Tag Archives: बादल शायरी

शायरी – हम तो किसी की आंख का काजल न बन सके

shayari latest shayari new

तुमको उदास शायरी

हम तो किसी की आंख का काजल न बन सके
अफसोस कि आशिकी में पागल न बन सके

मोहब्बत में हम भले लाख बरसकर दिखा दें
फिर भी कहेंगे वो कि हम बादल न बन सके

उतरकर चले गए वो मेरे दिल की सीढ़ियों से
हम तो उसकी जिंदगी की मंजिल न बन सके

देखता हूं उदास उसको, होता है दर्द मुझे भी
शीशे सा वजूद लेकर हम संगदिल न बन सके

©rajeevsingh                  shayri

shayari green pre shayari green next

Save

Save

Advertisements

शायरी – जुल्म करती है जब मुझपे तन्हाई

love shyari next

बेवफा हो गया है दर्द मुझी से
दूर का रिश्ता हो गया खुशी से

एक बादल का टुकड़ा उड़ता था
हमने बरसते देखा उसे बेबसी से

कोई कश्ती जब किनारे लगती है
वो ठहरती है कितनी खामोशी से

जुल्म करती है जब मुझपे तन्हाई
कत्ल करता हूं अपनी बेखुदी से

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मुहब्बत में जलती हुई एक शाम देखता हूं

love shayari hindi shayari

बहुत देर तक अक्सर आसमान देखता हूं
मैं उस चांद में सनम का पैगाम देखता हूं

बादल गुजरता है जिधर टुकड़ों में तड़पकर
उस तरफ दूर तक तेरे अरमान देखता हूं

जगमगाते हुए हजारों सितारों की आग में
मुहब्बत में जलती हुई एक शाम देखता हूं

जब रात बिखरती है आधी रात जवां होकर
मैं हर जर्रे में उस हसीं का नाम देखता हूं

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – इश्क की लहरों के भंवर में हमको एक दिन डूब है जाना

love shayari hindi shayari

दुनिया के इन शहरों से तुम गम की बस्ती दूर बसाना
आशिक मस्तानों की फितरत मेरे दिल तू भूल न जाना

उतर पड़े हैं समंदर में जज़्बातों की कश्ती लेकर
इश्क की लहरों के भंवर में हमको एक दिन डूब है जाना

चांद की चाहत में भटकता बादल भी तो फकीर हुआ
आसमां की बेमंजिल राहों पे देखो चलता रहा दीवाना

दर्द भरी मासूम आंखों में जबसे देखी है एक बेचैनी
करके याद उसकी सूरत को टूटके बिखरा है आईना

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – दिल का चिराग टूट गया, धुआं बिखर गया

love shayari hindi shayari

दिल का चिराग टूट गया, धुआं बिखर गया
वो धुआं खामोश जुबां पे आके ठहर गया

बादल सा ही सफेद था मेरा पुराना नाम
इश्क के सावन में वो कालिख से घिर गया

न दिखी थी धूप में दिल में रोशनी कोई
भीड़ में जीकर रूह का भी नूर देखो मर गया

सोचता हूं आंखों से कोई बूंद तो छलके
कतरा-कतरा आंसू से मेरा सीना भर गया

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – जब ख़ुदा भी कभी तुमसे जुदा हुआ होगा

love shayari hindi shayari

खूबसूरत से गीतों में दुख भरा होगा
जब ख़ुदा भी कभी तुमसे जुदा हुआ होगा

आईना डर रहा था दुनिया के हर घर में
जाने कब कौन बेवफा उसके सामने होगा

कब्र में पैर हैं फिर भी वो अभी बच्चे हैं
जो बुढ़ापे में भी थोड़ा सा रोता होगा

रुक गए हैं सभी बादल मेरी छत पे
फिर मेरी लाश पे आकाश में मातम होगा

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – इन वादियों में देर तक सावन सिसकता रहा

love shayari hindi shayari

बूंदों की हर चोट से पत्ता हिला, हिलता रहा
लेकिन हवा की मार से वो टूटकर गिरता रहा

इन वादियों में देर तक सावन सिसकता रहा
आंसू जमीं के गालों को सहलाकर बहता रहा

बारिशों के दोपहर में सूरज कहीं सोता रहा
बादलों के बीच में खर्राटा सा गूंजता रहा

राहत मिली गर्मी से तो लोग मुसकाते रहे
और मैं रोनेवालों की आवाज को लिखता रहा

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – चांद बदन को चूम रहा है, दरिया गुमसुम लेटी है

love shayari hindi shayari

चांद बदन को चूम रहा है, दरिया गुमसुम लेटी है
पंखा झलती है हवाएं, हलचल थोड़ी होती है

