की गर्दिश में तुम हुस्न की शमा जलाते हो

ये दुनिया मेरी कातिल है, तूने जान बचायी मेरी
मुज़रिम तेरे पीछे पड़े हैं, उनसे तुम टकराते हो

तुमने सागर को देखा है, हमने बस तुमको देखा
ठहरे अश्क में डूबी निगाहें, गहरे दर्द में जीते हो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दिल बता दे कि मेरी प्यास कितनी है बची

love shayari hindi shayari

जान कितनी है बची, सांस कितनी है बची
दिल बता दे कि मेरी प्यास कितनी है बची

क्या जरूरत है तुझे गर्दिशों के जुगनू की
हुस्न की ये रोशनी तेरे पास कितनी है बची

जब भी तुम याद करोगे मैं चला आऊंगा
मेरे अंदर तेरी ये तलाश कितनी है बची

कभी शायद मेरी भी गमे-दुनिया संवर जाए
मेरी जां, तेरे आने की आस कितनी है बची

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मैं तेरे वास्ते दुनिया के रंजो-गम उठा लूंगी

love shayari hindi shayari

मैं तेरे वास्ते दुनिया के रंजो-गम उठा लूंगी
कोई शोला उठा दिल में, उसे शबनम बना लूंगी

तेरे आने से ही तो मुहब्बत में रंग आई है
अपनी आंखों में इसी रंग का काजल लगा लूंगी

दिल के जलते दाग हैं मेरे दामन में बिखरे
अपने आंचल पे इसे तारों के मानिंद सजा लूंगी

है तेरे इश्क में दर्द भी, शिद्दत भरी उदासी भी
तेरी गर्दिश के साये में अपना जीवन बिता लूंगी

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – इस बदनसीब के इश्क में तुझे डूबकर भी क्या मिला

love shayari hindi shayari

मुझे टूटकर क्या मिला, तुझे रूठकर भी क्या मिला
जब बेवफा ही नसीब हो तब रोकर भी क्या मिला

अब आग से हम दूर हैं पर खाक के तो पास हैं
ठंढ़ी हुई है चिता मेरी, मुझे जलकर भी क्या मिला

मेरे साथ गर्दिश में रहे, मेरे संग-संग रोते रहे
इस बदनसीब के इश्क में तुझे डूबकर भी क्या मिला

ये जिगर लहू से भर गया जब जख्म भी रिसने लगे
मेरे आंसुओं को रोककर इस नजर को भी क्या मिला

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – जख़्म कितने भी मिले, फिर भी तुम्हें याद करेंगे

love shyari next

सारे इल्ज़ाम को मजबूर के ही नाम करेंगे
नाम जब तूने दिया है तो बेवफा ही रहेंगे

कुछ तसव्वुर से लिया, कुछ हकीकत ने दिया
जख़्म कितने भी मिले, फिर भी तुम्हें याद करेंगे

हम सलाखों में जीए जाते हैं अपनों के लिए
उनके एहसानों तले खुद को बर्बाद करेंगे

अपनी गर्दिश में किसी की जरूरत क्या है
दर्दे-दुनिया को सहेंगे, यूं ही तन्हा ही मरेंगे

(तसव्वुर- कल्पना, खयाल)

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari