Tag Archives: बहार शायरी

शायरी – तेरा गम देख के रोता ये जमाना होगा

love shayari hindi shayari

मेरे हंसने से तड़पता ये जमाना होगा
तेरा गम देख के रोता ये जमाना होगा

इस मुहब्बत में मंजिल जो पा न सके
उनका दुनिया में फिर कैसे ठिकाना होगा

ऐ बहारों मुझे तू फूल अभी मत देना
इतना तन्हा हूं कि कांटों से निभाना होगा

मेरे अपने आज घर पे आने वाले हैं
खुशी बिखरी है यहां, उनको दिखाना होगा

©©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – इन जख्मों को भरने में लगेंगे कई मौसम

love shyari next

इन जख्मों को भरने में लगेंगे कई मौसम
अभी तुमको भूलने में लगेंगे कई मौसम

तेरे इश्क में ये बहार एक पल में उजड़ गई
अब फूलों को खिलने में लगेंगे कई मौसम

सदमे मिले हैं जिनको दुनिया में बेवफाओं से
उनके आंसुओं को गिरने में लगेंगे कई मौसम

मुझे अपनी तो परवाह नहीं मगर तेरी बहुत है
इस फितरत को मिटने में लगेंगे कई मौसम

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मेरा इश्क भी तेरा हुस्न भी

love shayari hindi shayari


जिस मोड़ पे तू मिल गई
वहां एक नई राह खुल गई

तू नए किरण की बहार है
अब रात भी मेरी ढल गई

मेरा इश्क भी, तेरा हुस्न भी
गजलों में आके घुल गई

मेरी शायरी की किताब तू
कभी खो गई, कभी मिल गई


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ये तेरा गम है जो हमको मरने नहीं देता

love shayari hindi shayari

तन्हाई की दीवारें हैं उल्फत के महल में
हुस्न का शम्मा जला है दीवाने के दिल में

कुछ देर सोच ले ऐ मेरे दर्द के खुदा
सिर्फ ज़फा ही क्यूं मेरे लिए तेरे दिल में

ये तेरा गम है जो हमको मरने नहीं देता
आंखों में रोशनी है जब तू है मेरे दिल में

बहारों का शमा सा, खुशबू का झोंका सा
ख्वाबों का धोखा सा है उजड़े हुए दिल में

उल्फत- प्यार
जफ़ा- जुल्म

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – तन्हा ये जिंदगी मेरी उस ओर हमको ले गई

love shayari hindi shayari

वो बड़े उदास से आए थे, और खुद में ही समाए थे
मुझे ये खबर ना हो सकी, वो मेरी तलाश में आए थे

बेखुदी में भी उन्हें खामोशी पे बड़ा इख्तियार था
वो हमें जो कहके जा चुके, हम उन्हें समझ न पाए थे

अब चांदनी फिजा में भी इक रोशनी है बहार की
अहसासे-इश्क जब हुआ तब हम ये देख पाए थे

तन्हा ये जिंदगी मेरी उस ओर हमको ले गई
जिस ओर की तन्हाई में उन्हें याद हम कर पाए थे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – शाम से रातभर उनको भी जरा याद करें

love shayari hindi shayari

दिन की गर्दिश से निकलके जरा आराम करें
शाम से रातभर उनको भी जरा याद करें

ये शहर लाख बुरा है, मगर वो तो यहीं है
उनकी गलियों में उन्हें रोज ही आदाब करें

हाले-दिल फूल से ऐ बहार ना पूछा करो
कैसे वो अपने छुपे दर्द बेनकाब करें

जो सुहाना सा लगा है, कैसे भुलूं उसको
इश्क के जख्म को हम सीने में बेहिसाब करें

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ऐसा लगता है मुझे तू रातभर सोयी नहीं

love shayari hindi shayari

ऐसा लगता है मुझे तू रातभर सोयी नहीं
खा कसम मेरी कि तू रातभर रोयी नहीं

बन गयी है जुल्फें तेरी उजड़ी-उजड़ी सी बहार
आंधियों में घिर के भी तू चमन से गई नहीं

ये तेरा उदास चेहरा, ये तेरी गमगीन आंखें
आने से पहले जरा तू आईने में झांकी नहीं

हूं मैं हैरां देखकर कि क्या ये तेरा हाल है
इश्क में मुझपे कभी ऐसी कयामत आती नहीं

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – कैसे मैं समझूं तुमको, कैसे तू समझे मुझको

love shyari next

तेरी आंखें जादू कर गईं, दिल में आंसू भर गईं
हंसती हुई जो मैं जिंदा थी, रोते-रोते मर गई

कैसे मैं समझूं तुमको, कैसे तू समझे मुझको
जब जुबां न बोलने की कसमें खाके अड़ गई

पास आने के लिए कितनी मोहलत चाहिए
एक मुद्दत से बहार आते-आते गुजर गई

फासलों में फासले हैं, हर जुदाई में हिज्रां
एक गम हैं सौ तरह के, झेलकर मैं मर गई

(हिज्रां- जुदाई)

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – सच्ची मुहब्बत दिल से मिटा दे, किसके बस की बात है

new prev new next

टूटे दिल को अक्ल सिखा दे, किसके बस की बात है
सच्ची मुहब्बत दिल से मिटा दे, किसके बस की बात है

उम्र गुजर जाती है पल-पल उनके यादों के मंजर में
फिर किसी से दिल लगा ले, किसके बस की बात है

रोज मैखाने में जाकर रोते हैं वो जुदाई में
पीकर कोई दिल बहला ले, किसके बस की बात है

लेकर आती हैं बहारें जीवन में फूलों का मौसम
पतझड़ का भी मन महका दे, किसके बस की बात है

©RajeevSingh