Tag Archives: धूप शायरी

shayari – मोहब्बत न करते तो हम तुम आजाद नहीं होते

shayari latest shayari new

दिल की दुनिया शायरी इमेज

मोहब्बत न करते तो हम तुम आजाद नहीं होते
दिल के रिश्ते किसी नाम के मोहताज नहीं होते

सफर की तेज धूप से मुझे तेरा साया बचाता है
ये अलग बात कि कभी तुम मेरे पास नहीं होते

तन्हाई में तुम्हारी यादें दिल को आराम देती हैं
तुम न होते तो जीने के लिए जज्बात नहीं होते

जीना चाहती हूं अपनी इस दिल की दुनिया में
तेरे बगैर जिंदगी में कभी हम आबाद नहीं होते

shayari green pre shayari green next

Advertisements

शायरी – दर्द से अब निजात दिलाए कोई

love shayari hindi shayari

मुझे अपने पहलू में छुपाए कोई
दर्द से अब निजात दिलाए कोई

हमसफर मेरा जिस डगर पे है
उस मोड़ तक मुझे पहुंचाए कोई

मेरी जिंदगी में कोई रोशनी नहीं
मेरे घर में शम्मा जलाए कोई

जमाने की इतनी कड़ी धूप में
आंचल की छांव में बुलाए कोई

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – रात के साये में जीकर हमने जाना

love shayari hindi shayari

जो भी मिला बस तेरी रजा थी
कभी बावफा थी, कभी बेवफा थी

आंखों में मेरे जो आंसू भी आए
हमने ये सोचा कि तेरी दुआ थी

मेरी ये हकीकत मुझे न बताओ
कि मेरी ये किस्मत मुझसे खफा थी

रात के साये में जीकर हमने जाना
दर्द के धूप की ये अच्छी दवा थी

(बावफा- वफा के साथ)

©RajeevSingh

शायरी – मेरी मुंतज़िर निग़ाहों को हुस्न का रूप मिला

prevnext

जख़्म दर जख़्म हम पाते गए कुछ न कुछ
हर दर्द हर गम पे गाते गए कुछ न कुछ
जो मुझे एक पल की खुशी दे न सके
वो हर पल सितम ढ़ाते गए कुछ न कुछ

हर मंजिल पे एक किनारा दिखता था मगर
उसके बाद एक रोता समंदर भी रहता था
हम नहीं गए उस किनारे पे दिल के लिए
जहाँ आँसू न थे पहले से कुछ न कुछ

मेरी मुंतज़िर निग़ाहों को हुस्न का रूप मिला
मेरे बेकरार रूह को दर्द का धूप मिला
चाँद तो बस दूर से ही नूर को बिखराती रही
मगर देती रही बुझते चिराग को कुछ न कुछ

हमें अफसोस नहीं कि तुझे देखा नहीं जी भर के
तेरी तस्वीर तो तेरे आने से पहले सीने में थी
तू आके बस दरस दिखा के गुजर गई
अब उम्रभर तेरे बारे सोचना है कुछ न कुछ

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – मेरी उदासियाँ भी सुनाएगी दास्ताँ

prevnext

महसूस करेगा वो मेरे दर्द की जुबाँ
मेरी उदासियाँ भी सुनाएगी दास्ताँ

पतझड़ की बारिशों में वो भीग गया है
अब धूप के लिए जलाएगा आशियाँ

लाएगा रंग इश्क ये उसमें इस तरह
अपनी चिता के वास्ते खोजेगा लकड़ियाँ

अपने ही लहू से लिखेगा मेरा नाम
अपने ही खंजर से तराशेगा ऊंगलियाँ

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – तुमसे वफा की आस भी रखूं भी मैं किस राह पर

love shyari next

तेरी दिल्लगी भी इश्क में मेरे दिल का गुल खिलाएगी
तेरी बेवफाई भी मुझसे एक हसीन गजल लिखवाएगी

तुमसे वफा की आस भी रखूं भी मैं किस राह पर
मालूम है तू एक दिन बड़ी दूर निकल जाएगी

सज़दे की वो जमीं है, जहां बैठकर मैं रोता हूं
तेरे दर्द के इन अश्कों में मेरी मिट्टी भी गल जाएगी

बरसों बरस भी धूप है, सूरज ही जिसका रूप है
इस जिंदगी की आग से तू चांद में बदल जाएगी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari