Tag Archives: दुआ शायरी

शायरी – आंसू के कतरों से तेरे लिए दुआ निकली

love shayari hindi shayari

मेरी आंखों से गुनाह की सजा निकली
आंसू के कतरों से तेरे लिए दुआ निकली

जो ख्यालों में बहुत सच्ची लगती थी
उसे करीब से देखा तो बेवफा निकली

जिसे पीकर मैं कभी होश में न आ सका
वो हुस्न तो एक दिलकश नशा निकली

जब लौटा उसके दर से ठोकरें खाकर
आईने में अपनी सूरत गुमशुदा निकली

मुझे मुहब्बत के समंदर में डुबोकर
जाने किधर साथ छोड़ मेरी खुदा निकली

©RajeevSingh #love shayari

Advertisements

शायरी – तूने आशिकी में मेरे दिल के टुकड़े किए

love shayari hindi shayari

जख्मे-दिल सीने में दरिया सा बहता है
मेरे खूने-जिगर में तेरा खंजर रहता है

तूने आशिकी में मेरे दिल के टुकड़े किए
तेरा जाना मुझे शीशे की तरह चुभता है

कोई अंजाम बाकी नहीं मेरे जीवन में
दर्द ही दर्द आठों पहर आंखों से रिसता है

जहां भी रहो, तुम खुश रहना मेरी जान
ये दिल तेरी खातिर यही दुआ करता है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरे जीने की दुआ मांगती रहती हूं मैं

love shayari hindi shayari

मेरी आंखों में सिर्फ तू ही तू बसता है
ये मुझे पता है और आईने को पता है

तेरे जीने की दुआ मांगती रहती हूं मैं
और तूने मुझको दी मौत की सजा है

कोई न जान सका है ये राज-ए-इश्क
अजनबी पर दिल क्यों होता फिदा है

जब भी आहट सुनाई दे जाती है कोई
मुझे लगता है कि ये तुम्हारी सदा है

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – मुहब्बत की दुआ तुम तक पहुंच जाती तो अच्छा था

love shayari hindi shayari

मोहब्बत की दुआ तुम तक पहुंच जाती तो अच्छा था
तू कभी चल कर हमारे पास आ जाती तो अच्छा था

सारी दुनिया का दर्द तेरी दो आंखों में सिमट आया था
समंदर की लहरें मेरे दामन भिगो जाती तो अच्छा था

कभी करीब से चांद को छूना अब तक तो नसीब न हुआ
मेरे आईने को एक बार चेहरा दिखा जाती तो अच्छा था

तुझे भूल सकता हूं मगर ये करने को मेरा जी नहीं करता
इस आशिक को तू अपने जैसा बना जाती तो अच्छा था

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – जो फूल उसकी जुल्फों तक नहीं पहुंच सका

love shayari hindi shayari

मुहब्बत के मुकद्दर में वो हसीं शाम कभी होती
सोचता हूं ये जिंदगी तो उसके नाम कभी होती

जो फूल उसकी जुल्फों तक नहीं पहुंच सका
उसे तोड़ने को वो दिल से परेशान कभी होती

मुझे पत्थर समझकर जो हमेशा तराशती रही
उस खुदा से हमारी दुआ सलाम कभी होती

जिसको देखा किए हर शब उल्फत के आइने में
वह अक्स हमारे आशियां की मेहमान कभी होती

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – अब दिल के लिए कोई पत्थर भी तो आए

love shayari hindi shayari

तुम किस अंधेरे में हो ऐ नूर खुदा के
शब ने तुझे पुकारा है खामोश सदा से

दामन की उलझनों में डूबे हुए हैं हम
लो दफ्न हो गए हैं खुद अपनी खता से

अब दिल के लिए कोई पत्थर भी तो आए
ऐ बेरहम तन्हाई मुझे इतनी दुआ दे

एक दर्द का वजूद है आगोश में मेरे
वो दूर रह रहा है अपनी दिलरुबा से

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – मेरी खातिर तेरे दिल में दुआ भी नहीं

