Tag Archives: फिजा शायरी

shayari – दिल के दर्द की तो कोई दवा नहीं मिलती

shayari latest shayari new

ऐ खुदा शायरी इमेज

दिल के दर्द की तो कोई दवा नहीं मिलती
बेवफा को यहां कोई भी सजा नहीं मिलती

हम तो लुट गए हैं उन पर यूं ऐतबार करके
बरबाद हुए मगर उनसे वफा नहीं मिलती

मेरी मोहब्बत पर उसे भी ऐतबार हो जाए
वो भी याद करे मुझे, ये दुआ नहीं मिलती

उसकी चाहत फिर मुझे दिला दे ऐ खुदा
उसके बगैर जीने की फिजा नहीं मिलती

shayari green pre shayari green next

Advertisements

शायरी – नशीली रातों को तुझपे नाज आज भी है

new prev new next

हसीन वादियों में तेरी याद आज भी है
इन फिजाओं में तेरी आवाज आज भी है

कैसे भूलेंगे लोग आसानी से मोहब्बत को
दुनिया में शाहजहां का ताज आज भी है

दिलवालों का सर कलम कर देने के लिए
सदियों का यह दुश्मन समाज आज भी है

आंख लगती है तो तेरे ही ख्वाब आते हैं
नशीली रातों को तुझपे नाज आज भी है

©RajeevSingh

शायरी – मिटाओ इस तरह हमको कि कोई निशां न रहे

new prev new next

मिटाओ इस तरह हमको कि कोई निशां न रहे
तेरी फिजा में मेरी मोहब्बत की दास्तां न रहे

मेरी तस्वीर जो किसी कोने में तुम रखती हो
उसपे तन्हाइयों में तेरा दिल मेहरबां न रहे

आंसुओं से जो रोज ये चेहरा अपना धोती हो
उसे देखने के लिए आशिक का आईना न रहे

मैं अंधेरे में अक्सर ये सोचता रहता हूं
कि मेरी तलाश में अब कोई भी शमा न रहे

©RajeevSingh

शायरी – अपने खयालों में देखा जिनको

love shayari hindi shayari


दोनों चिरागों में दो समंदर
देखा है उनकी आंखों के अंदर

अपने खयालों में देखा जिनको
आज नजर में आए वो दिलबर

जुल्फें या आंखें, चेहरा या चितवन
हरसू हैं उनमें जलवों के खंजर

नाजुक बदन जब निकले फिजा में
खुशबू से भर जाए सारा मंजर


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरी जुल्फों तले सोया रहूं आंखें बंदकर

love shayari hindi shayari

बस यही ख्वाब है कि जीवन तेरे संग गुजरे
जो पल आए, वो पल बस तेरे संग गुजरे

तेरी जुल्फों तले सोया रहूं आंखें बंदकर
तुम बांहों में रहो और रात ये संग गुजरे

चांद देखता रहे हमें एकटक बेखुद होकर
प्यार चांदनी में करें, ये दरिया संग गुजरे

बिखर जाए खुशबू, फिजा नाचे झूमकर
हर राह में यूं मुहब्बत हमारे संग गुजरे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – लबों पे नाम है जिनका उन्हें कुछ भी खबर नहीं

love shayari hindi shayari

लबों पे नाम है जिनका उन्हें कुछ भी खबर नहीं
गजल में दर्द है जिनका उन्हें कुछ भी खबर नहीं

जुनूं की तितलियां उड़ती हैं दिल के नर्म फूलों पे
फिजा रंगीन है जिनसे उन्हें कुछ भी खबर नहीं

गमों की शाख पे कोई नशेमन बन नहीं पाता
खुशी के तिनके जो लाए उन्हें कुछ भी खबर नहीं

चला भी जाऊं मैं दुनिया से तो सब ये ही कहेंगे
जान ले गयी है जो उन्हें कुछ भी खबर नहीं

©RajeevSingh #love shayari