Tag Archives: फुरसत शायरी

शायरी – मैं भी मैं कहां रहा, तू भी तू नहीं रही

love shyari next

कुछ कहने और सुनने की आरजू नहीं रही
मैं भी मैं कहां रहा, तू भी तू नहीं रही

तब हर बात पे होती थी अक्सर ही तकरार
अब किसी बात पे प्यार की गुफ्तगू नहीं रही

फुरसत ही नहीं मिलती कि तेरी याद में रोऊं मैं
तुमको भी मेरे आंसुओं की जूस्तजू नहीं रही

तू चाहती कुछ और, मैं सोचता हूं कुछ और
किसी आईने में हमारी सूरत हूबहू नहीं रही

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – तेरे पास आशिक के लिए कुछ नहीं बचता है

love shayari hindi shayari

सारी दुनिया में मेरा नाम जो भी सुनता है
पहले हंसता है फिर दीवाना मुझे कहता है

तुमको फुरसत ना मिली कर्ज को चुकाने से
तेरे पास आशिक के लिए कुछ नहीं बचता है

तोड़ ना पायी तुम पत्थर के इन दीवारों को
दिल तेरा आशियां के कब्र में ही मरता है

रुख हवाओं का जाने कब बदल जाएगा
मौसमे-बेवफाई में दिल का दीया जलता है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – राहत नहीं उस चांद को, हर आग को जो सह गया

love shayari hindi shayari

मेरा दर्द भी बेरंग था जो आंसुओं में घुल गया
था इश्क का ये खून जो मेरी नजर से बह गया

इस जहान की गली-गली ईमान से वीरान थी
इस पाप की नगरी में ये दिल कहीं पे मर गया

सूने महल की सेज पर तन्हा सा बादशाह था
जब लुट गई रियासतें, कोई साथ भी न रह गया

मेरे दर्द के चिराग को जलने से है फुरसत कहां
राहत नहीं उस चांद को, हर आग को जो सह गया

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दिल को इश्क में जलने की किस्मत तो मिले

new prev new next

मेरे दिल में सुकूं को बरकत तो मिले
बेरहम दर्द को कहर ढाने से फुरसत तो मिले

अंधेरा ही अंधेरा बिखरा है मेरे आंगन में
चांद को इधर आने की मोहलत तो मिले

जिंदगी को आग में बदलते देर नहीं लगती
दिल को इश्क में जलने की किस्मत तो मिले

बेवफाई को खुलेआम बरसते देख लिया
इस शहर में मुझे सावन की मोहब्बत तो मिले

©RajeevSingh