love shayari hindi shayari

हमें तुम छोड़ गए हो, ये सोचा भी नहीं
जिसे तुम तोड़ गए हो, वो टूटा कि नहीं

तुम दामन में समेटती हो गैरों की वफा
मेरी खातिर तेरे दिल में दुआ भी नहीं

तेरी पलकों में बसे थे दर्द के शबनम
उन निगाहों में अब कोई हया भी नहीं

तेरा अक्स जवां है किसी और के आईने में
मेरी किस्मत में अब तेरा साया भी नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जो सजा देती हैं, वो यादें ले जाओ

love shayari hindi shayari

इल्तजा है मेरी, तुम ये आहें ले जाओ
जो सजा देती हैं, वो यादें ले जाओ

मेंहदी रचाना है तुझे अपने बदन पर
आकर मेरे जिगर का खून ले जाओ

ये चिट्ठी, तस्वीरें और इश्क की सौगातें
तुम सब दिखावे का सामान ले जाओ

माफ किया तुमको मेरी नादां वफा ने
तुम खुश रहो बस ये दुआ ले जाओ

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – उनको होता है कभी भी सच्चा प्यार नहीं

love shayari hindi shayari

जिनकी नजर को किसी का इंतजार नहीं
उनको होता है कभी किसी से प्यार नहीं

बंदिशों में रहके ही मेरी जां दुआ कर लो
घर से बाहर तेरे खातिर कोई बेजार नहीं

तेरी दुनिया में कितना शोर है ऐ खुदा
यहां किसी को खामोशी की दरकार नहीं

तू पिलाती है नशा तो जिंदा हूं साकी
वरना इस दर्द में तो जीने के आसार नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जब तलक जिंदगी में आप रहे

love shayari hindi shayari

इस पापी दुनिया में हम पाक रहे
जब तलक जिंदगी में आप रहे

मैल कितने भी जमे बदन पे
मगर दिल से बड़े ही साफ रहे

जल रहे हैं यही दुआ करके
तेरे आंचल में मेरी राख रहे

हम भटकते रहें भूखे ही सही
इस तरह से बची ये प्यास रहे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – फिर क्यूं शिकायत करें बेवफा से

love shayari hindi shayari

दुख भी सहा था दिल की रजा से
फिर क्यूं शिकायत करें बेवफा से

करजदार हूं मैं दुनिया में सबका
दगा भी मिले हैं सबकी दुआ से

खंजर को पहलू में रखा था लेकिन
चलाया था खुद पे अपनी अदा से

तेरा आशियाना तुम्हीं को मुबारक
मुसाफिर को क्या काम ऐसी बला से

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – हद से ज्यादा ये दर्द जब बढ़ जाएगा

love shayari hindi shayari

हम वस्ल के वहम में जीये जाएंगे
हिज्र के दर्द अलम से पीये जाएंगे

तेरी यादों की रातों में रोएंगे हम
इश्क में ये सितम भी सहे जाएँगे

हद से ज्यादा ये दर्द जब बढ़ जाएगा
हम खामोशी को तोड़ गजल गाएंगे

जब फुरकत के सदमे मिले हैं हमें
तुमसे मिलने की दुआ बस मांगेंगे

वस्ल- मिलन
फुरकत- विरह
हिज्र – जुदाई

अलम – वेदना, कष्ट

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – एक दिन दिल तोड़ता है वो शख्स मुस्कुराकर

prevnext

आजमा कर देखिए हर शख्स को दुनिया में
वो पहले वफा दिखाते हैं, फिर दगा करते हैं

वफा करते हैं ताकि ऐतबार वो पा ले आपका
फिर बेवफाई का फर्ज वो अदा करते हैं

वो अपना काम निकालते हैं कुछ इस हुनर से
कि आप धोखे खाकर भी उनसे मिला करते हैं

आपकी जान कब वो लेगा, ये खबर नहीं आपको
और आप उनकी सलामती की दुआ करते हैं

एक दिन दिल तोड़ता है वो शख्स मुस्कुराकर
रो-रो के तब खुद ही से आप गिला करते हैं

होता है तज़रबा ऐसा कि दुनिया की राह पे
आदमी से बच-बच कर आप चला करते हैं

परायों को तो खैर आप दुश्मन समझते ही हैं
अपनों से भी डर-डर कर रहा करते हैं

कोसते रहते हैं अपनी जिंदगी को उम्रभर
भीड़ में हंसते हैं मगर तन्हाई में रोया करते हैं

©RajeevSingh #love shayari