Tag Archives: प्रेम पाती

एक औरत के प्रेम-पत्र – 6 – प्रिय तुम मेरे सबसे अच्छे दोस्त हो

love shayari hindi shayari

मेरे दोस्त: क्या तुम सोचते हो कि खत में तुमको दोस्त लिखना बहुत सर्द सी शुरुआत है? मैं ऐसा नहीं सोचती।

क्या दोस्ती सच्चे प्यार की पहली मंजिल नहीं होती? मैं नहीं जानती कि मर्द किस तरह प्यार में पड़ते हैं लेकिन खुद के बारे में इतना कह सकती हूं कि मैं तुम्हारे प्यार में नहीं पड़ती अगर पहले तुमसे दोस्ती न हुई होती।

ओह, मेरे प्रिय, और उसके बाद, मैं तुमसे दोस्ती के ऐसे धागे से बंध गई हूं जिसका कोई ओर-छोर नहीं है।

मैंने सुना है कि मर्द ऐसा कहते हैं कि औरतों के साथ दोस्ती के रिश्ते में सच्चाई और गहराई की कमी होती है। जो ऐसा बोलते हैं, उनके बारे में मैं ऐसा सोचती हूं कि उनको कभी किसी औरत की सच्ची दोस्ती नहीं मिली है।

मैं अपनी जाति की प्रशंसक हूं क्योंकि मैं उसके अकेलेपन के कुछ रहस्यों को जानती हूं जिसे तुम मर्द नहीं जानते। एक समय मैंने यह भी जाना कि तुम्हारी दोस्ती मेरी जिदंगी के लिए सबसे गहरी चीज है।

इसलिए क्या यह कहना सही नहीं होगा कि औरत दोस्ती के रिश्ते में मर्दों से कहीं ज्यादा खो जाती है क्योंकि मर्दों के मुकाबले यह उसके लिए बहुत मायने रखती है और उसकी जिंदगी को दूर तक छूती हुई गुजरती है?

लेकिन मर्दों में दोस्ती की कितनी ही क्षमता हो, यह उसके मन को नहीं भर सकती। एक मर्द हमेशा दोस्ती से आगे एक ऐसी औरत को पाना चाहता है जो उसके जीवन को पूर्णता दे, उसके रूह और जिस्म को वह सब कुछ दे जो उसको चाहिए। सिर्फ दोस्ती किसी मर्द को संतुष्ट नहीं कर सकती। वह कुछ चीजों पर अपना अधिकार मानकर चलता है और जीवन में दोस्ती से कहीं ज्यादा पाने का दावा करता है।

लेकिन एक औरत के लिए एक समय ऐसा आता है जब प्यार में दोस्ती ही सब कुछ हो जाती है। किसी की दोस्त बनने की  तीव्र इच्छा ही ऐसी औरतों के रूह को छूकर गुजरती है और दोस्ती को ही प्यार में ज्यादा तवज्जो देती है।

love shayari hindi shayari

Advertisements

एक औरत के प्रेम पत्र- 5 – प्रिय क्या तुमको मेरा जन्मदिन याद है!

love shayari hindi shayari

प्रिय: मुझे ऐसा अहसास हो रहा है कि आज तुम कुछ न कुछ ऐसा करोगे जिसकी वजह से खास तौर से मुझे बहुत खुशी मिलेगी। मेरी सारी खुशियां तुम्हारे दामन में हैं।

यह बता नहीं सकती कि मैं तुम्हारी कितनी अहसानमंद हूं। तुमको यह अहसास होना चाहिए। मेरे जिस्म और रूह की सारी खुशियों के पीछे तुम्हारी इनायत है जो जाने-अंजाने में तुमसे मुझे मिले हैं।

मैं आज के दिन भी यही सोच रही हूं कि मर्दों में तुम सबसे ज्यादे अंजाने किस्म के हो क्योंकि तुमने मुझसे मेरी जिंदगी के बारे में कभी पूछा नहीं।

शायद तुमको यह कभी याद भी नहीं आएगा कि मैं इस धरती पर कभी पैदा भी हुई थी।

आज मेरा जन्मदिन है!

तुमने कभी पूछा नहीं, इसलिए मैंने भी कभी बताया नहीं; फिर भी यह दिन आ ही गया। क्या तुम इस बारे में जानते हो, क्या तुमने किसी और से इस बारे में कभी पूछा था?

अगर तुम जानते होते तो जरूर मुझे अपनी प्यार भरी बातों के साथ बधाई देते। मुझे लगा कि आसमान से सीधे तुम्हारे पास इस बात की खबर आएगी और तुम मुझे इस बात के लिए माफ करोगे कि मैने वह बात तुमसे छिपाए रखी जिसके बारे में तुमने कभी पूछा ही नहीं।

मैं तुमको अपने जन्मदिन की बधाई देती हूँ मेरे आशिक!

तुम्हारे लिए ही यह दिन आया है। क्या तुम आज खुश हो, मेरे मन में यह सवाल है?

मैं यह भी सोच रही हूँ कि क्या मैं तुमको आज शाम अपने घर के अंदर खामोशी से आते देख सकूंगी? क्या तुम आज आकर उन बिखरे हालात को ठीक कर दोगे जो दिनभर मेरे अंदर हलचल मचाते रहे?

अब मैं तुम्हारे लिए इस पत्र को मोड़कर रख रही हूं। हालांकि सूरज के निकले हुए काफी वक्त बीत चुका है। फिर भी मैं तुमको ‘गुड आफ्टरनून’ नहीं कह सकती क्योंकि हम दोनों के प्यार की डिक्शनरी में ऐसा कोई लफ़्ज है ही नहीं।

गुड नाइट। मेरे लिए अपनी उंगलियों को रोकना कितना कठिन है जो तुम्हारे लिए लिखते हैं। मैं तुमको इतनी बार चूमती हूँ कि मैं गिन नहीं पाती।

मेरे डियरेस्ट, मेरे स्वीटहार्ट, मैं तुम्हारी इबादत करती हूं। गुड नाइट।

जब तक मैं जिंदा हूं तब तक जितना महसूस करती हूं उससे कहीं ज्यादा तुमसे प्यार करना है।

love shayari hindi shayari