Tag Archives: जुबां शायरी

शायरी – कहां गुनगुनाए वो दिल का तराना

love shyari next

कहां गुनगुनाए वो दिल का तराना
जुबां काटने को खड़ा है जमाना

ताक में हैं बैठे मुहब्बत के दुश्मन
लगाए हुए आशिकों पर निशाना

न जाने कहां उसका कत्ल होगा
जान बचेगी तो जिएगा दीवाना

खुदा तूने हुस्न को जीना सिखाया
इश्क को दिखाया मौत का ठिकाना

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ये खामोश दर्द, ये खामोश आह

love shayari hindi shayari


ये बंजर सी जमीं, ये बंजर आस्मा
ये बंजर सा शमा, ये बंजर दास्तां

काली सी घटा, काली सी हवा
है काले वक्त पे कुदरत के निशां

ये खामोश दर्द, ये खामोश आह
है खामोश इश्क, बेबस है जुबां

एक कली खिली मगर टूट गई
उसे लग गई शहर की आंधियां


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – क्या मांगू मैं खुदा से जब मेरे मन को तू मिल गया

love shayari hindi shayari

ना इश्क की फरियाद हो, ये सदा जुबां को याद हो
तुम दिल में यूं समा गए, अब दूर हो ना पास हो

क्या मांगू मैं खुदा से जब, मेरे मन को तू मिल गया
अब तेरे सजदे में सनम, मुझमें तेरी आवाज हो

किसको खबर तू कौन है, मुझे क्या खबर मैं कौन हूं
रहूं अजनबी खुद के लिए, तुझे जानने की प्यास हो

तेरे दर्द से भरी हुई, मैं राहों पे भटकी हुई
मुझे ले के चल उस जगह, जहां सिर्फ तेरा साथ हो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मेरे आंचल को आंसू से भींग जाने दो

love shayari hindi shayari

ना करो जज्ब इस दर्द को बह जाने दो
मेरे आंचल को आंसू से भीग जाने दो

तू भी तन्हा है कितना मेरी ही तरह
आज दोनों की तन्हाई को मर जाने दो

सिर्फ सुनते रहोगे तुम मेरे जज्बातों को
अपनी खामोश जुबां को भी खुल जाने दो

कितना सूना है मेरा दिल भी मेरे सीने में
इश्क का रंग इस फूल में भर जाने दो

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – दिल का चिराग टूट गया, धुआं बिखर गया

love shayari hindi shayari

दिल का चिराग टूट गया, धुआं बिखर गया
वो धुआं खामोश जुबां पे आके ठहर गया

बादल सा ही सफेद था मेरा पुराना नाम
इश्क के सावन में वो कालिख से घिर गया

न दिखी थी धूप में दिल में रोशनी कोई
भीड़ में जीकर रूह का भी नूर देखो मर गया

सोचता हूं आंखों से कोई बूंद तो छलके
कतरा-कतरा आंसू से मेरा सीना भर गया

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – जाने क्या कहानी है जो खत्म नहीं होती

love shayari hindi shayari

अपनी जुबां तो खोलिए जब राहों में हैं मिलते
हम थक चुके हैं आपको सलाम करते-करते

मेरी निगाहें देखिए, दो उदास झील हैं बस
मुरझा गए हैं कितने ही कंवल खिलते-खिलते

जाने क्या कहानी है जो खत्म नहीं होती
ये उम्र गुजर जाए आपको पढ़ते-पढ़ते

महसूस ये होता है हर रोज मेरे दिल में
एक चांद सा जलता है हर शाम ढलते-ढलते

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरे आशिक को तेरी याद बहुत आती है

love shayari hindi shayari

तेरे आशिक को तेरी याद बहुत आती है
दूर रहके ही तू उसपे सितम ढाती है

जागता है वो सारी रात बहुत रोते हुए
सारी दुनिया बस्ती में जब सो जाती है

कोई पैगाम न पाएगी तू कभी उसकी
इश्क में आशिक की जुबां मर जाती है

न कोई काट सके अपने हिज्र की रातें
तू कहीं पे इस शायर की गजल गाती है

हिज्र – जुदाई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरे आगोश में मिटता है मेरा नामोनिशां

love shayari hindi shayari

बंद कर ली आंखें और लब थरथराए
आ गए करीब फिर तुम क्यूं शरमाए

दिन में कह लेना जो भी हो गिले शिकवे
तेरी खामोश जुबां मुझे रातों को समझाए

तेरे आगोश में मिटता है मेरा नामोनिशां
सिर्फ अहसास मेरी रूह बनकर रह जाए

जब तलक सामने ये तेरी हसीं सूरत है
तब तलक सारे जमाने का गम मर जाए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मेरे लब चूम लेते माहजबीं को मगर

love shayari hindi shayari

अपनी जान गंवा दी, ये जुबां गंवा दी
हमने तेरे खातिर दो जहान गंवा दी

जब चांद का हुस्न देखा हमने अचानक
रातों में इश्क की नई दुनिया बसा दी

सीने में टूटे थे दिल के हजार टुकड़े
उन टुकड़ों में तूने एक तस्वीर बना दी

मेरे लब चूम लेते माहजबीं को मगर
उसने जुदा रहने की जिंदगीभर सजा दी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दिल का हर जख्म मिटाना था, मिटाया न गया

love shyari next

दिल का हर जख्म मिटाना था, मिटाया न गया
कोई मरहम जो लगाना था, लगाया न गया

मेरे माथे पे तेरे नाम की लकीरें न बनीं
फिर कभी भी कोई नाम लिखाया न गया

उँगलियाँ काट दूँ अपनी मगर ये हालत है
तुझे छूने की हसरत को भुलाया न गया

मेरी कमजोर जुबाँ ने तुमसे कुछ न कहा
हमसे अपने ही लबों को हिलाया न गया

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – कैसे मैं समझूं तुमको, कैसे तू समझे मुझको

love shyari next

तेरी आंखें जादू कर गईं, दिल में आंसू भर गईं
हंसती हुई जो मैं जिंदा थी, रोते-रोते मर गई

कैसे मैं समझूं तुमको, कैसे तू समझे मुझको
जब जुबां न बोलने की कसमें खाके अड़ गई

पास आने के लिए कितनी मोहलत चाहिए
एक मुद्दत से बहार आते-आते गुजर गई

फासलों में फासले हैं, हर जुदाई में हिज्रां
एक गम हैं सौ तरह के, झेलकर मैं मर गई

(हिज्रां- जुदाई)

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – अपनी ये दर्द भरी दास्तां सुनाता भी नहीं

love shayari hindi shayari

कभी मेरे दर पे तू भूलकर आता भी नहीं
अपनी कोई दर्द भरी दास्तां सुनाता भी नहीं

तेरे साये को भी मालूम नहीं मेरा नाम-पता
जुबां तो है मगर तू मुझसे पूछता भी नहीं

तू बता दे मुझे सच क्या है और झूठ क्या
मैं क्या जानूंगी जब तू कहीं बोलता भी नहीं

मैं सोचूं भी तो तू मुझको कहां मिलता है
मुझे खोने के खयाल से तू डरता भी नहीं

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – दे रहा हूं मैं ये इश्क की इम्तहां अपनी

love shayari hindi shayari

गमजदा रूह से लिखता हूं दास्तां अपनी
दे रहा हूं मैं ये इश्क की इम्तहां अपनी

मेरे सीने से छलकते हैं धड़कनों की सदा
आहटों की इस जुंबिश की है फुगां अपनी

अश्कों की झील में खिले फूल कई उम्मीदों के
वो समझ न सकी दर्द की ये जुबां अपनी

बंद आंखों में अटके रहे शबनम कितने
आईने से ये छुपाती हैं हर बयां अपनी

फुगां- रोना
जुंबिश- कंपन

©RajeevSingh #love shayari