Tag Archives: बदन शायरी

शायरी – किसकी सिसकी ये कहती है

new prev new shayari pic

कट कट के ही रात कटेगी
जाने कितने करवट बदेलगी

किसकी सिसकी ये कहती है
ऐ दरिया, तू चुपके से बहेगी

इश्क की राख अपने बदन पे
जिंदगी कब तक मलती रहेगी

जुगनू जैसी उम्मीद है बाकी
मुझमें तू जल जल के बुझेगी

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – जो सजा देती हैं, वो यादें ले जाओ

love shayari hindi shayari

इल्तजा है मेरी, तुम ये आहें ले जाओ
जो सजा देती हैं, वो यादें ले जाओ

मेंहदी रचाना है तुझे अपने बदन पर
आकर मेरे जिगर का खून ले जाओ

ये चिट्ठी, तस्वीरें और इश्क की सौगातें
तुम सब दिखावे का सामान ले जाओ

माफ किया तुमको मेरी नादां वफा ने
तुम खुश रहो बस ये दुआ ले जाओ

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जब तलक जिंदगी में आप रहे

love shayari hindi shayari

इस पापी दुनिया में हम पाक रहे
जब तलक जिंदगी में आप रहे

मैल कितने भी जमे बदन पे
मगर दिल से बड़े ही साफ रहे

जल रहे हैं यही दुआ करके
तेरे आंचल में मेरी राख रहे

हम भटकते रहें भूखे ही सही
इस तरह से बची ये प्यास रहे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मैं भटकती हूँ जिस्म का आईना लेकर

prevnext

चल पड़ी राह में एक दर्द का नगमा लेकर
जल रही धूप में बारिश का सपना लेकर

तुम आए नहीं लेकर मेरी वो खुशियाँ
क्या करूँगी अब कोई तमन्ना लेकर

एक तन्हा सा बदन है टूटे जीवन में
जी रही हूँ लुटे दिल की दास्ताँ लेकर

तेरा चेहरा नहीं है आज मेरे शीशे में
मैं भटकती हूँ जिस्म का आईना लेकर

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – मेरी तन्हाई मिटाने वाला कोई नहीं

love shyari next

मेरी तन्हाई मिटाने वाला कोई नहीं
अब मेरा साथ निभाने वाला कोई नहीं

इतना सन्नाटा पसरा है इस जंगल में
एक पत्ता भी हिलाने वाला कोई नहीं

ये बदन है बेसहारा आंचल की तरह
इसको सीने से लगाने वाला कोई नहीं

दो घड़ी में ये अंधेरी रात गुजर जाएगी
हुस्न का चिराग जलाने वाला कोई नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari