Tag Archives: तनहाई

शायरी – इस रात के आलम में मेरा इश्क जानेजां

love shyari next

आ जाओ, अब मौसम भी मस्त हो चला
खड़ा है तेरी राह में देखो एक दिलजला

आंखों की रोशनी से एक चांद बनाएं
आशियां में तारों सा हम जाएं झिलमिला

आओ तुझे बाहों में भरके प्यार करूं मैं
मिट जाए दोनों की तन्हाई का सिलसिला

इस रात के आलम में मेरा इश्क जानेजां
तेरे हुस्न की आगोश में खोने को है चला

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements

शायरी – ये तेरा गम है जो हमको मरने नहीं देता

love shayari hindi shayari

तन्हाई की दीवारें हैं उल्फत के महल में
हुस्न का शम्मा जला है दीवाने के दिल में

कुछ देर सोच ले ऐ मेरे दर्द के खुदा
सिर्फ ज़फा ही क्यूं मेरे लिए तेरे दिल में

ये तेरा गम है जो हमको मरने नहीं देता
आंखों में रोशनी है जब तू है मेरे दिल में

बहारों का शमा सा, खुशबू का झोंका सा
ख्वाबों का धोखा सा है उजड़े हुए दिल में

उल्फत- प्यार
जफ़ा- जुल्म

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – दिल जब भी तन्हाई में तेरा नाम ले

love shayari hindi shayari

दिल जब भी तन्हाई में तेरा नाम ले
दूर से ही सही, तू दिल का सलाम ले

हम तेरी मुहब्बत में सुबहो-शाम जले
मेरी बुझती नजर देखकर तू जान ले

कभी तुझे भी खलेगी हमारी कमी
कभी तू भी रोएगी, ये तू मान ले

एक दरिया बसाया है मेरी आंखों में
ऐ मेरे दिल, यूं मुझसे न इंतकाम ले

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – तेरे जैसा कोई भी गजल हो न सका

love shayari hindi shayari

मेरी तन्हाई में किसी का दखल हो न सका
मेरी किस्मत में कभी भी बदल हो न सका

यूं तो लिखी हैं हमने तुझपे ही सैकड़ों गजलें
पर तेरे जैसा कोई भी गजल हो न सका

मैं भी एक आशियां में बंद हूं दुनिया की तरह
तेरे बिन कैद में सुकूं से बसर हो न सका

इतनी बेचैनी है कि रूह निकल न जाए कहीं
हिज्र में मौत से भी मेरा मिलन हो न सका

(हिज्र- जुदाई)