बादलों की छत से सितारे, देख रहे हैं आंखें फाड़े
बैठ गगन भी सोच रहा है, धरती सुंदर लगती है

आज भी परदेस गया है, सूरज शाम की गाड़ी से
दिन के रथ पे बैठके फिर से रात की रानी आई है

वक्त का पहरा हुआ ढीला,उसने पी इश्क की बोतल
मौसम भी आजाद हुआ, मिलन की खुशबू उड़ती है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जानती हूं तुझे जाने कितनी सदी से

love shayari hindi shayari

ठहर जा ऐ सावन, ठहर जा ऐ बादल
बहने दे निगाहों से थोड़ा तो काजल

छोड़के ओ फरिश्ते तुम जा न सकोगे
जब चिड़िया तुम्हीं से हुई है रे घायल

जानती हूं तुझे जाने कितनी सदी से
जुदाई में भीगा है बरसों से आंचल

अब तू ही बस सहारा है ऐ खुदा मेरे
बिन तेरे लगता है हो जाऊंगी पागल

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – हो सकता है तेरे दिल में मेरे खातिर जगह न हो

love shyari next

हो सकता है तेरे दिल में मेरे खातिर जगह न हो
हो सकता है इसके पीछे, किसी तरह की वजह न हो

लो गुनाह कुबूल किया, फिर आशिक कहता है कि
दुनिया तेरी कचहरी में मेरे इश्क पे जिरह न हो

रात में शाम का बादल ही चांद का कातिल बनता है
सोचता हूं कि तेरे बिन अब इन रातों की सुबह न हो

तू है गैर के घर में और मैं हो गया जग से पराया
इश्क की दुनिया में किसी का अंजाम मेरी तरह न हो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – इश्क तन्हा ही रहता है बेजुबां बनकर

love shayari hindi shayari

जल रहा है मेरी नजरों में मेरा वो खुदा
चांद बुझता ही नहीं होकर सूरज से जुदा

इश्क तन्हा ही रहता है बेजुबां बनकर
और आशिक भी होता है हर बयां से जुदा

आज टुकड़ों में बंटे हैं हम बादल की तरह
आज दरिया भी हो जाएंगे आंखों से जुदा

मेरी सदियां मेरे माजी से खफा रहती हैं
काट ली हमने भी एक उम्र रहके तुमसे जुदा

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – रात भर रोया फलक आशिक के संग जागकर

love shayari hindi shayari

मैं बिना पत्थर के ही आईने से लड़ने गया
अपने दुश्मन महबूब से प्यार मैं करने गया

इक हसीना चांद लेटी बादलों की सेज पर
मैं नदी में डूबकर उस साये को छूने गया

रात भर रोया फलक आशिक के संग जागकर
मैं भी दुनिया छोड़कर मातम वहीं करने गया

वो दीया जो जल रहा है मेरे उजड़े आशियां में
मैं उसी की रोशनी में उम्रभर जलने गया

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – तू भी तस्वीर के मानिंद चुप रहती है

love shayari hindi shayari

तू भी तस्वीर के मानिंद चुप रहती है
मेरी खामोशी भी तेरी तरह कुछ कहती है

रात ही रात बिखरी है मेरे आंगन में
जाने किस घर में मेरी शमा जलती है

कोई गुमनाम सलीबों पे चढ़ जाता है
कोई बदनाम तहखाने में ही मरती है

आज सावन भी सुनाता है तेरी चिट्ठी
कोरे बादल में तू आंसुओं को रखती है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari