Tag Archives: ताजमहल शायरी

शायरी – टूटे फूल पे दिल ने अहसास लिखा है

new prev new shayari pic

टूटे फूल पे दिल ने अहसास लिखा है
सूखे पत्तों पर दर्द ने इतिहास लिखा है

खोने का गम तो वह पतझड़ बताएगा
जिसने मौसम को जिंदा लाश लिखा है

अपने घर को ताजमहल बनाने के लिए
दीवारों पर किसी ने मुमताज लिखा है

जिंदगीभर तेरे आसरे पर जीने वालों ने
हर सांस को तेरा ही मोहताज लिखा है

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – माना कि तेरे हुस्न के काबिल नहीं हूं मैं

love shayari hindi shayari


पत्थर की तरह दिल को तराशा है बार-बार
एक ताजमहल हमने बनाया है बार-बार

हम तो वफा की राह पे तन्हा ही रह गए
पर रहगुजर पे तुमको तलाशा है बार-बार

आए हैं उसी मोड़ पे, है अपना नहीं कोई
इस शहर ने दीवाने को ठुकराया है बार-बार

माना कि तेरे हुस्न के काबिल नहीं हूं मैं
पर इश्क तेरे दर पे मुझे लाया बार-बार


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari