Tag Archives: तकदीर शायरी

शायरी – जिन्हें देखिए वही बेवफा, अपने यहां देते हैं दगा

love shayari hindi shayari

जिसे दर्द है, वहीं सोग है, जहां इश्क है, वहीं जोग है
ये दुनियावाले क्या जानें, जो कहते हैं ये रोग है

मैं टूटकर जुड़ा नहीं, ईमान से गिरा नहीं
जहां आंसू देखा, रो पड़ा, मेरा दिल इतना कमजोर है

जिन्हें देखिए वही बेवफा, अपने यहां देते हैं दगा
किनसे कहूं ये बातें भी, सब तो यहीं के लोग हैं

तकदीर का मैं क्या करूं, जो भी दिया, दुख ही दिया
मेरा जीना भी संयोग है, न मरने में मेरा दोष है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – खोता गया, खोता गया, सब कुछ मेरा खोता गया

love shyari next

खोता गया, खोता गया, सब कुछ मेरा खोता गया
होता गया, होता गया, तूने चाहा जो होता गया

लुटता गया, मिटता गया, तकदीर से पिटता गया
फिर भी कलम की नोंक को कागज पे घिसता गया

जगता गया, रोता गया, दिन-रात यूं गुजरता गया
एक दिन मरा तो हर कोई मेरी लाश पे हंसता गया

आशिक हुआ, माशूक हुआ, शायर हुआ, दिल से हुआ
हर दर्द को सहता गया, हर जख्म पे गाता गया

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ये मुहब्बत भी कश्मीर बनके रह गई

new prev new next

जिंदगी जख्म की तस्वीर बनके रह गई
तू मेरे दिल पे लगी तीर बनके रह गई

मैं बना फिरता हूं दीवाना तेरे गम में
तू मेरे पैरों की जंजीर बनके रह गई

इस जमाने के तानों को सुनते-सुनते
ये तमाशा मेरी तकदीर बनके रह गई

सरहदें पारकर हम-तुम न मिल पाए कभी
ये मुहब्बत भी कश्मीर बनके रह गई

©RajeevSingh