Tag Archives: फूल और कांटे शायरी

शायरी – कांटों से दिल जोड़ आए

love shayari hindi shayari


दुनिया को हम छोड़ आए
दुश्मन का दिल तोड़ आए

कानों में जब रूई लगे हैं
कैसे कहीं से शोर आए

रस्ते ही जहां टूटे मिले थे
ऐसे भी कुछ मोड़ आए

फूलों के धोखे में हम तो
कांटों से दिल जोड़ आए


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – इश्क में दिल को ठेस लगाना

love shyari next
इश्क में दिल को ठेस लगाना
तुम बेवफा का रस्म निभाना
बंदा ये कमजोर बहुत है
मौत के दर तक छोड़के आना
तेरी गली में कांटे हैं कितने
लेकिन गुलाबों का नहीं ठिकाना
क्या-क्या सितम भूल चुका हूं
ऐ दिल कभी न याद दिलाना

©RajeevSingh

शायरी – ओ मुझे तन्हा छोड़ के जाने वाले, आखिरी दास्तां सुनते जाओ

love shayari hindi shayari

ओ तन्हा छोड़ के जाने वाले आखिरी दास्तां सुनते जाओ
तू खुदा तो नहीं था मगर उम्र गुजरी तेरी इबादत करते

इस दिल को समझाऊंगी कि तुमको याद न किया करे कभी
ऐ दिल, फूल गले ना लगाए तो कांटों को नहीं चूमा करते

आजकल में कहीं मिल जाओ तो तुम बस इतना ही करते
मेरी टूटी-उलझी राहों को सीधा कर गांठ लगाया करते

अगर सौ बार जनम लूं धरती पे बस यही ख्वाहिश है मेरी
काश! हर जनम में तुम ही मेरी मैयत को जरा कांधा देते

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – कांटें मिले हैं जिसको उसे मैं दिलजला लिखूं

love shayari hindi shayari

इस दर्द की तारीफ में अब क्या गिला लिखूं
दिन-रात के फिराक का क्या सिला लिखूं

बस्ती में खिला फूल भी औरों का हो चुका
कांटे मिले हैं जिसको उसे दिलजला लिखूं

घर लौटते हैं किसलिए अपनों से लड़ते लोग
नहीं जानता उन्हें तो क्यूं बुरा भला लिखूं

मेरे सफर में रह सका न कोई मेरे साथ
तन्हाइयों को ही मैं अब सिलसिला लिखूं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari