Tag Archives: जांनिसार शायरी

शायरी – जो भी दुनिया में मुहब्बत पे जाँनिसार करे

prevnext

जो भी दुनिया में मुहब्बत पे जाँनिसार करे
ऐसे दीवाने से आखिर क्यूँ कोई प्यार करे

रेत प्यासा सा तड़पता है हर साहिल पे
कितनी सदियों से वो लहरों का इंतजार करे

बाँटते रहते हैं वफा वो कई किश्तों में
बेवफाई का यहाँ जो भी कारोबार करे

चाहता हूँ, तेरे दामन का किनारा तो मिले
दिल भी आख़िर ये फरियाद कितनी बार करे

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – जिसमें दर्द होता है, वो सच्चा प्यार करते हैं

prevnext

तन्हाइयों के गम आँखो से बहे जाते हैं
कुछ बात है दर्द में जो यूँ जीए जाते हैं
बहुत है तमन्ना कि एक मुस्कान चेहरे पे खिले
मगर तेरी उम्मीद में हम उदास हुए जाते हैं

सबको ऐतराज है दुनिया में मेरी फितरत पे
कि क्यूँ मैं तुमपे ये जाँनिसार करता हूँ
लोग कहते हैं कि सैकड़ों परियाँ हैं यहाँ
फिर जुदा होके क्यूँ तेरा इंतजार करता हूँ

दुनिया ये नहीं जानती कि जिनको दर्द होता है
वो जिस्म से नहीं, दिल से प्यार करते हैँ
और ऐसा दिल लाखों में किसी एक में रहता है
जिसमें दर्द होता है, वो सच्चा प्यार करते हैं

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – अपने सीने में तेरी तस्वीर को छुपा ही गई

love shyari next

कोई आहट सी आई तो मैं घबड़ा ही गई
अपने सीने में तेरी तस्वीर को छुपा ही गई

जांनिसारों की तरह दिल भी फना होता है
मैं भी एक दिन तुम्हीं में समा ही गई

तेरा इंतजार भी समंदर से बड़ा लगता है
ढ़ूंढ़ती हूं कि तेरी कश्ती कहां खो गई

दरो-दीवार और हया के सौ पर्दों में
इन घटाओं में छुपकर फिर चंदा रो गई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari