Tag Archives: जिंदगानी शायरी

शायरी – मुहब्बत में जिंदगानी यूं पाले बदलती है

love shayari hindi shayari

अपनी ही सांस किसी और की लगती है
मुहब्बत में जिंदगानी यूं पाले बदलती है

आज न कल हसीन चांद कहीं तो टपकेगा
इसी उम्मीद में ये जमीं दिन-रात चलती है

तेरा अक्स खींचता रह गया मैं गजलों में
न जाने कितने चेहरों में तू रोज मिलती है

कोई इस पार से उस पार आखिर कैसे पहुंचे
जब बीच समंदर में तू कश्ती से उतरती है

©RajeevSingh #love shayari

Advertisements

शायरी – तेरे लब की दिलकश परेशानी भी देखी

prevnext

पिंजरे में बुलबुल की जिंदगानी भी देखी
कांटों में एक गुल की जवानी भी देखी

हर पल दर्द का एक नया मोड़ लेती
मुहब्बत की कमसिन कहानी भी देखी

सौतन की दुश्मनी को भी मात देती
दुनिया की बेरहम कारस्तानी भी देखी

मेरे इश्क को ठुकराने से ठीक पहले
तेरे लब की दिलकश परेशानी भी देखी

कितनी चोटें तूने छोड़ी मेरे दिल पे
तेरे जख्मों की हर एक निशानी भी देखी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – आबाद इस जहान में बर्बाद सा एक मुसाफिर

love shyari next

दुनिया से ऊब चुका हूं, कुछ और सांस दे दो
ये दिल बड़ा प्यासा है, कुछ और प्यास दे दो

जीने की तमन्ना थी, तुझे पाने की आरजू थी
अब खो चुका हूं सब-कुछ, चंद और ख्वाब दे दो

हर जाम पी गया मैं, ऐ दर्दे-जिंदगानी
फिर भी बड़ा तरसा हूं, कुछ और शराब दे दो

आबाद इस जहान में बर्बाद सा एक मुसाफिर
है चांद थका-थका सा, कुछ और तलाश दे दो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – साहिलों की तरह तुम मिले थे कहीं

love shayarinext

रेत पर हर कदम की निशानी लिखो
इन लहरों की प्यासी रवानी लिखो
इस समंदर के संग-संग चलते हुए
मेरे शायर तुम मेरी कहानी लिखो

आरजू बन गई है ये ठंडी हवा
खींचकर ले चली है ये जाने कहां
हो रहे हैं दिल में अब अरमां जवां
ऐसे एहसास को तुम जवानी लिखो

साहिलों की तरह तुम मिले थे कहीं
मेरे आंसू की लहरें बहे थे वहीं
तुम भी हो ऐ मेरे दिल रेतीली जमीं
ऐसे मंजर को तुम जिंदगानी लिखो

इस साहिल के रेतों पर चलते हुए
मेरे शायर तुम मेरी कहानी लिखो।

©RajeevSingh