Tag Archives: पुरवाइयां

शायरी – जाने क्या बात छुपी है मेरे साजन में

love shayari hindi shayari

कभी आती नहीं माहताब मेरे आंगन में
कभी थमती नहीं बरसात मेरे सावन में

संग बैठा है इंतजार इस तरह तन्हा
कोई आती नहीं आवाज मेरे जीवन में

ये मेरी आह की पूरवाइयां कहां जाएंगी
कोई रास्ता नहीं तुम तक मेरे दामन में

क्यूं मेरे पास तेरी याद बाकी है अब तक
जाने क्या बात छुपी है मेरे साजन में

Advertisements