Tag Archives: टूटा दिल शायरी

शायरी – मेरे आंसुओं को वो कभी भुला न सकी

love shyari next

गुनाह ए इश्क का ऐसा गम पीया उसने
खुद खाक में मिलकर ही दम लिया उसने

पलट-पलट के मुझे देख जाने कितनी बार
हंस-हंस के आंखों को नम किया उसने

अपने ही हाथों से अपना दिल तोड़कर
घर के लोगों का दुख कम किया उसने

मेरे आंसुओं को वो कभी भुला न सकी
जिंदगीभर इस कदर ये गम लिया उसने

गुनाह ए इश्क- इश्क का गुनाह

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – यूं तो मिले थे कितनों से लेकिन कोई तुम्हारे जैसा नहीं था

new prev new next

यूं तो मिले थे कितनों से लेकिन
कोई तुम्हारे जैसा नहीं था
निगाहों को कुछ भी भाता नहीं था
जब तक तुझे हमने देखा नहीं था

गाते हैं हर दम तुझे गुनगुनाकर
मुझे और कुछ करना आया कहां
यही याद रहता है हर पल फकत कि
तुझे कभी भूलकर कभी जिंदा नहीं था

कहीं पे कोई फूल खिलता था
दिल में तेरे दर्द की खुशबू उड़ाकर
कई ख्वाब महके थे सीने में मेरे
तब तक मेरा दिल टूटा नहीं था

नशेमन के तिनके उड़े हैं फिजा में
कहां अब बचा है मेरा आशियां भी
भटकता हूं अब मैं शहर-दर-शहर
पहले तो घर से निकलता नहीं था

©RajeevSingh

शायरी – सच्ची मुहब्बत दिल से मिटा दे, किसके बस की बात है

new prev new next

टूटे दिल को अक्ल सिखा दे, किसके बस की बात है
सच्ची मुहब्बत दिल से मिटा दे, किसके बस की बात है

उम्र गुजर जाती है पल-पल उनके यादों के मंजर में
फिर किसी से दिल लगा ले, किसके बस की बात है

रोज मैखाने में जाकर रोते हैं वो जुदाई में
पीकर कोई दिल बहला ले, किसके बस की बात है

लेकर आती हैं बहारें जीवन में फूलों का मौसम
पतझड़ का भी मन महका दे, किसके बस की बात है

©RajeevSingh