Tag Archives: जवां शायरी

शायरी – मुहब्बत में जलती हुई एक शाम देखता हूं

love shayari hindi shayari

बहुत देर तक अक्सर आसमान देखता हूं
मैं उस चांद में सनम का पैगाम देखता हूं

बादल गुजरता है जिधर टुकड़ों में तड़पकर
उस तरफ दूर तक तेरे अरमान देखता हूं

जगमगाते हुए हजारों सितारों की आग में
मुहब्बत में जलती हुई एक शाम देखता हूं

जब रात बिखरती है आधी रात जवां होकर
मैं हर जर्रे में उस हसीं का नाम देखता हूं

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements

शायरी – जिसने न कभी इश्क का है लुत्फ उठाया

love shayari hindi shayari

नाजुक से कई राज गजलों में लिखते हैं
नादान सी ये बातें दिल को छू लेते हैं

हंसते हैं कई फूल गुलशन में जवां होके
दुनिया की उंगलियों में वो टूट कर रोते हैं

जिसने न कभी इश्क का है लुत्फ उठाया
वो रात को बिस्तर में आराम से सोते हैं

आसान नहीं है मगर हमने ये किया है
आशिक के जनाजे को कांधे पे ढ़ोते हैं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरी नजर पढ़ लेना सबके बस की बात नहीं

love shayari hindi shayari

जब अचानक सामने तुम कहीं से आ गए
हम जरा घबड़ा गए, तुम जरा शरमा गए

जवां हुए तो हुस्न तेरा यूं कहर बरपा गया
देखकर तुझे होशवाले राहों में गश खा गए

तेरी नजर पढ़ लेना सबके बस की बात नहीं
दिल का हर बयान तुम काजल में छुपा गए

शायरी में लिखता हूं अपने इश्क का अफसाना
आशिकों को लफ्जों में तेरी झलक दिखा गए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – पलकों में रखे अश्क न गिर पाते आंख से

love shayari hindi shayari

छूते रहे वो दिल मेरा गजल की आग से
जलते रहे हम रातभर शायर की बात से

कहने लगे कि उनकी नज़र यूं उदास है
पलकों में रखे अश्क न गिर पाते आंख से

जाने की जिद पकड़ लिए वो आधी रात को
फिर रुक गए अचानक वो अपने आप से

यूं रोज ही जवां रहे महफिल इसी तरह
और आप गजल गाएं लबों के साज से

©RajeevSingh # love shayari