Tag Archives: गीत शायरी

शायरी – लिखती हूं तेरा नाम, तेरे इंतजार में

love shayari hindi shayari

प्यासी मैं प्यासी कितना तेरे इस प्यार में
जीना मरना अब यारा तेरे इस प्यार में

दिल की किताबों में हमने लिखा है
कोरे कागज पे तेरा नाम लिखा है
लिखती हूं तेरा नाम, तेरे इंतजार में
प्यासी मैं प्यासी इतना तेरे इंतजार में

ले ले तू इम्तहान मेरी वफा का
कुछ तो खबर लो मेरी खता का
दर्द है कितना मेरे दिले बेकरार में
प्यासी मैं प्यासी इतना तेरे इस प्यार में

कसम है, कसम है ऐ दूर रहनेवाले
दीवाने हम हैं ऐेसे दुआ करनेवाले
तुझको मांगू रब से सुबहो शाम मैं
प्यासी मैं प्यासी इतना तेरे इस प्यार में

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – तू सजना इस बरस न आया

love shayari hindi shayari

ओझल हो रही आंखों से
अब मेरे सारे सपने
तू सजना इस बरस न आया
कैसे पहनूं मैं गहने
मिलन का कंगन, प्रीत का जोड़ा
सब तेरे बिन हैं टूटे सपने

सीने की जलन कम न हुई
आंसुओं से कितना बुझाऊँ
दर्द से हो गई मैं गूंगी
हाल अपना किसको बताऊं
आंखें मेरी बिना पूछे हमसे
लगती हैं बहने
ओझल हो रही है आंखों से
अब मेरे सारे सपने

रूठी खुशियां आती नहीं हैं
खाली है मेरी झोली
पहरें मुझको भाती नहीं है
मैं हूं कितनी अकेली
ओ परदेशी इतना सता न
आजा मुझसे मिलने
ओझल हो रही आंखों से
अब मेरे सारे सपने

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जाने कितने बरस भटकूंगी

love shayari hindi shayari

इस जनम में तुम मिले हो
मन के सूने अंबर में
चांद बनकर तुम खिले हो

जिन दिशाओं में हम चले हैं
तेरे साये साथ चले हैं
जिन नगरों में कोई नहीं है
वहां पे तेरे निशां मिले हैं
वीराने से इस जंगल में
तुम ही तो एक राह मिले हो
मन के सूने अंबर में
चांद बनकर तुम खिले हो

जिधर भी देखा, तुमको ही पाया
पर तेरी काया से मिल नहीं पाया
खोजा बहुत खुली नजरों से
दर्द किसी में नहीं था समाया
जाने कितने बरस भटकूंगी
जाने कहां तुम छुपे हो
मन के सूने अंबर में
चांद बनकर तुम खिले हो

शायरी – दिल की आह न आए जुबां पे

new prev new next

दिल की आह न आए जुबां पे
इश्क जो होया तो जी भर रोया

ओय बुल्लिया तेरी बात न माना
इश्क में पड़के दर्द को जाना
अपने जिगर में कांटों को बोया
इश्क जो होया तो जी भर रोया

रात फकीरी रे दिन भी फकीरा
सारे जहां में अब कोई न मेरा
घर भी गंवाई, सब कुछ खोया
इश्क जो होया तो जी भर रोया

©RajeevSingh

शायरी – जिंदगी मेरी मुहब्बत की जुदाई में कटी

love shayari hindi shayari

न बुराई में कटी, न भलाई में कटी
जिंदगी मेरी मुहब्बत की जुदाई में कटी

फासलों से ही आंखों से उनको देखा कीए
यूं ही कुछ माह निगाहों की लड़ाई में कटी

हमने गजलों में हुस्नो इश्क के नगमें सुने
मेरी रातें इन्हीं गीतों की पढ़ाई में कटी

उनसे बिछड़ा तो बची रह गई कुछ सांसें
जो मेरी बेकसी के साथ रुलाई में कटी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – खामोशियों के रिश्ते निभाना मुझे आता है

love shyari next

खामोशियों के रिश्ते निभाना मुझे आता है
हर दर्द से इस दिल को लगाना मुझे आता है

जो तुम हँसो हँसता हूँ, अगर रो दो तो रोता हूँ
जो जैसा है संग उसके जीना मुझे आता है

बंजर सी जमीं पर ही कबसे जी रहा हूँ मैं
इस रेत से अपना घर बनाना मुझे आता है

दुनिया में मुहब्बत का कतरा न मिला हमको
अब दुख भरे गीतों को गाना मुझे आता है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ऐ हुस्न मेरे इस दिल में बस अक्स बना है तेरा

prevnext

ये इश्क दीवाना तेरा, ये इश्क दीवाना तेरा
ऐ हुस्न मेरे इस दिल में बस अक्स बना है तेरा
ये इश्क दीवाना तेरा, ये इश्क दीवाना तेरा

मैं भूल गया था रस्ता, धरती पर जनम लिया जब
इस जिस्म में रूह मिली तो महसूस हुआ ये मजहब
अब तू खुदा है मेरी और दिल बंदा है तेरा
ये इश्क दीवाना तेरा, ये इश्क दीवाना तेरा

ये दर्द है जब भी थकता, मेरे आंसू रूक जाते हैं
सदियों से प्यासे राही को बस रेत नजर आते हैं
जाने कबसे अंखियों को है इंतजार बस तेरा
ये इश्क दीवाना तेरा, ये इश्क दीवाना तेरा

सारी दुनिया में न तो अपने हैं, न ही पराए
पूरा गुलशन खिलता है, बस हम ही हैं मुरझाए
तेरे बिन मौसम बंजर और झूठा है जग सारा
ये इश्क दीवाना तेरा, ये इश्क दीवाना तेरा

©RajeevSingh