Tag Archives: तेरी तलाश शायरी

शायरी – मैं तो जिंदा हूं, तेरा ख्वाब जो सलामत है

new prev new shayari pic

तेरी यादों के जज्बात इस कदर छलके
मेरी आंखों के पैकर से अब जहर छलके

मैं तो जिंदा हूं, तेरा ख्वाब जो सलामत है
रात दिन तेरा ही चेहरा हर पहर झलके

अब किसी राह की ख्वाहिश नहीं दिल में
हमने जब देख लिया तेरी रहगुजर चलके

चांद के नूर की तलाश में भटकता हुआ
बुझ गया है वो गर्दिश का सितारा जलके

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements

शायरी – जबसे तुम मेरी जिंदगी में चली आई हो

new prev new next

न जाने कबसे तेरी तलाश में भटक रहा हूं मैं
अब जो मिली हो तो दिल में मटक रहा हूं मैं

मेरी हर बात पर तुम इस तरह हंसती हो
देखो दुनियावालों की नजर में खटक रहा हूं मैं

मुझे उतारकर मेरी जान तुम कब पहनोगी
तेरी खूंटी पर जाने कबसे लटक रहा हूं मैं

जबसे तुम मेरी जिंदगी में चली आई हो
तबसे महफिल भूल कमरे में अटक रहा हूं मैं

©RajeevSingh

शायरी – मैं क्यूँ भटक रहा हूँ, ये किसकी तलाश है

prevnext

मैं क्यूँ भटक रहा हूँ, ये किसकी तलाश है
तेरी तलाश है मुझे या खुद की तलाश है

शहर के जंगल में बचे हैं महलों के बरगद
बेघर हुए पंछी को एक शाख की तलाश है

हर इंसान के अंदर एक मुकम्मल जहां है
मुझको उस मुकाम के राह की तलाश है

तेरी गली में घूमता आशिक हूँ बेसहारा
सदियों से इश्क को हुस्न की तलाश है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जब कभी तुम करीब से गुजर जाती हो

new prev new shayari pic

उदास लड़की जब तुम मुस्कुराती हो
मेरे सोये हुए अरमान को छेड़ जाती हो

मन के तार बज उठते हैं यूं तड़पकर
जब कभी तुम करीब से गुजर जाती हो

तुम्हारी तलाश में दिल कितना भटका
तुम मिली तो मुझे दर्द से भर जाती हो

जाने कब समझोगी अपने दीवाने को
इश्क में क्यों इतना इंतजार करवाती हो

©राजीव सिंह शायरी