Tag Archives: दिलजला शायरी

शायरी – इस रात के आलम में मेरा इश्क जानेजां

love shyari next

आ जाओ, अब मौसम भी मस्त हो चला
खड़ा है तेरी राह में देखो एक दिलजला

आंखों की रोशनी से एक चांद बनाएं
आशियां में तारों सा हम जाएं झिलमिला

आओ तुझे बाहों में भरके प्यार करूं मैं
मिट जाए दोनों की तन्हाई का सिलसिला

इस रात के आलम में मेरा इश्क जानेजां
तेरे हुस्न की आगोश में खोने को है चला

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements

शायरी – कांटें मिले हैं जिसको उसे मैं दिलजला लिखूं

love shayari hindi shayari

इस दर्द की तारीफ में अब क्या गिला लिखूं
दिन-रात के फिराक का क्या सिला लिखूं

बस्ती में खिला फूल भी औरों का हो चुका
कांटे मिले हैं जिसको उसे दिलजला लिखूं

घर लौटते हैं किसलिए अपनों से लड़ते लोग
नहीं जानता उन्हें तो क्यूं बुरा भला लिखूं

मेरे सफर में रह सका न कोई मेरे साथ
तन्हाइयों को ही मैं अब सिलसिला लिखूं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – आग को सीने में रखना दिलजलों का काम है

love shyari next

आग को सीने में रखना दिलजलों का काम है
अपने ही आंसू से जलना दिलजलों का काम है

छुप गए थे हाले-दिल चांद-तारों की भाषा में
खामोशी से सब कुछ कहना दिलजलों का काम है

साथ चला है एक साया संग मेरे एक दिशा में
आठों पहर तन्हा भटकना दिलजलों का काम है

दुनिया जिनको ठुकराती है पागल और बर्बाद समझके
उनसे ही दो बातें करना दिलजलों का काम है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari