Tag Archives: बारिश शायरी

शायरी – आज की रात बरसेगा रातभर

love shyari next

आज की रात बरसेगा रातभर
अश्क नजरों से बहेगा रातभर

जुदाई के हाथ में खंजर होगा
मेरा सीना छलनी होगा रातभर

बेखुदी दिल में रहेगी मेजबानी में
दर्द मेहमान बन रहेगा रातभर

जिसने ठुकराया हमें जमाने में
आज वो याद आएगा रातभर

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया

love shayari hindi shayari

प्यासी निगाहें बरस गई, बरसी निगाहें तरस गई
सावन की आई बारिश में कितनी नदियां टूट गई

मेरे सागर में एक कश्ती तूफानों से डरती थी
सैलाबों से लड़ते-लड़ते वो भी एक दिन डूब गई

एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया
लेकिन वो खुद से रूठी थी, हमसे भी रूठ गई

बाली उमर में बुझता चिरागां शम्मे को दर-दर ढूंढे
वो बुझा उसकी गली में, जब वो शम्मा बुझ गई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरे हाथों से जब छूट जाएंगे हम

love shayari hindi shayari

तेरे हाथों से जब छूट जाएंगे हम
आईने की तरह टूट जाएंगे हम

तेरे आंगन में कोई परिंदा नहीं
तेरे पिंजरे में आ रह जाएंगे हम

आज बारिश हुई है बड़े जोर की
ऐसा लगता है कि आज रोएंगे हम

बख्श दे मुझको जन्नत ऐ नाजनीं
तुझे पहलू में ले मर जाएंगे हम

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मैं भटकती हूँ जिस्म का आईना लेकर

prevnext

चल पड़ी राह में एक दर्द का नगमा लेकर
जल रही धूप में बारिश का सपना लेकर

तुम आए नहीं लेकर मेरी वो खुशियाँ
क्या करूँगी अब कोई तमन्ना लेकर

एक तन्हा सा बदन है टूटे जीवन में
जी रही हूँ लुटे दिल की दास्ताँ लेकर

तेरा चेहरा नहीं है आज मेरे शीशे में
मैं भटकती हूँ जिस्म का आईना लेकर

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – रोने की अब कितनी ख्वाहिश है बाकी

new prev new shayari pic

जिंदगी में दर्दो गम की कितनी बारिश है बाकी
तेरी याद में रोने की कितनी ख्वाहिश है बाकी

जिंदा रहने के लिए मैं शहर दर शहर भटका
तुम मिलो तो ठहर जाऊं, इतनी गुजारिश है बाकी

दुनियादारी में कोई दिल की बात नहीं करता
अक्ल के इन रिश्तों में रह गई साजिश है बाकी

हर कोई जान गया पर तुम तक बात नहीं पहुंची
इश्क मुकम्मल करने को तेरी सिफारिश है बाकी

©rajeevsingh     शायरी

prev shayari green next shayari green