Tag Archives: जहर शायरी

शायरी – कौन सा मतलब दिल में आया

new prev new shayari pic

कौन सा मतलब दिल में आया
जो हमसे इतना प्यार जताया

अमृत है, कह कह के तुमने
जाने कितनों को जहर पिलाया

धोखों को जेब में रख चलते हो
जो भी मिला उसे एक थमाया

मीठी जुबां, मासूम सा चेहरा
खुदा ने भी क्या जाल बनाया

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – तेरे खातिर हम अपना ये दिल जला बैठे

love shayari hindi shayari

जिंदगी को हम खाक में ऐसे मिला बैठे
तेरे खातिर हम अपना ये दिल जला बैठे

मुहब्बत के नाम का सौदा करने वाले
अपनों को भी देखो, जहर पिला बैठे

रास्ते भी जिसे खुद हासिल न कर सके
कदमों को उस मंजिल का वहम दिला बैठे

हंसने के तो मौके बहुत आते हैं लेकिन
तुझे याद कर अक्सर खुद को रूला बैठे

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – अपने रोते हुए दिल को समझा न सका

love shayari hindi shayari

हम तेरे दर्द में जीकर भी परेशां न हुए
घुट-घुट के मरके भी हम बेजां न हुए

देख तेरे आने, तेरे जाने की कशिश
हमें पलकें मूंदने कभी आसां न हुए

आ पिला दे हमें अपने हाथों से जहर
ये ही कर दे जब तुम मेहरबां न हुए

अपने रोते हुए दिल को समझा न सका
माफ करना हम तेरी तरह इंसां न हुए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – इस हुस्न पे कभी भी कोई आंच न आए

love shayari hindi shayari


हमने भी जिंदगी को अब देख लिया है
कंधों पे ही सूली का जब बोझ लिया है

ये सर भी झुका लेंगे हम मौत के आगे
ताकि नहीं देखूं कि जहर किसने दिया है

इस हुस्न पे कभी भी कोई आंच न आए
कुछ इस तरह से तुमसे इश्क किया है

दुख से ही मेरी शायरी हसीन हो गई
हमने भी इस दर्द को एक चांद कहा है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – अब तो करीब आओ कि मुद्दतें हुए मिले

love shayari hindi shayari

तन्हाई की फिजा में आशियां की जिंदगी
दुनिया की जिंदगी से परेशां है जिंदगी

मुरझाया हुआ फूल है अब बुझा-बुझा
उजड़े हुए गुलशन में कांटा है जिंदगी

आखिर दिलों के दरम्यां होते हैं फासले
जहां दर्द ही दवा है और जहर है जिंदगी

अब तो करीब आओ कि मुद्दतें हुए मिले
जब तक तू मेरे पास है, दिलबर है जिंदगी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – क्या मिला है मुझे इस दिल के आईने के सिवा

love shayari hindi shayari

क्या मिला है मुझे इस दिल के आईने के सिवा
क्या हुआ है मेरा गिर-गिर के टूटने के सिवा

देर हो जाएगी तुमको भी घर जाने तलक
तुमने भी सीखा है क्या मुसीबत उठाने के सिवा

दर्द कितना भी जहर उगले आंखों से मगर
हमको कुछ आया नहीं जख्म पे रोने के सिवा

आप आ ही गए आशिक का जनाजा ढोने
आप अपने हैं, क्या देंगे हमें कांधे के सिवा

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – ऐ मेरे दोस्त, मेरे दर्द पे तू क्यों मर गया

love shayari hindi shayari

मेरी दुनिया कभी आबाद खुदा कर देता
अपने अहसास से भी जुदा वो कर देता

सारा मंजर उसके हुस्न की रानाई है
काश सबको वो ऐसी इश्क की नजर देता

ऐ मेरे दोस्त, मेरे दर्द पे तू क्यों मर गया
इससे पहले तू मुझे थोड़ी सी जहर देता

उस मालिक ने मेरे पैरों को इतने कांटे दिए
कि कभी सोचा नहीं फूलों की रहगुजर देता

(रानाई – सौंदर्य)

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – वो बेवफा भी क्या जाने किसी का दर्दो-गम

prevnext

काश! कि मैं जिंदा रहता मरने के बाद
अपनी मैयत पे जश्न मनाने के लिए

मैंने अपनों को ये वसीयत दे रखी है
कि आप आएं मुझे कांधा देने के लिए

रोने की बात उठी तो सब उठ गए
हम बैठे रहे बज्म-ए-मैयत में रोने के लिए

वो बेवफा भी क्या जाने किसी का दर्दो-गम
जो आती है इश्क में जहर देने के लिए

©RajeevSingh