Tag Archives: जान शायरी

शायरी – मेरी जान अब तुमको भुलाना है मुश्किल

love shayari hindi shayari

ये जीवन तेरी याद में बिताना है मुश्किल
मेरी जान अब तुमको भुलाना है मुश्किल

तेरे इश्क में सनम हम इतना रो चुके हैं
हंसती हुई दुनिया में मुसकाना है मुश्किल

दर्द का वजन इस कदर बढ़ चुका कि
अब जरा सी खुशी भी उठाना है मुश्किल

कहां जाएं हम इस उदासी को लेकर
तुझे गमजदा चेहरा दिखाना है मुश्किल

किस-किसको समझाएं, सब हमसे खफा हैं
अब अपने ही घर में ठिकाना है मुश्किल

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – जान में भी तू ही बसी है

love shayari hindi shayari

खोने भर को जान बची है
जान में भी तू ही बसी है

एक कफन मुफलिस को दे दो
तुमको आंचल की क्या कमी है

तेरी उल्फत भी अब मुझको
आखिरी मंजिल पे ला चुकी है

अब जगाना न मुझे आके
बरसों बाद तो आंख लगी है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मेरे आंचल में दर्द है और कुछ भी नहीं

love shayari hindi shayari

दिल लगाने के लिए तुम चले आए हो
इश्क में जान गंवाने तुम चले आए हो

मेरे कांटे तेरे दामन को चुभ जाएंगे
क्यूं अपना खून बहाने तुम चले आए हो

कोई दरिया मेरे दागों को न धो पाएगा
इसे आंसू से छुड़ाने तुम चले आए हो

मेरे आंचल में दर्द है और कुछ भी नहीं
इस दामन से क्या लेने तुम चले आए हो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ये दर्द तेरा मेरी जान न ले जाए

love shayari hindi shayari

ये दर्द तेरा मेरी जान न ले जाए
मेरे दिल के सारे अरमान न ले जाए

ऐ मुकद्दर कुछ तो करो हमारे लिए
उनको कोई धनवान न ले जाए

मैं रोता हूं दिल से उनके खातिर
कोई उन तक ये पैगाम न ले जाए

मेरी चाहत मुझे चुभती है खंजर सी
ये जख्म कहीं मेरी जान न ले जाए

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – मेरे लब चूम लेते माहजबीं को मगर

love shayari hindi shayari

अपनी जान गंवा दी, ये जुबां गंवा दी
हमने तेरे खातिर दो जहान गंवा दी

जब चांद का हुस्न देखा हमने अचानक
रातों में इश्क की नई दुनिया बसा दी

सीने में टूटे थे दिल के हजार टुकड़े
उन टुकड़ों में तूने एक तस्वीर बना दी

मेरे लब चूम लेते माहजबीं को मगर
उसने जुदा रहने की जिंदगीभर सजा दी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जाने कैसा जादू किया है तूने मुझपे ओ कातिल

prevnext

प्यार की कोई हद समझना, मेरे बस की बात नहीं
दिल की बातों को न करना, मेरे बस की बात नहीं

कुछ तो बात है तुझमें तब तो दिल ये तुमपे मरता है
वरना यूँ ही जान गँवाना, मेरे बस की बात नहीं

जाने कैसा जादू किया है तूने मुझपे ओ कातिल
खंजर को सीने से हटाना, मेरे बस की बात नहीं

जब तक ये यकीं न हो कि मुझे सीने से लगाओगे
तब तक तेरे करीब जाना, मेरे बस की बात नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari