Tag Archives: जफा शायरी

शायरी – जब तलक है ये जिंदगी, दिल में मेरी वफा है

prevnext

जब तलक है ये जिंदगी, दिल में मेरी वफा है
तेरी उम्मीद में जिए जाने का यही फलसफा है

माहताब निकलने में जाने कितनी देर है बाकी
गम की अंधेरी रात भी अब लगती बेवफा है

तेरी हसरत लेकर हम मरते रहे जो उम्रभर
यह जानकर ऐ दिलबर, तू हो गई क्यों खफा है

एक समंदर गुम हुआ अब गर्दिश की रेत में
साहिल पे है लिखा कि मुहब्बत की ये जफ़ा है

जफ़ा- जु्ल्म

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – ये तेरा गम है जो हमको मरने नहीं देता

love shayari hindi shayari

तन्हाई की दीवारें हैं उल्फत के महल में
हुस्न का शम्मा जला है दीवाने के दिल में

कुछ देर सोच ले ऐ मेरे दर्द के खुदा
सिर्फ ज़फा ही क्यूं मेरे लिए तेरे दिल में

ये तेरा गम है जो हमको मरने नहीं देता
आंखों में रोशनी है जब तू है मेरे दिल में

बहारों का शमा सा, खुशबू का झोंका सा
ख्वाबों का धोखा सा है उजड़े हुए दिल में

उल्फत- प्यार
जफ़ा- जुल्म

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – इश्क के इस दाग का एक बेवफा से रिश्ता है

love shyari next

इश्क के इस दाग का एक बेवफा से रिश्ता है
इस दुनिया में सदियों से आशिक का ये किस्सा है

दर्दे-दिल की आग को कोई सागर क्या बुझाएगा
दिलजला तो मौत के पहलू में जाकर ही बुझता है

हर सितम एक आईना है, तुमको देखूं बार-बार
खूने-जिगर तो तेरी जफा ही पाने को तरसता है

कागज के फूलों की खुशबू भर जाती है आंखों में
तेरे इन पुराने खतों में तेरा साया दिखता है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari