Tag Archives: पागल शायरी

शायरी – हम तो किसी की आंख का काजल न बन सके

shayari latest shayari new

तुमको उदास शायरी

हम तो किसी की आंख का काजल न बन सके
अफसोस कि आशिकी में पागल न बन सके

मोहब्बत में हम भले लाख बरसकर दिखा दें
फिर भी कहेंगे वो कि हम बादल न बन सके

उतरकर चले गए वो मेरे दिल की सीढ़ियों से
हम तो उसकी जिंदगी की मंजिल न बन सके

देखता हूं उदास उसको, होता है दर्द मुझे भी
शीशे सा वजूद लेकर हम संगदिल न बन सके

©rajeevsingh                  shayri

shayari green pre shayari green next

Save

Save

Advertisements

शायरी – रातों में दर्द का बस ये कसूर होता है

love shayari hindi shayari

रातों में दर्द का बस इतना कसूर होता है
तेरी याद में आंखों का रोना जरुर होता है

मेरे सामने तू कुछ कह सकता नहीं
दिल से आखिर तू कितना मजबूर होता है

ऐसा लगता है मैं पागल हो जाऊंगी
ऐ खुदा इश्क में ये कैसा दस्तूर होता है

रास्तों पे चलते हुए रह जाती हूं तन्हा
तेरा दामन मुझसे जाने कितनी दूर होता है

©RajeevSingh # love shayari

 

 

शायरी – तुमसे रिश्ता है कैसा, आईना जानता है

love shayari hindi shayari

दर्द ही एक मरहम है इस दिल के लिए
और आंसू ही जीवन है इस दिल के लिए

जिस मुसाफिर को तुम पागल समझ बैठे हो
वो दीवाना बन गया है इस दिल के लिए

तुमसे रिश्ता है कैसा, आईना जानता है
उसमें एक अक्स है तेरा इस दिल के लिए

किसी बेबस की तरह मैं नहीं जी पाता हूं
जब गजल लिख नहीं पाता इस दिल के लिए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – पल दो पल ये साथ हमारा, एक मुसाफिर एक हसीना

love shayari hindi shayari

पागल-पागल सब कहते हैं, दीवाने तुम कहते हो
मुझपे सबने पत्थर फेंका, फूलें तुम बरसाते हो

पल दो पल ये साथ हमारा, एक मुसाफिर एक हसीना
आवारों की गर्दिश में तुम हुस्न की शमा जलाते हो

ये दुनिया मेरी कातिल है, तूने जान बचायी मेरी
मुज़रिम तेरे पीछे पड़े हैं, उनसे तुम टकराते हो

तुमने सागर को देखा है, हमने बस तुमको देखा
ठहरे अश्क में डूबी निगाहें, गहरे दर्द में जीते हो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जानती हूं तुझे जाने कितनी सदी से

love shayari hindi shayari

ठहर जा ऐ सावन, ठहर जा ऐ बादल
बहने दे निगाहों से थोड़ा तो काजल

छोड़के ओ फरिश्ते तुम जा न सकोगे
जब चिड़िया तुम्हीं से हुई है रे घायल

जानती हूं तुझे जाने कितनी सदी से
जुदाई में भीगा है बरसों से आंचल

अब तू ही बस सहारा है ऐ खुदा मेरे
बिन तेरे लगता है हो जाऊंगी पागल

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – आग को सीने में रखना दिलजलों का काम है

love shyari next

आग को सीने में रखना दिलजलों का काम है
अपने ही आंसू से जलना दिलजलों का काम है

छुप गए थे हाले-दिल चांद-तारों की भाषा में
खामोशी से सब कुछ कहना दिलजलों का काम है

साथ चला है एक साया संग मेरे एक दिशा में
आठों पहर तन्हा भटकना दिलजलों का काम है

दुनिया जिनको ठुकराती है पागल और बर्बाद समझके
उनसे ही दो बातें करना दिलजलों का काम है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari