Tag Archives: धोखा शायरी

रिश्तों को निभाने की मजबूरी पुरानी है

shayari latest shayari new

रिश्तों को निभाने की मजबूरी पुरानी है
जिंदगी तो जैसे समझौतों की कहानी है

दुनिया के अंदर तो धोखे का समंदर है
यहां करते हैं वफा, मिलती बदनामी है

यार बनाकर जिसने मेरा खून किया
उसके चेहरे पर शिकन न परेशानी है

जहां अक्ल वालों की महफिल है वहां
जिधर देखिए दिलवालों की नाकामी है

©rajeevsingh             शायरी

shayari green pre shayari green next

Advertisements

शायरी – कौन सा मतलब दिल में आया

new prev new shayari pic

कौन सा मतलब दिल में आया
जो हमसे इतना प्यार जताया

अमृत है, कह कह के तुमने
जाने कितनों को जहर पिलाया

धोखों को जेब में रख चलते हो
जो भी मिला उसे एक थमाया

मीठी जुबां, मासूम सा चेहरा
खुदा ने भी क्या जाल बनाया

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – तेरी बेवफाई का गिला कैसा

new prev new shayari pic

हम उस मुकाम पर नहीं होते
अजनबी रास्ते जहां नहीं होते

तेरी बेवफाई का गिला कैसा
धोखे दुनिया में कहां नहीं होते

ऐ हुस्न गर तू उदास न होती
तुम्हारे दीवाने वहां नहीं होते

हर टुकड़ा दर्द का कहता है
टूटे आईनों के जुबां नहीं होते

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – दिल जमाने को समझेगा आखिर कब

new prev new shayari pic

ठोकरें खाना बंद करेगा आखिर कब
दिल जमाने को समझेगा आखिर कब

मुद्दतों से मुझे ख्वाब दिखा रहा है वो
सारे ख्वाब तोड़ जाएगा आखिर कब

हाल रिश्तों का एक दिन बुरा होते देखा
तू भी तो मुझे धोखा देगा आखिर कब

आईने से कई बार ये पूछती रहती हूं मैं
मेरा वजूद मुझे तलाशेगा आखिर कब

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – दिल छोड़ देगा रिश्ते नाते बनाना

new prev new shayari pic

कब तक जिंदगी से घबराते रहेंगे
खुशियां औ गम आते जाते रहेंगे

दिल छोड़ देगा रिश्ते नाते बनाना
जो दुनिया में हम धोखे खाते रहेंगे

दर्द लिखने से ही तो रोटी मिली है
अपने जख्मों में कांटे चुभाते रहेंगे

ये अच्छा ही हुआ जो तुम न मिली
अब खुद पे ही इश्क लुटाते रहेंगे

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – हम करते रहे वफा, वो धोखा देना नहीं भूला

yellow prev yellow next

मेरा यार कभी मुझसे यारी निभाना नहीं भूला
जब भी मिला मौका, दिल दुखाना नहीं भूला

उसकी फितरत में बेवफाई इस कदर बसी थी
हम करते रहे वफा, वो धोखा देना नहीं भूला

दूध पिलाता रहा मैं एक आस्तीन के सांप को
आखिरकार वो एक दिन मुझे डसना नहीं भूला

जब देखा मासूमियत में छिपा खतरनाक चेहरा
जिंदगीभर मैं उस यार का बुरा सपना नहीं भूला

©rajeev singh shayari

शायरी – उसने दिल से प्यार किया, धोखा भी किया

love shayari hindi shayari

उसने दिल से प्यार किया, धोखा भी किया
एक ही शख्स ने अच्छा किया, बुरा भी किया

सांसें चलती रहीं, हंसते रहे, रोते भी रहे
जिंदगी जीता रहा और रोज-रोज मरा भी किया

कभी उसपे गुस्सा हुए तो कभी दिल आया
उसे खुश रखने की कोशिश की, खफा भी किया

ये न करती वो तो क्या मोहब्बत कर पाते
हमसे मिलती भी रही और हमको जुदा भी किया

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – गम से घिरे इंसान को यूं छोड़ देता है जहान

love shayari hindi shayari

वो जानेवाला चला गया, मुड़ के कभी देखा नहीं
एक भीड़ देखती रही, किसी ने उसे रोका नहीं

गम से घिरे इंसान को यूं छोड़ देता है जहान
तन्हा ही वो मरता रहा और तूने भी टोका नहीं

राज ए दिल छुपा के जो खामोशी से जीता रहा
कहने को तो मिला उसे हसीन सा मौका नहीं

सुकून से है सो रहा जो कब्र में पड़ा हुआ
जिस ख्वाब ने जगाया था, वो देगी अब धोखा नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मुहब्बत की दुआ किसने नहीं मांगी

love shayari hindi shayari
मुहब्बत की दुआ किसने नहीं मांगी
अपने लिए ही सजा किसने नहीं मांगी
भले ही वो दें कितने ही बार धोखे
बेवफा से भी वफा किसने नहीं मांगी
उनकी यादों का दर्द जब कमने लगा
दुख बढ़ने की दवा किसने नहीं मांगी
उदासी के आईने को सजाने के लिए
हुस्न से एक अदा किसने नहीं मांगी

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – वो फरिश्ता है जिसे मौत का गम न हो

love shyari next

इन हवाओं से बारहा ठोकर खाकर
फूल गिरते रहे पेड़ों से जमीं पे आकर

अपनी किस्मत में कभी चैन का नाम नहीं
नींद आती है न कभी वक्त पे जाकर

बेवफा उनको क्यूं कहूं जो साथ न दे
हमने तो जीना सीखा है बस धोखे खाकर

वो फरिश्ता है जिसे मौत का गम न हो
जो चढ़ता हो सूली पे खुद से जाकर

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – अपना दिले-नादान लेकर हम जबसे शहर गए

love shayari hindi shayari

अपना दिले-नादान लेकर हम जबसे शहर गए
मीठी बातों की आड़ में सब धोखा कर गए

हर घर में एक दुकान है, रिश्ते बिकते हैं जहां
दिल की जगह में सब यहां रुपया पैसा भर गए

बाजार की भीड़ में हैं जगमगाते जिस्म बहुत
ये हसीं नजारे सबकी नजर को अंधा कर गए

अपना वतन मिला नहीं ऐसे शहर में कहीं
जिसकी तलाश में जीते जीते हम तन्हा मर गए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दर्द से काम लिया तो हम बदनाम हुए

new prev new next

दिल गुनाहों से हुआ पाक, बड़ा ताज्जुब है
दो निगाहों से हुआ चाक, बड़ा ताज्जुब है

दर्द से काम लिया तो हम बदनाम हुए
और तुमने भी दिए दाग, बड़ा ताज्जुब है

हम तो मिलने ही गए थे महबूब के शहर
उसके दर पे मिला खाक, बड़ा ताज्जुब है

यूं तो खाते रहे जिंदगीभर धोखे पर धोखा
लेकिन संभला नहीं दिल, बड़ा ताज्जुब है

चाक – टुकड़े

©RajeevSingh

शायरी – वो कायनात लिए फिरते थे अपने आँचल में

new prev new shayari pic

अरमानों की बात कहकर हर चीज पर मुझे टोका
अपनों ने ही इस कदर मेरी जिंदगी का गला घोटा

जब कभी नया कुछ करने निकला इस दुनिया में
लोगों ने कदम कदम पर मुझे वह करने से रोका

बहुत अहसान हो चुका है बेवफाओं का मुझपर
जीना तो उनसे भी सीखा जिसने दिया था धोखा

अपने आंचल में वो कायनात को लिए फिरती थी
उसकी दहलीज से दिल खाली दामन लिए लौटा

©rajeevsingh              शायरी

prev shayari green next shayari green