Tag Archives: जुल्फ शायरी

शायरी – जो फूल उसकी जुल्फों तक नहीं पहुंच सका

love shayari hindi shayari

मुहब्बत के मुकद्दर में वो हसीं शाम कभी होती
सोचता हूं ये जिंदगी तो उसके नाम कभी होती

जो फूल उसकी जुल्फों तक नहीं पहुंच सका
उसे तोड़ने को वो दिल से परेशान कभी होती

मुझे पत्थर समझकर जो हमेशा तराशती रही
उस खुदा से हमारी दुआ सलाम कभी होती

जिसको देखा किए हर शब उल्फत के आइने में
वह अक्स हमारे आशियां की मेहमान कभी होती

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements

शायरी – कब तू मुझे समझेगी, बस यही सोचता हूं मैं

love shayari hindi shayari

एक नजर की जुस्तजू में तुझे देखता हूं मैं
कब तू मुझे समझेगी, बस यही सोचता हूं मैं

करीब से गुजरती हो तो मचल उठता है दिल
न जाने किस तरह रोज खुद को रोकता हूं मैं

तेरे हुस्न की चांदनी में मेरा इश्क हुआ रोशन
चांद के साये को दरिया में बहुत ताकता हूं मैं

इन मदभरी जुल्फों में खो जाऊंगा एक दिन
तेरे ख्वाबों की इन रातों में, यही चाहता हूं मैं

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – तेरी जुल्फ में लगा सकूं, वो कली न मैं खिला सकूं

love shayari hindi shayari

तेरी जुल्फ में लगा सकूं, वो कली न मैं खिला सकूं
बेबस खिजां में बैठा हूं, वो बहार भी न मैं ला सकूं

सावन की एक फुहार से मैंने मांग ली कुछ बूंद भी
जिसे आंख में तो भर लिया, उसे अब न मैं गिरा सकूं

कहा भी क्या समझा नहीं, देखा भी क्या सोचा नहीं
यूं खो गया मैं खुद में ही कि कहीं भी न मैं जा सकूं

सर पे जब सदियां गिरी, मैं फलक में जाके धंस गया
अब चांद के मानिंद मैं जमीं पे भी न आ सकूं

फलक- आसमान

खिजां- पतझड़

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरी जुल्फों तले सोया रहूं आंखें बंदकर

love shayari hindi shayari

बस यही ख्वाब है कि जीवन तेरे संग गुजरे
जो पल आए, वो पल बस तेरे संग गुजरे

तेरी जुल्फों तले सोया रहूं आंखें बंदकर
तुम बांहों में रहो और रात ये संग गुजरे

चांद देखता रहे हमें एकटक बेखुद होकर
प्यार चांदनी में करें, ये दरिया संग गुजरे

बिखर जाए खुशबू, फिजा नाचे झूमकर
हर राह में यूं मुहब्बत हमारे संग गुजरे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari