Tag Archives: फकीरी शायरी

शायरी – क्यों रोते हैं सब मेरी जिंदगी के मुस्कुराने से

new prev new shayari pic

सोचा मगर समझ न सका ये राज जमाने से
क्यों रोते हैं सब मेरी जिंदगी के मुस्कुराने से

अपना दुखड़ा ही रोते रहते हैं रिश्तेदार मगर
वो खूब हंसते हैं अपनों के बरबाद हो जाने से

किस बात की जलन दिलों में पालते हैं लोग
क्या मिलता है उन्हें दूसरों का घर जलाने से

जिनको बहुत कुछ पाकर भी खुश नहीं देखा
वो मेरी फकीरी पर बाज नहीं आए झल्लाने से

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements

शायरी – तुम जो मिल जाओ तो सब कुछ मिल जाए

love shayari hindi shayari

चांद से आज भी मेरी बहुत दूरी है
यह जमीं पे रहने की मजबूरी है

दिल लगाने से ये दिल जल जाए सही
इस लगन के बिना जिंदगी अधूरी है

तुम जो मिल जाओ तो सब कुछ मिल जाए
ना मिलो तो तबियत में फकीरी है

नींद खुल जाए अपनी ही मौत से पहले
इसलिए ख्वाबों का टूट जाना जरूरी है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जलते हुए खिजां में ये सावन कहां से आया

love shayari hindi shayari

इतनी तो गनीमत है कि जीता हूं, न मरता हूं
इतनी ही जरूरत है कि तुझे याद मैं करता हूं

नस-नस में मेरे बह रही है दर्द की दरिया
अब खून किसी का भी पीने से मैं डरता हूं

जलते हुए खिजां में ये सावन कहां से आया
प्यासी सी जमीं पे मैं बरसात में रहता हूं

अब ऐसी फकीरी है, क्या खोना है क्या पाना
जो रहगुजर सूनी हो, उस ओर ही चलता हूं

(खिजां- पतझड़)

©RajeevSingh #love shayari